Live News »

कोरोना को लेकर यूपी में अलर्ट, योगी सरकार का ऐलान, 22 मार्च तक बंद रहेंगे स्कूल और कॉलेज

 कोरोना को लेकर यूपी में अलर्ट, योगी सरकार का ऐलान, 22 मार्च तक बंद रहेंगे स्कूल और कॉलेज

नई दिल्ली: चीन के वुहान शहर से शुरू हुई बीमारी कोरोना वायरस थमने का नाम नहीं ले रही है. अब यह महामारी घोषित होने के बाद देश के कई राज्यों में अलर्ट जारी है. ​राजधानी दिल्ली, हरियाणा, उत्तर प्रदेश और राजस्थान समेत सभी प्रदेशों में अलर्ट जारी है. वहीं यूपी की योगी सरकार ने 22 मार्च तक सभी स्कूल और कॉलेजों को बंद करने का ऐलान किया है.

जम्मू कश्मीर: पूर्व सीएम फारूक अब्दुल्ला की नजरबंदी खत्म, करीब 7 माह बाद होगी रिहाई

जानिए, देश के इन राज्यों के हालत:
भारत में इससे प्रभावितों की संख्या 75 हो गई है. वहीं उत्तर प्रदेश में 11 लोग कोरोना वायरस की चपेट में हैं. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इसे लेकर प्रेस कॉन्फ्रेंस भी की है. योगी ने कहा कि बचाव पर ध्यान देने की आवश्यकता है. हम डेढ़ माह  पहले से ही तैयारी कर रहे थे. आपको बता दें कि भारत में कोरोना वायरस से संक्रमित 75 लोगों में 17 विदेशी नागरिक हैं. इनमें 16 इटली के हैं और कनाडा का एक नागरिक है. इन आंकड़ों में केरल के वे 3 मरीज भी शामिल हैं जिन्हें स्वस्थ होने के बाद गत माह अस्पताल से छुट्टी दे दी गई थी. 

Corona in india: दिल्ली सरकार का बड़ा एलान, राज्य में नहीं होंगे IPL के मैच

दिल्ली में आये कोरोना के 6 मामले:
दिल्ली में कोरोना वायरस के 6 मामले सामने आ चुके हैं, जबकि उत्तर प्रदेश में 11, कर्नाटक में 4, महाराष्ट्र में 11 और लद्दाख में तीन मामले सामने आए हैं. राजस्थान, तेलंगाना, तमिलनाडु, जम्मू-कश्मीर, पंजाब और आंध्र प्रदेश में 1-1 मामला सामने आया है.गौरतलब है कि इस वायरस के संक्रमण से अभी तक दुनिया भर में कम से कम 4,600 लोगों की मौत हुई है और करीब 1,25,293 लोगों में इसके संक्रमण की पुष्टि हुई है. विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्लूएचओ) ने कोरोना वायरस को महामारी घोषित कर दिया है. 

और पढ़ें

Most Related Stories

लापता युवक का शव संदिग्ध हालत में बरामद, पहचान छुपाने के लिए हत्यारे ने चेहरे को बेरहमी से कुचला और जलाया

लापता युवक का शव संदिग्ध हालत में बरामद,  पहचान छुपाने के लिए हत्यारे ने चेहरे को बेरहमी से कुचला और जलाया

बिजनौरः उत्तर प्रदेश के बिजनौर से हत्या का एक ह्रदयविदारक मामला सामने आया है, जहां कल शाम से लापता युवक की लाश बेहद ही दयनीय और भयानक अवस्था में मिली है. असल में लाश की पहचान छिपाने के लिए उसके सिर और चेहरे को कुचला गया है. इतना ही नहीं लाश के चेहरे को जलाने की कोशिश भी की गई है. आपको बता दे कि मृतक की पहचान शुभम (24) के रुप में की गई है. 

पुलिस अधीक्षक धर्मवीर सिंह ने मामले की पूरी जानकारी देते हुए बताया है कि आज सुबह झालू बस स्टैंड के निकट मोहल्ला बढ़वान निवासी 24 वर्षीय शुभम की लाश मिली है. लाश का सिर और चेहरा पत्थर से कुचला गया है. हत्या में प्रयुक्त पत्थर घटनास्थल पर ही पड़ा था. फिलहाल किसी पर भी शक नहीं जताया जा रहा है, मगर मामले की बारिकी से जांच की जा रही है. 

सिंह ने आगे बताया कि मृतक की पहचान छिपाने के लिए चेहरा जलाने की भी कोशिश की गई थी. जानकारी के अनुसार शुभम बृहस्पतिवार शाम से घर से गायब था जिसके बाद से परिजन उसकी तलाश कर रहे थे औऱ अब उसका शव इस हालत में मिलने से सभी सदमें में है. फिलहाल मामले की जांच की जा रही है और पुलिस ने आश्वासन दिलाया है कि जल्दी ही आऱोपी को गिरफ्तार कर लिया जाएगा. (सोर्स-भाषा) 

{related}

South Korean एजेंसी का दावाः कोरोना से डरे तानाशाह किम जोंग ने प्योंगयांग और उत्तरी जांगांग को किया बंद

South Korean एजेंसी का दावाः कोरोना से डरे तानाशाह किम जोंग ने प्योंगयांग और उत्तरी जांगांग को किया बंद

सियोल: उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग उन ने कोरोना वायरस और आर्थिक क्षति से बचाव के उपाय अपनाते हुए कुछ घोषणाएं की है. इसके तहत समुद्र में मछली पकड़ने पर प्रतिबंध लगाने और राजधानी प्योंगयांग को बंद करने का आदेश शामिल है. आपको बता दे कि हाल ही में किम ने दो लोगों को फांसी पर लटका दिया है. ये जानकारी दक्षिण कोरिया की खुफिया एजेंसी ने आज अपने सांसदों को दी है.

सांसदों ने नेशनल इंटेलिजेंस सर्विस (एनआईएस) की निजी बैठक में शामिल होने के बाद संवाददाताओं को बताया है कि किम सरकार ने विदेशों में अपने राजनयिकों को आदेश दिया है कि ऐसे किसी भी काम से बचें जो अमेरिका को उकसाता है क्योंकि वह नवनिर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडन के उत्तर कोरिया के प्रति संभावित नये रूख को लेकर चिंतित है.

सांसद हा टाई-क्यूंग ने एनआईएस के हवाले से बताया कि किम महामारी और इसके आर्थिक प्रभाव को लेकर काफी गुस्से में हैं और विवेकहीन कदम उठा रहे हैं. उन्होंने कहा कि एनआईएस ने सांसदों को बताया कि उत्तर कोरिया ने प्योंगयांग में पिछले महीने एक हाई प्रोफाइल मनी चेंजर को फांसी पर चढ़ा दिया था. उस व्यक्ति को विनिमय की गिरती दर का दोषी पाते हुए फांसी पर चढ़ाया गया था.

उन्होंने एनआईएस के हवाले से बताया है कि उत्तर कोरिया ने अगस्त में एक बड़े अधिकारी को विदेशों से आयातित माल के प्रतिबंध के सरकारी नियमों का उल्लंघन करने के आरोप में फांसी पर चढ़ाया गया है. दोनों व्यक्तियों की पहचान नहीं हो सकी है. एनआईएस ने सांसदों को बताया कि उत्तर कोरिया ने समुद्री जल को वायरस से संक्रमित होने से बचाने के लिए मछली मारने और नमक उत्पादन पर भी प्रतिबंध लगा दिया है.

उत्तर कोरिया ने हाल ही में कोरोना  वायरस की चिंता के मद्देनजर प्योंगयांग और उत्तरी जांगांग प्रांत में लॉकडाउन लगा दिया है. फिलहाल कुछ कहा नहीं जा सकता है कि अभी कितने औऱ लोगों को सनकी तानाशाह के कारण अपनी जिंदगी से हाथ धोना पड़ेगा. (सोर्स-भाषा)

{related}

ड्रग तस्करों से 10 किलो गांजे की खेप बरामद, 2 गिरफ्तार

ड्रग तस्करों से 10 किलो गांजे की खेप बरामद, 2 गिरफ्तार

नोएडा: उत्तर प्रदेश के थाना सेक्टर 49 पुलिस ने आज सुबह एक ड्रग तस्करी को नाकाम किया है. नोएडा पुलिस ने एक गुप्त सूचना के आधार पर सेक्टर 74 के पास से दो गांजा तस्करों को गिरफ्तार किया है तथा उनके पास से 10 किलो गांजा बरामद किया है. पूछताछ के दौरान बदमाशों ने पुलिस को बताया कि वे काफी दिनों से गांजा बेचने के धंधे में संलिप्त हैं. 

सहायक पुलिस आयुक्त विमल कुमार सिंह ने बताया कि थाना सेक्टर 49 पुलिस शुक्रवार सुबह सेक्टर 74 के पास गश्त कर रही थी, तभी पुलिस को सूचना मिली कि कुछ तस्कर गांजा बेचने की नियत से वहां पर आ रहे हैं. उन्होंने बताया कि सूचना के आधार पर पुलिस ने वीर सिंह तथा संदीप नामक दो लोगों को गिरफ्तार किया तथा उनके पास से करीब 10 किलो गांजा बरामद किया है. 

सिंह ने बताया कि पुलिस को यह जानकारी भी मिली है कि ये लोग राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में स्थित कॉलेजों में पढ़ने वाले छात्र-छात्राओं को मादक पदार्थ बेचते है औऱ इस एवज में उनसे मोटी रकम वसूलते है. उन्होंने बताया कि पुलिस को इस गिरोह के कुछ अन्य लोगों के बारे में अहम जानकारी मिली है तथा उनकी भी जल्द गिरफ्तारी कर ली जाएगी औऱ सभी के खिलाफ सख्त कार्यवाही की जाएगी. 

वहीं एक अन्य घटना में थाना सेक्टर 39 पुलिस ने सेक्टर 37 के गोदावरी कॉम्प्लेक्स से सुभाष नामक व्यक्ति को गिरफ्तार किया है औऱ उसके पास से 600 ग्राम गांजा बरामद किया है. वहीं थाना फेस -3 पुलिस ने नीरज सैनी नाम के व्यक्ति के पास से 700 ग्राम गाजा बरामद किया गया है. उसे सेक्टर 63 से गिरफ्तार किया है. फिलहाल सभी से पूछताछ जारी है और पुलिस सख्ती से कार्यवाही कर रही है. (सोर्स-भाषा)

{related}

ग्राम प्रधान की हत्‍या का आरोपी 3 लाख रुपये का ईनामी बदमाश खूनी मुठभेड़ में ढ़ेर, 2 पुलिसकर्मी घायल

ग्राम प्रधान की हत्‍या का आरोपी 3 लाख रुपये का ईनामी बदमाश खूनी मुठभेड़ में ढ़ेर, 2 पुलिसकर्मी घायल

आजमगढ़: उत्तर प्रदेश के आजमगढ़ जिले की पुलिस ने आज एक बड़ी सफलता हासिल की है. पुलिस ने दलित ग्राम प्रधान की हत्‍या के आरोपी सूर्यांश दुबे नामक बदमाश को कल देर रात एक मुठभेड़ में मार गिराया है. असल में आरोपी को पहले गोली लगी थी जिसके बाद उसे अस्पताल ले जाया जा रहा था. मगर बीज रास्ते में ही उसकी मौत हो गई थी. बताया जा रहा है बदमाश पर तीन लाख रूपये का ईनाम था. खबर है कि मुठभेड़ में एक दारोगा और सिपाही भी घायल हुए हैं जिनका निजी अस्‍पताल में उपचार चल रहा है. 

आपको बता दे कि ग्राम प्रधान की हत्‍या के बाद कुख्‍यात दुबे पर शासन ने दो लाख रुपये का और अपर पुलिस महानिदेशक ने एक लाख रुपये का ईनाम घोषित किया था. आजमगढ़ के पुलिस अधीक्षक सुधीर कुमार सिंह ने बताया है कि जिले की स्‍वाट टीम को बृहस्पतिवार की शाम को जानकारी मिली कि तरवां थाना क्षेत्र के बांसगांव के दलित प्रधान सत्‍यमेव जयते की हत्‍या में वांछित कुख्‍यात बदमाश सूर्यांश दुबे किसी बड़ी वारदात को अंजाम देने के लिए सरायमीर थाना क्षेत्र में जा रहा है, जिसके बाद सर्च ऑपरेशन चालू किया गया था.. 

सिंह के अनुसार स्‍वाट टीम ने सरायमीर थाने की पुलिस के साथ साझा आपरेशन शुरू किया  था और देर रात सूर्यांश को सरायमीर क्षेत्र के शेरवा गांव के समीप घेर लिया था.  इस पर सूर्यांश ने पुलिस टीम पर फायरिंग शुरू कर दी जिसमें स्‍वाट टीम के पुलिस उप निरीक्षक श्रीप्रकाश शुक्‍ला और एक अन्‍य सिपाही घायल हो गए है. पुलिस अधीक्षक ने बताया कि पुलिस ने जवाबी फायरिंग शुरू की जिसमें बदमाश गंभीर रूप से घायल हो गया था. उसे उपचार के लिए जिला चिकित्‍सालय ले जाया जा रहा था कि रास्‍ते में ही उसकी मौत हो गई है. बदमाश के पास से पुलिस ने दो पिस्‍टल और कारतूस बरामद किए हैं. (सोर्स-भाषा)

{related}

15 साल की किशोरी का शव कुत्‍ते द्वारा खींचने का वीडियो हुआ वायरल, एक सफाई कर्मचारी और वार्ड ब्वॉय निलंबित

15 साल की किशोरी का शव  कुत्‍ते द्वारा खींचने का वीडियो हुआ वायरल, एक सफाई कर्मचारी और वार्ड ब्वॉय निलंबित

संभलः उत्तर प्रदेश के संभल जिले से इन दिनों एक मार्मिक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें एक कुत्ता किसी अस्‍पताल में एक शव को खींच रहा है. इस वीडियो के वायरल होते ही प्रसाशन में हड़कंप मच गया है और तुरंत एक्शन लेते हुए एक सफाई कर्मचारी और एक वार्ड ब्वॉय को निलंबित कर दिया गया है. इसके साथ ही अस्पताल में आपात सेवा में तैनात चिकित्‍सक और फार्मासिस्‍ट से स्‍पष्‍टीकरण मांगा गया है. 

जिला अस्पताल के मुख्‍य चिकित्‍सा अधीक्षक (सीएमएस) डॉक्टर सुशील वर्मा ने बताया है कि प्रारंभिक जांच के बाद सफाई कर्मचारी और वार्ड ब्वॉय को निलंबित कर दिया गया है और आपात सेवा में तैनात चिकित्सक और फार्मासिस्ट से स्पष्टीकरण मांगा गया है. उन्‍होंने कहा कि इस मामले में एक जांच समिति गठित की गई है, जांच में जो भी दोषी पाया जाएगा उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी. 

मुख्‍य चिकित्‍सा अधिकारी डॉ अमिता सिंह ने पीटीआई-भाषा से कहा है कि संभल के जिला अस्पताल की यह घटना बड़ी दुखद और दुर्भाग्यपूर्ण है तथा इस मामले में त्‍वरित कार्रवाई की गई है. उन्‍होंने बताया कि सीएमएस द्वारा बनाई गई जांच कमेटी की रिपोर्ट 24 घंटे में आएगी और दोषी के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी औऱ सभी को सजा भी दी जाएगी. 

उल्‍लेखनीय है कि अमरोहा की रहने वाली 15 वर्षीय लड़की संभल जिले में गत दिनों एक दुर्घटना में घायल हो गई थी और उसे अस्‍पताल में भर्ती कराया गया था जहां उसकी मौत हो गई थी. दुखद घटना ये है कि अस्‍पताल में रखे लड़की के शव को एक कुत्‍ता खींच रहा था.  इस घटना का करीब 20 सेकेंड का वीडियो वायरल हो गया था. फिलहाल लापरवाही करने वाले सभी कर्मी जेल में है और मामले की जांच की जा रही है. (सोर्स-भाषा)

{related}

किशोरी को बहला-फुसलाकर बलात्कार करने के आरोपी को कोर्ट ने सुनाई 10 साल की सजा

किशोरी को बहला-फुसलाकर बलात्कार करने के आरोपी को कोर्ट ने सुनाई 10 साल की सजा

ललितपुर: उत्तर प्रदेश के ललितपुर जिले की एक अदालत ने  15 साल की किशोरी से बलात्कार के मामले में आरोपी को दस साल कारावास की सजा सुनाई है. खबर है कि एक किशोरी को बहला फुसलाकर भगाकर ले जाने और बलात्कार के मामले में युवक को दस साल की सजा और जुर्माना दोनों लगाया गया है. मामला लगभग छह साल पुराना है. बताया जा रहा है कि कोर्ट में हियरिंग के दौरान आरोपी एक बार फरार भी हो चुका है और अब उसने स्वंय आत्मसमर्पण किया है. जिसके बाद कोर्ट ने उसे सजा और जुर्माना  दोनों ठोकते हुए  दोषी करार दिया है.

जिले में पॉक्सो के सहायक लोक अभियोजक (एडीजीसी) बृजेन्द्र सिंह यादव ने बताया कि अपर जिला एवं सत्र न्यायालय के न्यायाधीश (पॉक्सो) चंद्रमोहन श्रीवास्तव की अदालत ने 15 साल की किशोरी से बलात्कार के मामले में ढाई साल पहले दोषी ठहराए जाने के बाद से फरार चल रहे युवक के आत्मसमर्पण करने पर बृहस्पतिवार को 10 साल की सजा सुनाई और उस पर 30 हजार रुपये का जुर्माना लगाया है. इतना ही नहीं कोर्ट ने जुर्माने की अस्सी फीसदी राशि पीड़िता को दिए जाने का आदेश भी दिया है. 

यादव ने बताया कि जिला एवं सत्र न्यायालय ने गिरार थाना के धौरा सागर गांव निवासी हल्के उर्फ सुरपाल यादव (22) को 30 जून 2018 को दोषी ठहराया था, लेकिन हल्के उस समय अदालत से फरार हो गया था. उस पर 11 अक्टूबर 2014 को 15 साल की किशोरी को उसके गांव से बहला-फुसलाकर भगा ले जाने का आरोप था. एडीजीसी ने बताया कि हाल ही में अदालत से कुर्की आदेश जारी होने पर दोषी ठहराए गए युवक हल्के ने आत्मसमर्पण किया था, जिसके बाद उसे बृहस्पतिवार को सजा सुनाई गई है. (सोर्स-भाषा)

{related}

घुड़चढ़ी की रस्म में डांस के दौरान चली लाठियां और धारदार हथियार, एक महिला समेत 4 घायल

घुड़चढ़ी की रस्म में डांस के दौरान चली लाठियां और धारदार हथियार, एक महिला समेत 4 घायल

मुजफ्फरनगर: उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर जिले के मुबारकपुर गाँव में एक विवाह समारोह में नाचने के कारण ऐसा बवाल मचा कि चार लोग घायल हो गए है. खबर है कि शाही में घुड़चढ़ी की रस्म के दौरान लोग नाच रहे थे, तभी अचानक हुई दो समूहों के बीच झड़प में एक महिला सहित चार लोग घायल हो गए है. इस घटना की पूरी जानकारी एक पुलिस अधिकारी ने दी है. 

पुलिस अधिकारी ने बताया है कि घटना बुधवार देर रात में घटी है. मंसूरपुर थाना प्रभारी (एसएचओ) कुशलपाल सिंह के अनुसार शादी की रस्में जारी थी इसी दौरान हरदीप और सुरेंद्र नाम के दो युवक नशे में धुत होकर नाचने लगे. जिसके बाद घुड़चढ़ी की रस्म के दौरान नृत्य करने के मुद्दे पर एक-दूसरे से भिड़ गए और बात बढ़ते-बढ़ते मारपीट तक पहुंच गई थी. 

एसएचओ ने कहा कि इस हाथापाई के बाद दोनों गुटों के और लोग इसमें शामिल हो गए थे, जिससे विवाद हिंसक झड़प में तब्दील हो गया था. इतना ही नहीं वे लोग इस शादी समारोह के कार्यक्रम में लाठियां और तेज धारदार हथियार लेकर आ गए और इन्हीं के इस्तेमाल चलते चार लोग घायल हो गए है. फिलहाल घायलों का इलाज जारी है और पुलिस मामले की जांच कर रही है. (सोर्स-भाषा)
{related}

घर में घुसकर युवती को मारी गोली, अदालत ने सुनाई उम्रकैद की सजा

घर में घुसकर युवती को मारी गोली, अदालत ने सुनाई उम्रकैद की सजा

बांदा: हाल ही में उत्तर प्रदेश के बांदा जिले की एक अदालत ने हत्या के चार साल पुराने मामले में आऱोपी को उम्रकैद की सजा सुनाई है. बताया जा रहा है कि चार वर्ष पूर्व एक युवती की गोली मारकर हत्या करने के मामले में दोषी करार दिए गए युवक को उम्रकैद तथा जुर्माने की सजा दी गई है. असल में युवक इस युवती को उठाकर एक अन्य घर में ले गया था जहां उसने उसे गोली मार दी थी. 

सहायक लोक अभियोजक (एडीजीसी) देवदत्त मिश्रा ने बताया है कि अपर जिला एवं सत्र न्यायालय ने अभियोजन और बचाव पक्ष की दलीलें सुनने के बाद 10 जुलाई 2016 को दिन में तीन बजे हड़हा गांव में आसमा खातून (25) नामक युवती की गोली मारकर हत्या के मामले में दोषी करार दिए गए युवक गुलाम गौस (28) को बुधवार को उम्रकैद की सजा सुनाई है. इतना ही नहीं उस पर 30 हजार रुपये का जुर्माना भी लगाया गया है.

उन्होंने मामले की पूरी जानकारी देते हुए बताया है कि घटना की प्राथमिकी युवती की मां जाहरा बेगम ने नरैनी कोतवाली में दर्ज कराते हुए कहा था कि पड़ोसी युवक गुलाम गौस उसकी बेटी आसमा खातून को घर से जबरन उठाकर पास के एक अन्य घर में ले गया था और वहां उसे गोली मार दी थी. जिससे आसमा की मौके पर ही मौत हो गई थी.देर से ही सही मगर न्याय मिलने पर पीड़िता के परिवार कोर्ट औऱ पुलिस का शुक्रिया अदा किया है. (सोर्स-भाषा)

{related}