मुंबई संजय दत्त ने पिता सुनील दत्त की 93वीं जयंती पर दी श्रद्धांजलि, कहा- आज मैं जो भी हूं, आपके प्यार और विश्वास की बदौलत हूं

संजय दत्त ने पिता सुनील दत्त की 93वीं जयंती पर दी श्रद्धांजलि, कहा- आज मैं जो भी हूं, आपके प्यार और विश्वास की बदौलत हूं

संजय दत्त ने पिता सुनील दत्त की 93वीं जयंती पर दी श्रद्धांजलि, कहा- आज मैं जो भी हूं, आपके प्यार और विश्वास की बदौलत हूं

मुंबई: अभिनेता संजय दत्त ने सोमवार को अपने पिता सुनील दत्त की 93वीं जयंती पर उन्हें श्रद्धांजलि दी. उन्होंने कहा कि वह आज जो कुछ भी हैं, अपने पिता के विश्वास और प्यार की बदौलत हैं.

‘केजीएफ : चैप्टर 2’ फेम अभिनेता ने राजकुमार हिरानी निर्देशित ‘मुन्ना भाई एमबीबीएस’ की तस्वीरें साझा कीं, जो उनके पिता के साथ उनकी आखिरी फिल्म थी. उन्होंने कहा कि दिवंगत अभिनेता हमेशा उनके ‘हीरो’ रहेंगे. संजय दत्त ने ट्विटर पर लिखा कि आज मैं जो कुछ भी हूं, आपके विश्वास और प्यार की बदौलत हूं. आप मेरे हीरो थे, हैं और हमेशा रहेंगे. जन्मदिन मुबारक हो पापा.’’

हिंदी सिनेमा के सबसे लोकप्रिय सितारों में से एक थे. उन्होंने क्लासिक ‘मदर इंडिया’ सहित कई फिल्मों में अभिनय किया:

कला के क्षेत्र में उत्कृष्ट योगदान के लिए 1968 में ‘पद्म श्री’ से सम्मानित सुनील दत्त 1950 और 1960 के दशक के दौरान हिंदी सिनेमा के सबसे लोकप्रिय सितारों में से एक थे. उन्होंने क्लासिक ‘मदर इंडिया’ सहित कई फिल्मों में अभिनय किया. इसी दौरान वह अपनी भावी पत्नी अभिनेत्री नरगिस से मिले. उनकी अन्य लोकप्रिय फिल्मों में ‘गुमराह’, ‘वक्त’, ‘हमराज’, ‘खानदान’, ‘मिलन’, ‘रेशमा और शेरा’, ‘पड़ोसन’ शामिल हैं.

सबसे खूबसूरत, प्यारे, ऊर्जावान, सज्जन व्यक्ति को जन्मदिन मुबारक: 

सुनील दत्त की बेटी एवं कांग्रेस नेता प्रिया दत्त ने इस अवसर पर इंस्टाग्राम पर अपने पिता की एक श्वेत-श्याम तस्वीर साझा की. उन्होंने लिखा, ‘‘सबसे खूबसूरत, प्यारे, ऊर्जावान, सज्जन व्यक्ति को जन्मदिन मुबारक. मैं गर्व के साथ कहती हूं कि वह मेरे पिता, मेरे ‘हीरो’ हैं. उन्होंने प्रतिमानों को इतना ऊंचा कर दिया है कि अब उनके जैसा कोई नहीं बन सकता है. लव यू डैड और हमारे जीवन में वो स्तंभ बनने के लिए आपका आभार.

75 वर्ष की उम्र में उनके बांद्रा स्थित आवास पर दिल का दौरा पड़ने के कारण निधन हो गया था: 

सुनील दत्त का राजनीतिक करियर भी बेहद सफल रहा था. पांच बार के सांसद दत्त ने 1984 में कांग्रेस उम्मीदवार के तौर पर अपना पहला चुनाव लड़ा था. वह 2004 में मनमोहन सिंह सरकार में खेल और युवा मामलों के मंत्री थे. सुनील दत्त का 25 मई 2005 को 75 वर्ष की उम्र में उनके बांद्रा स्थित आवास पर दिल का दौरा पड़ने के कारण निधन हो गया था. सोर्स-भाषा 

और पढ़ें