VIDEO: सही राम के बाद नारकोटिक्स विभाग में एसीबी का दूसरा बड़ा एक्शन

Navin Sharma Published Date 2019/04/05 11:34

जयपुर। प्रदेश की एसीबी यानी एंटी करप्शन ब्यूरो इन दिनों एक्टिव मोड में है। लगातार एक से बड़े एक घूसखोर को पकड़ती हुई जा रही है। घूसखोर नारकोटिक्स विभाग के उपाआयुक्त सही राम मीणा की गिरफ्तारी के बाद नारकोटिक्स विभाग में एसीबी ने दूसरा बड़ा एक्शन दिखाया है। प्रदेश की कोटा, राजसमंद, बाड़मेर और जयपुर एसीबी की टीम ने चित्तौड़गढ़ में कल देर रात छापा मारा। एसीबी की टीम ने चित्तौड़गढ़ में नारकोटिक्स विभाग के कई अधिकारियों कर्मचारियों और दलालों को पकड़ा। इस  कार्रवाई में चितौड़गढ़ पुलिस भी रही। पूरे मामले को लेकर खुद डीजी आलोक त्रिपाठी पत्रकारों से मुखातिब हुए। एसीबी ने जो खुलासा किया, हैरान करने वाला है। अब आपको बताते हैं किसके पास से क्या मिला। स्पेशल रिपोर्ट: 

एसीबी को क्या मिली थी सुचना:

एसीबी को गोपनीय सूत्रों से सूचना मिल रही थी कि चित्तौड़गढ़ में नारकोटिक्स विभाग में पदस्थापित कई अधिकारी, कर्मचारी, दलाल व मुखिया अफीम की खेती के निर्धारित मापदंडों का उल्लंघन करते हैं और अवैध सरक्षण प्रदान करते हैं। इसमें भारी मात्रा में रिश्वत का खेल चल रहा है और इस पूरे खेल में नारकोटिक्स विभाग अधिक्षक सुधीर यादव, उपनिरीक्षक भानु प्रताप जो अवैध रूप से अफीम उत्पादकों को अवैध कार्यों के लिए प्रोत्साहित करते थे। कोटा एसीबी  के एडिशनल एसपी चंद्र शील ठाकुर और जयपुर के पुलिस निरीक्षक विक्रम सिंह ने नारकोटिक्स विभाग के अधिकारियों दलालों की गतिविधियों पर कार्यप्रणाली पर करीब तीन माह से नजर रखना शुरू कर दिया था। एसीबी ने इनके फोन सर्विलांस पर ले रखे थे और फोन टेप कर उनकी बातें सुन रही थी। 

किस तरह एसीबी ने दिया कार्रवाई को अंजाम:

बुधवार देर रात एसीबी की आधा दर्जन टीमें जैसे ही चित्तौड़गढ़ पहुंची। चित्तौड़गढ़ पहुंचने के बाद एसीबी को सूचना मिली कि नारकोटिक्स विभाग के अधीक्षक सुधीर यादव, भानु प्रताप सिंह सहित अन्य कर्मचारी एक ही वाहन से इलाके में अफीम काश्तकारों की फसल की अपरूटिंग कार्य और दलाल व मुखिया अवैध राशि वसूलने के लिए गए हैं जो देर रात तक वापस लौटेंगे। सूचना पर एसीबी ने योजनाबद्ध तरीके से वहां पहुंची और पहुंचने के बाद एक स्विफ्ट  डिजायर कार को एसीबी ने रुकवाया। कार में सुधीर यादव, भानु प्रताप सिंह, प्रवीण सिंह और वरिष्ठ सहायक रामविलास मीणा को डिटेन क़र तलाशी ली गई। तलाशी के दौरान अधिकारियों के कब्जे से ₹17850 की राशि और काश्तकारों के रूटिंग कार्य के अपूर्ण दस्तावेज मिले, जिन्हें एसीबी ने जब्त किया। 

नारकोटिक्स अधीक्षक सुधीर यादव के घर से तलाशी:

—नारकोटिक्स अधीक्षक सुधीर यादव के घर से तलाशी में एसीबी को 85 हजार नकद मिले.
—13 लाख रु. की एफडी मिली
—ढाई सौ गज के भूखंड के कागज मिले
—180 ग्राम सोने के गहने
—3 बैंक खातों में 5 लाख मिले
—और 15 ग्राम स्मैक बरामद हुई
—उप निरीक्षक भानू प्रताप सिंह के आनंद विहार स्थित आवास की तलाशी हुई। 

हवलदार प्रवीण सिंह घर में तलाशी:
—35 हजार नकद मिले
—25 महंगी शराब की बोतलें मिलीं
—कोटा में आवास की तलाशी में 65000 नकद मिले
—7 बैंक खातों में 72 लाख मिले
—पत्नी के नाम श्रीनाथपुरम कोटा में मकान
—प्रवीण के नाम महावीर नगर में घर
—रजत सिटी में भी मकान है
—पत्नी के नाम कई फ्लैट हैं
—वरिष्ठ सहायक रामविलाश मीणा के होटल सत्कार के रूम की भी तलाशी ली गई, जिसमें 13 हजार 500 रु. नकद मिले। 

तस्करों से क्या क्या मिला एसीबी को:

तस्कर और मुखिया छगन जाट:
—14 बाल्टियों में रखा हुआ लगभग 125 किलो अफीम।
—66 बोरों में डोडा-पोस्त
—16 बोरों में पोस्त दाना
—4 अवैध हथियार एक डबल बैरल मजल लोडिंग (एम.एल.) गन,
—एक सेमी ऑटोमेटिक पिस्टल, दो देसी कट्टे मय तीन कारतूस
—इसमें से पिस्टल लॉडेड 
—लगभग 22,95,525/- रूपये नकद बरामद किये गये

किशन, तस्कर:
—15 बोरों में डोडा -चूरा।
—तीन बाल्टियों में रखी लगभग 30 किलोग्राम अफीम बरामद की गई

किस किस अपराध में कौन कौन हुआ गिरफ्तार:

चित्तौड़गढ़ पुलिस ने नारकोटिक्स विभाग के अधीक्षक सुधीर यादव को 15 ग्राम स्मैक रखने के एवज में एनडीपीएस एक्ट में गिरफ्तार किया है। वहीं इस पूरे खेल में एसीबी ने भ्रष्टाचार के मामले में नारकोटिस विभाग के उप निरीक्षक भानु प्रताप सिंह को गिरफ्तार  किया। हवालदार प्रवीण सिंह को चित्तौड़गढ़ पुलिस ने 25 बोतल अवैध शराब की रखने के जुर्म में आबकारी अधिनियम में प्रकरण दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया। अफीम मुखिया और तस्कर छगन को चित्तौड़गढ़ पुलिस ने गिरफ्तार किया। तस्कर किशन को चित्तौड़गढ़ पुलिस ने गिरफ्तार किया। 

बहरहाल, एसीबी  की टीमों द्वारा की गई कार्रवाई अब नारकोटिक्स विभाग की पूरी-पूरी कार्यप्रणाली को सवालों के घेरे में क़र देने वाली है अब एसीबी धीरे धीरे इस आने वाले दिनों में एक से बड़े एक खुलासे करने वाली है। इस पुरे मामले में एसीबी को कई और अपराधियों की तलाश है, जिन्हे एसीबी जल्द ही बेपर्दा करने वाली है। 

... संवाददाता नवीन शर्मा की रिपोर्ट

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in