जयपुर सचिन पायलट बोले, खुशी है कि जो कमी है उसे पूरा किया है, पूरे प्रदेश में जा रहा अच्छा संकेत, 2023 में हम फिर से बनाएंगे सरकार 

सचिन पायलट बोले, खुशी है कि जो कमी है उसे पूरा किया है, पूरे प्रदेश में जा रहा अच्छा संकेत, 2023 में हम फिर से बनाएंगे सरकार 

सचिन पायलट बोले, खुशी है कि जो कमी है उसे पूरा किया है, पूरे प्रदेश में जा रहा अच्छा संकेत, 2023 में हम फिर से बनाएंगे सरकार 

जयपुर: पूर्व उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट मीडिया से मुखातिब होते हुए कहा कि गहन चिंतन और चर्चा विमर्श के बाद नेतृत्व ने जो कदम उठाया है, उससे पूरे प्रदेश में अच्छा संकेत जा रहा है. खुशी है कि जो कमी है उसे पूरा किया है, गहन चिंतन और चर्चा विमर्श के बाद नेतृत्व कदम उठाया है. उससे पूरे प्रदेश में अच्छा संकेत जा रहा है. 4 दलित विधायकों को जगह दी है.

ST तबके को भी अच्छी जगह मिली:

सचिन पायलट ने कहा कि हमारी सरकार में दलित समाज के लोगों को अच्छी संख्या में कैबिनेट की जगह दी है.एसटी तबके को भी अच्छी जगह मिली है, जो तबका हमेशा कांग्रेस के साथ था उसे जगह मिली है. उन्होंने कहा कि सोनियाजी, माकनजी, राहुलजी, प्रियंकाजी और गहलोत जी का धन्यवाद. पायलट ने गुटबाजी जैसी बात से इनकार किया है. पूरी कांग्रेस पार्टी सोनिया,राहुल और प्रियंका जी के नेतृत्व में काम कर रही है. हम सभी मिलकर एकजुट होकर काम करेंगे. मिलकर भाजपा के कुकर्म जनता के सामने लेकर जाएंगे. पूरी पार्टी और पूरे नेतृत्व ने मिलकर निर्णय लिए हैं.

मंत्रिमंडल में क्षेत्रीय सामाजिक संतुलन बिठाया:

सचिन पायलट ने प्रेसवार्ता में कहा कि निगम बोर्ड संसदीय सचिव बनेंगे. सभी को साथ लिया जाएगा. महिलाओं का प्रतिनिधित्व बढ़ रहा है. मंत्रिमंडल में क्षेत्रीय सामाजिक संतुलन बिठाया गया है. मैंने हमेशा मुद्दों की बात की है. SC-ST,OBC समेत विभिन्न तबकों की बात की है. कोई व्यक्ति विशेष की बात नहीं की. आने वाले समय में और भी सकारात्मक कदम हमारी पार्टी उठाएगी. क्योंकि सबका उद्देश्य यही है कि हमारी सरकार 2023 में रिपीट हो. एक बार बीजेपी, एक बार कांग्रेस की परिपाटी को हमें तोड़ना है. खुद की भूमिका को लेकर पायलट ने कहा कि जो भी कांग्रेस पार्टी में मुझे 20 साल में जो जिम्मेदारी दी है. मैंने पूरी ताकत और निष्ठा के साथ निभाए हैं. आने वाले समय में जो भी मुझे निर्देश पार्टी देगी. जहां भी मुझे काम देगी मेरी उपयोगिता समझेगी. मैं पूरी ताकत से वहां जाकर काम करूंगा. 

पायलट ने फुल टाइम होम मिनिस्टर होने के सवाल को टालते हुए कहा कि AICC,माकन और सीएम मिलकर विभागों को तय करेंगे. कांग्रेस में हमेशा कलेक्टिव लीडरशिप में चुनाव लड़ा जाता है. सोनिया गांधी और राहुल गांधी के नेतृत्व में 2018 में लड़े थे. आगे भी उन्हीं के नेतृत्व में लड़ेंगे. 2013 से ज्यादा काम 2018 में किया 2023 में और ज्यादा काम करूंगा. सचिन पायलट ने कहा कि बोर्ड, निगम और पार्लियामेंट्री सेक्रेटरी समेत अन्य अपॉइंटमेंट होंगे. 22 महीने बाद चुनाव है, हमे मुस्तेद रहना है.2023 में हम फिर से सरकार बनाएंगे.

15 विधायकों को आज मंत्री पद की दिलाई जाएगी शपथ:

आपको बता दें कि प्रदेश में अशोक गहलोत के नेतृत्व वाले मंत्रिमंडल में फेरबदल के तहत 15 विधायकों को आज मंत्री पद की शपथ दिलाई जाएगी. इसमें 11 कैबिनेट और चार राज्य मंत्री होंगे. मुख्यमंत्री कार्यालय (CMO)  द्वारा जारी सूची के अनुसार कैबिनेट मंत्री के रूप में हेमाराम चौधरी, महेंद्रजीत मालवीय, रामलाल जाट, महेश जोशी, विश्वेंद्र सिंह, रमेश मीणा, ममता भूपेश, भजनलाल जाटव, टीकाराम जूली, गोविंद राम मेघवाल व शकुंतला रावत को शपथ दिलाई जाएगी. वहीं, विधायक जाहिदा खान, बृजेंद्र ओला, राजेंद्र गुढ़ा व मुरारीलाल मीणा को राज्यमंत्री के रूप में शपथ दिलाई जाएगी. इनमें ममता भूपेश, भजनलाल जाटव व टीकाराम जूली इस समय राज्यमंत्री हैं. उन्हें पदोन्नत कर कैबिनेट मंत्री के रूप में शपथ दिलाई जाएगी जबकि सरकार के मौजूदा तीन प्रमुख मंत्रियों को हटाया गया है. 

इस सूची के नए नामों में हेमाराम चौधरी, मुरारीलाल मीणा व बृजेंद्र ओला को पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट का करीबी माना जाता है। इसके अलावा पिछले साल मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के नेतृत्व के खिलाफ बगावती रुख अपनाए जाने के समय पायलट के साथ पद से हटाए गए विश्वेंद्र सिंह व रमेश मीणा को फिर से मंत्रिमंडल में शामिल किया जा रहा है, जबकि बहुजन समाज पार्टी (बसपा) से कांग्रेस में आए छह विधायकों में से राजेंद्र गुढ़ा को भी मंत्री पद की शपथ दिलाई जाएगी. 

और पढ़ें