Live News »

रॉयल्टी प्रबधन पर महिलाओं से छेड़छाड़ करने का आरोप, गुण्डा टैक्स का विरोध करना ग्रामीणों को पड़ रहा भारी

रॉयल्टी प्रबधन पर महिलाओं से छेड़छाड़ करने का आरोप, गुण्डा टैक्स का विरोध करना ग्रामीणों को पड़ रहा भारी

पहाड़ी,(भरतपुर)। रॉयल्टी के नाम पर 300 से 600 रुपये गुंडा टेक्स की वसूली का विरोध करना ग्रामीणों को भारी पड़ गया,विरोधकर्ताओ के खिलाफ रॉयल्टी प्रबधन ने लूट व मारपीट का मामला दर्ज करा दिया वहीं, ग्रामीणों के विरोध करने पर रॉयल्टी प्रबंधन द्वारा भर्ती किये गए गुंडों द्वारा ग्रामीण महिलाओं से छेड़छाड़ व बदसलूकी की जा रही है।

वहीं गांव के ही गाड़ी चालकों व ग्रामीणों ने जब इन् हरकतों का विरोध किया तो उनसे  गुंडों ने जमकर मारपीट व लूटपाट व फायरिंग की,जब ग्रामीण सरपंच के नेतृत्व में मामला दर्ज कराने पहुंचे तो उनका मामला भी दर्ज नही किया गया।

रॉयल्टी के नाम पर नियमनुसार  1600 रुपये वसूल किये जाने चाहिए जबकि प्रबंधन द्वारा 2200 से 2600 रुपये वसूल किये जा रहे है। ग्रामीणों ने बताया कि गत दिनों रॉयल्टी प्रबंधक द्वारा अवैध रूप से वसूले जा रहे हैं।

गुंडा टैक्स के विरोध में ग्रामीणों ने संयुक्त रूप से प्रदर्शन किया था... जिसके बाद रॉयल्टी संचालकों को यह बात हजम नहीं हुई और उनके द्वारा ग्रामीणों के खिलाफ लूटपाट पर मारपीट का मामला दर्ज करा दिया गया। लेकिन यह बात ही मामला दर्ज करने तक ही नहीं रुकी।

उसके बाद रॉयल्टी प्रबंधन द्वारा अपने कुछ असामाजिक तत्वों को साथ लेकर जा रहे थे तो पोखर पर कुछ महिलाएं अपने कपड़े धो रही थी महिलाओं से अश्लील बातें करने लग गए जिसका वहां से निकल रहे ट्रैक्टर संचालक व गाड़ी संचालकों ने विरोध किया तो रॉयल्टी प्रबंधन के कर्मचारियों द्वारा ग्रामीणों की जमकर पिटाई कर दी।

जिसके बाद ग्रामीणों मामला दर्ज कराने थाने पहुंच गए लेकिन जिले के एक अधिकारी के दबाव के चलते पीड़ित ग्रामीणों का मामला भी दर्ज नहीं किया गया जिसके बाद पीड़ित ने थाने में लिखित तहरीर दे दी रॉयल्टी प्रबंधन की गुंडागिरी और अवैध वसूली से मेवात क्षेत्र के ग्रामीण पूरी तरीके से त्रस्त हैं अब देखना यह है कि रॉयल्टी प्रबंधन की गुंडागर्दी इस तरीके से ही चलती रहेगी या ग्रामीणों को इस चीज से निजात मिलेगी।

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें
और पढ़ें

Stories You May be Interested in