हिरासत में अपनी 'यातना' को याद करते हुए रो पड़ीं साध्वी प्रज्ञा ठाकुर 

FirstIndia Correspondent Published Date 2019/04/18 07:50

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव में बीजेपी से टिकट मिलने के बाद मालेगांव बम धमाके की मुख्य आरोपी साध्वी प्रज्ञा ठाकुर की मुश्किलें बढ़ सकती है। जमानत पर जेल से बाहर आई प्रज्ञा के चुनाव लड़ने को लेकर धमाकों के एक पीड़ित ने आपत्ति जताई है। वहीं टिकट दिए जाने के बाद मुंबई की एनआईए कोर्ट ने राष्ट्रीय जांच एजेंसी NIA से जवाब मांगा है। इसी बीच साध्वी प्रज्ञा ने एक कार्यकर्ता सम्मेलन में जेल में बिताए अपने दिनों को याद कर रो पड़ीं। 

साध्वी प्रज्ञा ठाकुर को टिकट दिए जाने के बाद मुंबई कोर्ट का एनआईए को नोटिस

साध्वी प्रज्ञा ने अपने जेल के दिनों को याद करते हुए अपनी दर्द भरी दास्तां बयां की। उन्होंने कार्यकर्ताओं को बताया कि जेल में किस तरह से उन्हें टॉर्चर किया जाता था। इस दौरान कई बार उनकी आंखें भर आईं। वह बार-बार अपने आंसू पोंछते हुए कार्यकर्ताओं को संबोधित करती रहीं। प्रज्ञा ने कहा कि जब मुझे लेकर गए, उन्होंने गैर कानूनी तरीके से 13 दिन तक हिरासत में रखा। उन्होंने मुझे बेरहमी से कई दिनों तक पीटा। यहां तक कि निर्वस्त्र कर यातनाएं दी गई। 

Sadhvi Pragya Thakur breaks down recalling her 'torture' in custody

Read @ANI Story | https://t.co/TwNNqX0h3I pic.twitter.com/LUhioj1mk9

— ANI Digital (@ani_digital) April 18, 2019

बता दें कि भाजपा ने दो दिन पहले ही साध्वी प्रज्ञा ठाकुर को भोपाल से अपना लोकसभा उम्मीदवार घोषित किया है। वह भोपाल में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह को टक्कर देंगी। 

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in