वैज्ञानिकों का दावा: अगर Discipline में रहें तो रोक सकते है Third Wave को, नए केस 4 लाख से गिरते हुए 1 लाख पर आए 

वैज्ञानिकों का दावा: अगर Discipline में रहें तो रोक सकते है Third Wave को, नए केस 4 लाख से गिरते हुए 1 लाख पर आए 

वैज्ञानिकों का दावा: अगर Discipline में रहें तो रोक सकते है Third Wave को, नए केस 4 लाख से गिरते हुए 1 लाख पर आए 

नई दिल्ली: भारत (India) में रविवार को 1,01,265 नए कोरोना मरीज (Covid Patient) मिले है. यह आंकड़ा 7 अप्रैल, यानी 61 दिन बाद 1 लाख हुआ है. संक्रमण की दूसरी लहर में अमेरिका (America) में ऐसा होने में पूरे 100 दिन लग गए थे. इस लिहाज से भारत को दूसरी लहर (Seond Wave) से उबरने में अमेरिका से 39 दिन कम लगे हैं. मरीज भी अमेरिका से 22.6 लाख कम मिले हैं. इसी को लेकर वैज्ञानिकों ने दावा किया है कि यदि इसी तरह भारत के लोग अनुशासन में रहें तरो तीसरी लहर (Third Wave) को रोका जा सकता है. यानी इसे यूं कहें की तीसरी लहर का सामना नहीं करना पड़ेगा.

भारत में जल्दी खत्म होने की कगार पर दूसरी लहर: 
अमेरिका में दूसरी लहर के 100 दिन में 1.82 करोड़ नए केस मिले, जबकि भारत में दूसरी लहर के 61 दिन में 1.56 करोड़ केस मिले हैं. नए मरीजों में गिरावट की बड़ी वजह संक्रमण की दर (Test Positivity Rate) में 4 गुना तक की कमी आना है. देश में संक्रमण की 7 दिन की औसत दर 6.6% पर आ चुकी है.

भारत में संक्रमण की रेट नीचे गिरी:
जो ठीक एक महीने पहले 6 मई को 26% तक पहुंच गई थी. अच्छी बात यह है कि 22 राज्यों में संक्रमण की दर 5% से नीचे गिर चुकी है. WHO के अनुसार, अगर संक्रमण की दर 5% से नीचे हो तो आप मान सकते हैं कि अब महामारी अनियंत्रित नहीं है.

सोशल डिस्टेंसिंग जरूरी:
भारत में अब तीसरी लहर का खतरा है. ICMR के निदेशक डॉ. बलराम भार्गव (Director Dr. Balram Bhargava) का मानना है कि मास्क, दो गज की दूरी और ज्यादा से ज्यादा वैक्सीनेशन के दम पर तीसरी लहर को रोका जा सकता है.

देश के 75% केस अब तमिलनाडु समेत सिर्फ पांच राज्यों में मिल रहे:
देश के 75% नए केस अब सिर्फ पांच राज्यों तमिलनाडु, केरल, कर्नाटक, महाराष्ट्र (Tamil Nadu, Kerala, Karnataka, Maharashtra) और आंध प्रदेश में मिल रहे हैं. इन राज्यों में 5 जून को 79 हजार मरीज मिले थे. इनके अलावा सभी राज्यों में नए केस 10 हजार से नीचे आ चुके हैं. 28 राज्य-केंद्रशासित प्रदेशों में रोज 2 हजार से भी कम मरीज मिलने लगे हैं. हालांकि, मौतों में बड़ी गिरावट अभी बाकी है. अभी रोजाना आंकड़ा 2500 से ऊपर बना हुआ है.

सक्रिय केस अब 14 लाख, दो माह में 62% घटे:
देश में 9 मई को सबसे अधिक 37.41 लाख सक्रिय मरीज थे. अब 14 लाख हैं. पहली लहर में 17 सितंबर 2020 को सक्रिय मरीजों की अधिकतम संख्या 10.18 लाख थी. यह स्तर आने में अभी 3-4 दिन लग सकते हैं.

 

और पढ़ें