तिजोरी की चाबी किसी के पास हो विकास नहीं रुकेगा- सचिन पायलट

तिजोरी की चाबी किसी के पास हो विकास नहीं रुकेगा- सचिन पायलट

तिजोरी की चाबी किसी के पास हो विकास नहीं रुकेगा- सचिन पायलट

जयपुर: तिजोरी की चाबी किसी के पास कहीं भी हो हम विकास के कामों को रुकने नहीं देंगे. यह कहना है सचिन पायलट का... लोक निर्माण कार्य, सड़क और पुल, ग्रामीण विकास कार्यक्रम से जुड़ी अनुदान मांगे सदन में पारित हुई. इन महकमों को लेकर सदन में चर्चा हुई और उसके बाद ग्रामीण विकास और पंचायतीराज विभाग के मंत्री सचिन पायलट ने जबाव दिया. तकरीबन सवा घंटे के धाराप्रवाह संबोधन में सचिन पायलट ने कहा कि हमारा संकल्प है कोई भी व्यक्ति बिना घर के ना हो. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ग्राम आवास योजना में राजस्थान का नंबर चौथा है. पायलट ने कहा कि योजनाएं बनाई जाती है उनमें सरकार बनने के बाद बदलाव नहीं होना चाहिए, हमें राजस्थान की भलाई के लिये काम करना, एक दूसरे के काम कैसिंल करना गलत है, दलगत सियासत से ऊपर उठकर देखे और दूरदृष्टि से सोचे. इसलिये हमने तय किया है कि जैसे शहरों का मास्टर प्लान बनता है. 

दुष्कर्म से गर्भवती हुई पीड़िताओं का समय पर हो सुरक्षित गर्भपात, हाईकोर्ट में जनहित याचिका दायर 

पंचायतों के परिसीमन को लेकर मेरा मकसद साफ था:
वैसे ही गांवों के लिये बनायेंगे अगले 30 साल की योजना पर काम होगा. जितनी भी ग्राम सभाएं है उनसे कहा है योजना बनाइये. पंचायतों के परिसीमन को लेकर मेरा मकसद साफ था, परिसीमन का काम हम पूरा करेंगे, चाहे धरती और पाताल को एक करना पड़े, अधिक पंचायतें बनेगी तो गांव का विकास होगा..मैं और मेरी सरकार चुनाव के पक्ष में रहे. सुप्रीम कोर्ट का आभार है और चुनाव कराने का काम हमारा ही है. सचिन पायलट ने पिछली बीजेपी सरकार पर प्रहार किये. पायलट ने कहा कि पिछली सरकार के आखिरी साल में नई सड़क के कामों का बजट था 240 करोड़ प्रोविजन था, उसके विरुद्ध 5हजार 644करोड की स्वीकृति दी गई, जब बजट नहीं था तो इतनी सारी स्वीकृति क्यों दी गई!

कर्ज में डूबे यस बैंक पर बड़ी कार्रवाई, सिर्फ 50 हजार रुपये ही निकाल सकेंगे ग्राहक 

किसान को कम मुआवजा नहीं मिलना चाहिये:
पिछले 14 माह में मैंने काफी कोशिश की यह समस्या दूर की जाये. दुविधा यह है कि प्राथमिकता कौन बनाये और काम कैंसिल ना हो साथ ही जो काम आधे से ज्यादा हो गये उन्हें प्राथमिकता से पूरा किया जाये. पायलट ने कहा कि जिन किसानों की जमीन हाईवे पर आ रही वो अगर केन्द्र सरकार से मुआवजे की मांग को लेकर आंदोलन कर रहे है तो उनकी हरसंभव मदद की जाएगी. किसान को कम मुआवजा नहीं मिलना चाहिये. बूंदी दुखांतिका के बाद पुलों की सेफ्टी के सम्बन्ध में बात उठने लगी, पायलट ने कहा कि सभी पुलों का सेफ्टी ऑडिट किया गया है. 135 में से 26 पुलों का दुबारा रिनोवेशन होगा. सचिन पायलट के संबोधन के बाद उन्हें मंत्रीपरिषद के सदस्यों और कांग्रेस विधायकों ने मिलकर शुभकामनाएं दी और उनके संबोधन को सराहा. सचिन पायलट ने कई नवीन घोषणाएं की और नई सड़क निर्माण के प्रति प्रतिबद्धता जताई.

...फर्स्ट इंडिया के लिए योगेश शर्मा की रिपोर्ट
 

और पढ़ें