फर्जी हाजिरी के आरोप में सरपंच के ससुर और देवर गिरफ्तार 

FirstIndia Correspondent Published Date 2018/10/13 01:47

बीकानेर (संजय पारीक)। खाजूवाला पुलिस ने नरेगा मस्टरोल के पखवाड़ा में फर्जी हाजिरी लगाकर रुपये उठाने के आरोप में ग्राम पंचायत कुंडल के सरपंच के ससुर और देवर दोनों को गिरफ्तार किया है। सरपंच सहित 7 आरोपियों की गिरफ्तारी अभी होनी बाकी है।

जानकारी के अनुसार 3 केएलडी निवासी ज्ञान चंद जाट ने खाजूवाला पुलिस थाने में 6 अक्टूबर 2017 को नरेगा में सरपंच ने अपने परिवार के सदस्यों के नाम लिखकर पैसा हड़प कर सरकार को नुकसान पहुंचाने का मुकदमा दर्ज करवाया था। जिसकी जांच थानाधिकारी विक्रम चारण ने की थी। जांच में दो बैंक कर्मचारी थे जिन्होंने झूठे शपथ पत्र दिए जिसके आधार पर एफआर लगा दी गई थी। उसके बाद 19 फरवरी 2018 को फाइल रिओपन की गई। जिसमें एसपी सवाई सिंह ने सीओ प्रताप सिंह डूडी को जांच सौंपी। जिसमें डूडी ने जांच के दौरान नामजद सभी 9 लोगों को मुलजिम माना। इन सब पर आरोप तय होने के बाद कार्यवाहक एसएचओ विक्रम सिंह चारण ने आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए विभिन्न ठिकानों पर दबिश दी और दो आरोपियों को गिरफ्तार किया। फिलहाल पुलिस अन्य आरोपियों की तलाश भी कर रही है।

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in