ब्रिटेनः स्कूल में पैगंबर मोहम्मद का अनुचित कार्टून दिखाने पर छिड़ा विवाद, शिक्षक को किया सस्पेंड

ब्रिटेनः स्कूल में पैगंबर मोहम्मद का अनुचित कार्टून दिखाने पर छिड़ा विवाद, शिक्षक को किया सस्पेंड

ब्रिटेनः स्कूल में पैगंबर मोहम्मद का अनुचित कार्टून दिखाने पर छिड़ा विवाद, शिक्षक को किया सस्पेंड

लंदनः इंग्लैंड के मिडलैंड्स क्षेत्र के एक विद्यालय में एक शिक्षक द्वारा कक्षा में पैगंबर मोहम्मद का अनुचित कार्टून दिखाने के मामले में शिक्षक को निलंबित कर दिया गया है. हालांकि ब्रिटेन ने अभिभावकों की धमकियों और प्रदर्शनों को अस्वीकार्य घटना करार दिया है. गौरतलब है कि इस सप्ताह की शुरुआत में वेस्ट योर्कशायर के बैट्ले ग्रामर स्कूल में शिक्षक ने एक कक्षा के दौरान यह तस्वीर दिखाई थी, जिसके बाद विद्यालय के बाहर प्रदर्शन शुरू हो गया था. हालांकि शिक्षक को निलंबित कर दिया गया है और इस मामले में जांच लंबित है. इसको लेकर प्रधानाध्यापक ने बिना शर्त माफी मांगी है. 

शिक्षा विभाग के प्रवक्ता ने कही ये बात

शिक्षा विभाग के प्रवक्ता ने कहा है कि शिक्षकों को धमकी देने या उन्हें डराने की घटना को कभी भी स्वीकार्य नहीं किया जा सकता है. जब कोई मुद्दा सामने आता है तो हम अभिभावकों और विद्यालयों के बीच बातचीत को बढ़ावा देते हैं. हालांकि, धमकी देने और कोरोना वायरस संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए लागू नियमों का उल्लंघन समेत बाकी जो अन्य चीजें हमने देखी हैं, वह स्वीकार्य नहीं है और इसे खत्म किया जाना चाहिए. 

विद्यालय अपने पाठ्यक्रम में चुनौतीपूर्ण मुद्दों को शामिल करने के लिए स्वतंत्र

प्रवक्ता ने कहा है कि विद्यालय अपने पाठ्यक्रम में चुनौतीपूर्ण और विवादास्पद समेत व्यापक मुद्दों, विचारों और सामग्रियों को शामिल करने के लिए स्वतंत्र हैं. हालांकि उन्हें अलग-अलग विश्वास और मान्यताओं के लोगों के बीच आदर और सहिष्णुता को बढ़ाने के लिए इसे संतुलित करना चाहिए और इस निर्णय में यह भी शामिल होना चाहिए कि कक्षा में किस तरह की सामग्री को शामिल किया जा सकता है.

कार्टून फ्रांस की पत्रिका शार्ली हेब्दो का माना जा रहा

विभाग के अधिकारियों ने कहा है कि विद्यालय के दरवाजे पर लोगों की भीड़ द्वारा नारे लगाए जाने के वीडियो सोशल मीडिया पर सामने आने के बाद वे विद्यालय और स्थानीय अधिकारियों के साथ संपर्क में हैं. यह कार्टून फ्रांस की पत्रिका शार्ली हेब्दो का माना जा रहा है और इसे सोमवार को धार्मिक अध्ययन कक्षा में विद्यार्थियों को दिखाया गया था. स्थानीय ब्रिटिश मुस्लिम समूह ने भी समुदाय से शांति बनाए रखने की अपील की है. 

और पढ़ें