नई दिल्ली SIT का दावा, NCB ने क्रूज ड्रग्स मामले की बेहद ढीली जांच की

SIT का दावा, NCB ने क्रूज ड्रग्स मामले की बेहद ढीली जांच की

SIT का दावा, NCB ने क्रूज ड्रग्स मामले की बेहद ढीली जांच की

नई दिल्ली: मुंबई में क्रूज पर ड्रग्स के मामले में अभिनेता शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान सहित 20 लोगों को गिरफ्तार करने वाली भ्रष्टाचार निवारण ब्यूरो (NCB) की टीम ने मामले की बेहद ‘ढीली’ जांच की है. यह दावा इस मामले की दोबारा जांच के लिए गठित SIT ने किया है.

व्हाट्सऐप चैट का समर्थन करने वाला साक्ष्य का नहीं जुटाया जाना:

SIT की जांच में ‘घोर अनियमितताएं’ बतायी गई हैं जैसे कि आरोपियों का अनिवार्य मेडिकल जांच नहीं कराना, छापे की कोई वीडियोग्राफी नहीं नहीं कराना और व्हाट्सऐप चैट का समर्थन करने वाला साक्ष्य का नहीं जुटाया जाना.

NCB के महानिदेशक एस. एन. प्रधान ने ‘पीटीआई-भाषा’ को बताया कि आरोपी के खिलाफ बहुत ज्यादा साक्ष्य एकत्र करने के नियम के विरुद्ध यह बेहद कम साक्ष्यों वाला मामला है. NCB ने एक बयान में कहा कि उसने इस मामले की फिर से जांच करते हुए शंकाओं से परे साक्ष्य जुटाने के सिद्धांत को ध्यान में रखा. SIT की टीम ने पाया कि NCB की टीम ने तमाम अनियमितताएं की हैं और वह कथित रूप से इस मामले में आर्यन खान को फंसाना चाहती है.

SIT ने पाया कि जिनके खिलाफ आरोपपत्र दाखिल नहीं किया गया:

NCB ने शुक्रवार को मुंबई की एक अदालत में 14 आरोपियों के खिलाफ करीब 6,000 पन्नों का आरोपपत्र दाखिल किया. हालांकि एजेंसी ने आर्यन सहित छह लोगों के खिलाफ साक्ष्यों के अभाव में आरोपपत्र दाखिल नहीं किया है. आरोपपत्र में कई व्हाट्सऐप चैट, गवाहों और आरोपियों के बयान और अन्य तकनीकी जानकारियां हैं. अदालत द्वारा इसपर जल्दी संज्ञान लिए जाने की संभावना है. प्रधान ने कहा कि SIT ने पाया कि जिनके खिलाफ आरोपपत्र दाखिल नहीं किया गया है, उनकी ना तो मंशा थी और ना हीं उन्होंने अपराध किया था. हालांकि, इस मामले में 14 लोगों के खिलाफ ठोस सबूत मिले हैं.

जिन लोगों के खिलाफ आरोपपत्र दाखिल नहीं किया गया है या जिन्हें क्लिन चिट दी गई है, उनके नाम हैं. आर्यन खान, समीर सहगल, मानव सिंघल, भास्कर अरोड़ा, गोपालजी आनंद और अविन साहू. आरोपपत्र में जिन आरोपियों के नाम हैं, वे हैं... विक्रांत चोक्कर, मोहक जस्वाल, इश्मित एस. चड्ढा, गोमित चोपड़ा, अब्दुल कादर शेख, श्रेयस सुरेंद्र नायर, मनीष राजगड़िया, चिनेदू इग्वे, शिवराज आर. हरिजन, नुपूर सतीजा, ओकोरो उजेओमा, अरबाज मर्चेंट, मुम्मुन धमीचा और अचित कुमार. सोर्स-भाषा 

और पढ़ें