जयपुर पंचायत व जिला परिषद सदस्‍य चुनावों में मिली जीत को लेकर बोले सतीश पूनिया, कहा- लोगों ने सत्तारूढ़ कांग्रेस में विश्वास खो दिया

पंचायत व जिला परिषद सदस्‍य चुनावों में मिली जीत को लेकर बोले सतीश पूनिया, कहा- लोगों ने सत्तारूढ़ कांग्रेस में विश्वास खो दिया

पंचायत व जिला परिषद सदस्‍य चुनावों में मिली जीत को लेकर बोले सतीश पूनिया, कहा- लोगों ने सत्तारूढ़ कांग्रेस में विश्वास खो दिया

जयपुर: राजस्थान के 21 जिलों में पंचायत समिति और जिला परिषद सदस्‍यों के चुनाव में भाजपा की जीत को ‘ऐतिहासिक’ बताते हुए, भाजपा के प्रदेशध्यक्ष सतीश पूनियां ने बुधवार को कहा कि खराब प्रदर्शन दिखाता है कि लोगों ने सत्तारूढ़ कांग्रेस में विश्वास खो दिया है. उन्होंने कहा कि सत्ता में आने के दो साल में ही कांग्रेस की राज्य के ग्रामीण इलाकों में भी हार हुई है. यहां तक की पार्टी के मंत्रियों के गृह इलाकों में भी हार का सामाना करना पड़ा है.

पूनियां ने कहा- ऐतिहासिक चुनाव परिणाम यह दिखाते हैं कि सत्ताधारी कांग्रेस ने लोगों का विश्वास खो दियाः
सतीश पूनियां ने कहा कि राजस्थान में भाजपा की जीत ऐसे समय में हुई है जब कांग्रेस की राज्य सरकार ने केन्द्र की मोदी सरकार की नीतियों के खिलाफ 'भारत बंद' का समर्थन किया. जयपुर के आमेर विधानसभा से विधायक पूनियां ने कहा कि कांग्रेस के मुकाबले भाजपा के अच्छे प्रदर्शन का श्रेय शानदार बूथ प्रबंधन प्रणाली और जमीनी स्तर पर लोगों से जुड़ने को जाता है. सतीश पूनियां ने 'पीटीआई-भाषा' से कहा कि ऐतिहासिक चुनाव परिणाम यह दिखाते हैं कि सत्ताधारी कांग्रेस ने लोगों का विश्वास खो दिया है. सरकार अच्छा प्रदर्शन करने में विफल रही है और कांग्रेस नेताओं और विधायकों में भी नाराजगी है. उन्होंने कहा कि पिछले एक साल में भाजपा की प्रदेश इकाई चुनावी मोड़ में सक्रिय रही और अशोक गहलोत सरकार के खिलाफ मुद्दों को उठाने में सफल रही.

पूनियां का तंज- कांग्रेस जब तक चुनाव की तैयारियों के बारे में सोच पाती हमलोगों ने जमीनी स्तर पर अपना काम पूरा कर लियाः
सतीश पूनियां ने  कहा कि कांग्रेस जब तक चुनाव की तैयारियों के बारे में सोच पाती हमलोगों ने जमीनी स्तर पर अपना काम पूरा कर लिया था. पार्टी ने जिला प्रभारियों (संगठन) और पंचायत चुनाव प्रभारियों की नियुक्तियां कर बूथ स्तर की बैठक सुनिश्चित कर दी थी. हर जिले में चार स्तरीय. बूथ, शक्ति केन्द्र मंडल और जिला स्तरीय संगठनात्मक ढांचे ने पार्टी को अच्छे तरीके से काम करने में मजबूती दी. उन्होंने कांग्रेस सरकार पर चुनाव के दौरान सरकारी मशीनरी का दुरुपयोग करने का आरोप लगाते हुए कहा कि इसके बावजूद भी पार्टी को हार का सामना करना पड़ा. 

पूनियां ने कहा- ये जीत उस समय आई जब कांग्रेस सरकार के दो साल पूरे होने जा रहे हैंः
सतीश पूनियां ने कहा कि राजस्थान के किसानों में केन्द्र सरकार द्वारा लाए गए कृषि कानूनों को लेकर कोई असंतोष नहीं है. उन्होंने एक बयान में कहा कि यह जीत ऐसे समय में आई है जब राज्य में कांग्रेस सरकार के दो साल पूरे होने जा रहे हैं. पूर्ण किसान कर्ज माफी, युवाओं को रोजगार आदि का वादा करके कांग्रेस सत्ता में आई, लेकिन उन्होंने विश्वासघात किया. अब, ग्रामीण मतदाताओं ने मोदी सरकार की नीतियों में विश्वास व्यक्त किया है.

पंचायत समिति सदस्य चुनावों में भाजपा के 1,989 उम्मीदवारों को मिली जीतः
राज्य के 21 जिलों में 4,371 पंचायत समिति सदस्यों के चुनाव में भाजपा के 1,989 उम्मीदवार जीते जबकि कांग्रेस के 1,852 उम्मीदवारों को जीत मिली है. चार चरणों में हुए चुनाव की गिनती मंगलवार को हुई. पंचायत समिति सदस्‍य के चुनाव में राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी, माकपा, और बसपा ने क्रमश: 60,26, और पांच सीटों पर जीत दर्ज की है जबकि 439 सीटों पर निर्दलीय जीते. इसी तरह जिला परिषद की 636 सीटों में से 635 के घोषित परिणामों में भाजपा ने 353 सीटों पर और कांग्रेस ने 252 सीटों पर दर्ज की है. एक जिला परिषद सदस्य का परिणाम अभी भी आना बाकी है. झालावाड़ के जिला परिषद निर्वाचन क्षेत्र के क्षेत्र संख्या 2 के बूथ संख्या 62 (पंचायत समिति डग की ग्राम पंचायत कुमठिया में स्थित) का परिणाम जारी नहीं हो सका.
सोर्स भाषा

और पढ़ें