SLSSC की बैठक प्रदेश में जल जीवन मिशन में 675 Drinking Water Projects मंजूर, 1290 गांवों के लाखों घरों को मिलेगा घर पर नल Connection

 SLSSC की बैठक प्रदेश में जल जीवन मिशन में 675 Drinking Water Projects मंजूर, 1290 गांवों के लाखों घरों को मिलेगा घर पर नल Connection

 SLSSC की बैठक प्रदेश में जल जीवन मिशन में 675 Drinking Water Projects मंजूर, 1290 गांवों के लाखों घरों को मिलेगा घर पर नल Connection

जयपुर: जल जीवन मिशन (JJM) अन्तर्गत राज्य स्तरीय योजना स्वीकृति समिति (SLSSC) की बैठक अतिरिक्त मुख्य सचिव (ACS) सुधांश पंत की अध्यक्षता में बुधवार को वीडियो कांफ्रेंसिंग (VC) के माध्यम से आयोजित की गई. बैठक में प्रदेश के ग्रामीण क्षेत्रें में JJM के तहत 675 परियोजनाओं (Projects) को मंजूरी प्रदान की गई. इन स्वीकृत परियोजनाओं के तहत प्रदेश के 1290 गांवों में 3 लाख 38 हजार 919 घरों को नल से जल कनैक्शन दिए जाएंगे.

674 सिंगल विलेज एवं स्माल मल्टी विलेज स्कीम को मंजूरी दी गई:
ACS पंत ने बताया कि बैठक में प्रदेश के 1136 गांवों के लिए क्षेत्रिय परियोजनाओं (Field Projects) सहित 674 सिंगल विलेज एवं स्माल मल्टी विलेज स्कीम (Small Multi Village Scheme) को मंजूरी दी गई, इनसे 2 लाख 49 हजार 166 हर घर नल कनैक्शन दिए जाएंगे. इसी प्रकार मेजर प्रोजेक्ट्स (Major Projects) के तहत बीकानेर जिले में नोखा के 154 गांवों और ढाणियों को इंदिरा गांधी नहर परियोजना (Indira Gandhi Canal Project) आधारित सतही जल स्रोत से जोड़ने के लिए एक मल्टी विलेज स्कीम स्वीकृत की गई, इससे 89 हजार 753 हर घर नल कनैक्शन दिए जाएंगें.

 859.39 लाख रुपये व्यय होंगे:
पंत ने बताया कि बैठक में मुख्यमंत्री की 2021-2022 की बजट घोषणा के अनुरूप ईसरदा बांध (Israda Dam) के द्वितीय चरण (Second Stage) में अलवर जिले के 1118 गांव एवं चार कस्बों तथा जयपुर जिले के 1429 गांवों एवं 7 कस्बों की डीपीआर बनाने के लिए एक करोड़ 2 लाख रुपये की स्वीकृति प्रदान की गई. इसके अलावा सवेर्ं एवं विस्तृत परियोजना रिपोर्ट (DPR) तैयार करने के 7 अन्य प्रस्तावों को भी मंजूरी दी गई, इस पर 859.39 लाख रुपये व्यय होंगे. 

59 हजार 132 हर घर नल कनैक्शन के प्रस्ताव शामिल: 
इसके तहत पाली जिले के बाली ब्लॉक में 25 गांवों और 113 ढ़ाणियों में 7407 हर घर नल कनैक्शन (Every House Tap Connection), जोधपुर जिलें में बारू-सिहरा-रानेरी पेयजल आपूर्ति योजना में 25 गांवों और 63 ढाणियों में 3959 हर घर नल कनैक्शन, झुंझुनू के सूरजगढ़ एवं उदयपुरवाटी में 284 गांवों में 93 हजार 783 हर घर नल कनैक्शन, पाली जिले में रोहट ब्लॉक के 81 गांवों में 21 हजार 466 हर घर नल कनैक्शन, प्रतापगढ़ के धरियावाद और छोटी सादड़ी में 327 गांवों में 55 हजार 301 हर घर नल कनैक्शन, उदयपुर जिले के 11 ब्लॉक के 1150 गांवों में 2 लाख 1 हजार 94 हर घर नल कनैक्शन तथा बांसवाड़ा जिले के 6 ब्लॉक के 330 गांवों में 59 हजार 132 हर घर नल कनैक्शन के प्रस्ताव शामिल हैं.

228 आरओ प्लांट होंगे स्थापित: 
ASC पंत ने बताया कि बैठक में उदयपुर संभाग (Udaipur Division) के छः जिलों में गुणवत्ता प्रभावित 229 आबादियों में 64 करोड़ 92 लाख 53 हजार की लागत से 228 आरओ प्लांट स्थापित करने को भी मंजूरी दी गई. इसके तहत, चितौड़गढ़ में 61, डूंगरपुर में 5, प्रतापगढ़ में 130, राजसमंद एवं बांसवाड़ा में 6-6 तथा उदयपुर में 20 RO प्लांट (RO Plant) लगाए जाएंगें.

वीसी में जल शक्ति मंत्रालय के अधिकारियों ने भी लिया हिस्सा:
बैठक में VC के माध्यम से भारत सरकार (Indian Government) के जल शक्ति मंत्रालय (Ministry of Water Power) के अधिकारियों के अलावा मुख्य अभियंता (ग्रामीण) आरके मीना, मुख्य अभियंता (विशेष प्रोजेक्ट्स) दिलीप गौड़, मुख्य अभियंता (तकनीकी) संदीप शर्मा, मुख्य अभियंता (जोधपुर) नीरज माथुर, वित्तीय सलाहकार एवं प्रमुख लेखाधिकारी (Financial Advisor and Chief Accountant) ललित वर्मा, WSSO के निदेशक मनीष बेनीवाल तथा अतिरिक्त मुख्य अभियंता (ग्रामीण) महेश जांगिड़ भी जुड़े.

और पढ़ें