लंदन की गर्मी को देखकर मुझे तैयार रहने के लिये कहा गया था, पर फिर बारिश आ गयी: अश्विन

लंदन की गर्मी को देखकर मुझे तैयार रहने के लिये कहा गया था, पर फिर बारिश आ गयी: अश्विन

लंदन की गर्मी को देखकर मुझे तैयार रहने के लिये कहा गया था, पर फिर बारिश आ गयी: अश्विन

लंदन: भारतीय ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन ने कहा कि लंदन की गर्मी को देखते हुए उन्हें इंग्लैंड के खिलाफ दूसरे टेस्ट क्रिकेट मैच में खेलने के लिये तैयार रहने को कहा गया था लेकिन मैच के दिन बारिश ने अंतिम एकादश में जगह बनाने की उनकी उम्मीदों पर पानी फेर दिया.

भारत इसके बाद चार तेज गेंदबाजों के साथ उतरने की रणनीति पर कायम रहा. यह रणनीति कारगर साबित हुई. तेज गेंदबाजों ने 19 विकेट लिये और भारत को 151 रन से जीत दिलाने में अहम भूमिका निभायी. अश्विन ने भारतीय क्षेत्ररक्षण कोच आर श्रीधर के साथ अपने यूट्यूब कार्यक्रम में कहा कि मैच के लिये मौसम की भविष्यवाणी क्या थी? तेज गर्मी की भविष्यवाणी की गयी थी. मजेदार बात यह है कि मैच से पहले कह रहे थे, लू चल रही है, नींगा रेडिया इरूंगा (मतलब लू चल रही है. आप तैयार रहना. आप खेल सकते हो.)

उन्होंने कहा कि जब हम नाश्ते के लिये आये तो बारिश हो रही थी. मौसम हमारे हाथ में नहीं है. अश्विन ने यह बात इस संदर्भ में कही कि उनके नहीं चुने जाने का कारण मौसम रहा. श्रीधर ने एक सवाल के जवाब में कहा कि टीम के पास बेहतरीन गेंदबाजी आक्रमण है और दुनिया के सर्वश्रेष्ठ स्पिनर को अंतिम एकादश से बाहर रखना आसान नहीं है. लार्ड्स में 151 रन की जीत पर इन दोनों ने सहमति जतायी कि रोहित शर्मा और केएल राहुल की सलामी जोड़ी की भूमिका अहम रही.

अश्विन ने मयंक अग्रवाल के नेट्स पर चोटिल होने के संदर्भ में कहा कि राहुल को मौका मिला और उन्होंने शानदार बल्लेबाजी करके इसका पूरा फायदा उठाया. श्रीधर ने कहा कि राहुल श्रृंखला में चौथे सलामी बल्लेबाज के रूप में उतरा था लेकिन उसकी तैयारियां शानदार थी. उसने एक सलामी बल्लेबाज के रूप में इंग्लैंड में रन बनाने का तरीका ढूंढ लिया है. यहां तक कि 2018 में भी उसने ओवल में शतक लगाया था. 

 

अश्विन ने रोहित के रक्षात्मक खेल की प्रशंसा की जबकि श्रीधर ने कहा कि मुंबई के इस बल्लेबाज ने इंग्लैंड में सफल होने के लिये काफी अभ्यास किया. (भाषा) 

और पढ़ें