Live News »

बनवास के संदीप उर्फ बच्चियां के मर्डर का हुआ खुलासा, मौसेरे भाई ने आरोपी के साथ मिलकर दिया घटना को अंजाम

बनवास के संदीप उर्फ बच्चियां के मर्डर का हुआ खुलासा, मौसेरे भाई ने आरोपी के साथ मिलकर दिया घटना को अंजाम

खेतड़ी(झुंझुनू): 2 जून की रात को सिंघाना-जयपुर मार्ग पर प्लॉट से सो रहे युवक की गोली मारकर हत्या के मामले का पुलिस ने दो दिन में ही खुलाशा कर दिया. हत्या की वारदात में शामिल मृतक का मौसेरा भाई लिप्त पाया गया. पुलिस ने आरोपी को बुहाना रोड़ से बुधवार शाम करीब पांच बजे गिरफ्तार कर लिया. 

संदीप अपने दो साथियों के साथ सड़क किनारे बने अपने प्लॉट में सो रहा था
थानाधिकारी किरणसिंह यादव ने बताया कि रविवार देर रात को बनवास स्थित प्लॉट पर सो रहे बनवास निवासी संदीप उर्फ बचिया पुत्र हेमराज(27) अपने दो साथियों के साथ सड़क किनारे बने अपने प्लॉट में सो रहा था, रात करीब पौने एक बजे आरोपियों ने संदीप उर्फ बच्चिया के दो सर में एक पीठ में गोली मार कर चले गए थे. इस संबंध में बनवास निवासी हरीश उर्फ गांधी को बुहाना सड़क की तरफ घुमते हुए पकड़ कर थाने लाकर सख्ती से पुछताछ की तो उसने वारदात में शामिल होना बताया. आरोपी को गिरफ्तार कर लिया. थानाधिकारी ने बताया कि गांधी से पूछताछ में सामने आया की 31 मई को सांतड़ीया निवासी उमेश यादव, जयपुर निवासी आरीफ खान व दो अन्य जयपुर से आए थे.

निगरानी के लिए अपनी कार स्ट्राट कर घटना स्थल से कुछ दूरी पर खड़े हो गए
2 जून रविवार देर रात करीब ग्यारह बजे उमेश कुमार, आरिफ खान, स्वयं व तीन अन्य युवक दो गाडिय़ों में मुरादपुर गए. वहां से वापस सीधे जहां संदीप उर्फ बच्चियां सो रहा था उस प्लाट पर आए. गांधी ने बताया कि आने जाने वालों की निगरानी के लिए वह एवं एक अन्य युवक अपनी कार स्ट्राट कर घटना स्थल से कुछ दूरी पर खड़े हो गए. उमेश यादव, आरीफ खान व दो अन्य युवक प्लॉट की तरफ चले गए और वहां पर सो रहे संदीप सैनी उर्फ बच्चियां के दो सिर में व एक पीठ पर गोली मार कर मौके से फरार हो गए. टीम में थानाधिकारी किरणसिंह यादव, स्पेशल टीम इंचार्ज विरेंद्र कुमार, रीडर राकेश, भैरू गुर्जर, कल्याण, पवन, महेंद्र शामिल थे.  

और पढ़ें

Most Related Stories

Open Covid-19