दिलीप ट्रॉफी टूर्नामेंट के लिए प्रदेश के चार खिलाड़ियों का चयन 

Naresh Sharma Published Date 2019/08/06 08:01

जयपुर: प्रदेश के चार खिलाड़ियों को प्रतिष्ठित दिलीप ट्रॉफी टूर्नामेंट के लिए चयनित किया गया है. भारतीय क्रिकेट बोर्ड की सीनियर चयन समिति ने राजस्थान से रणजी खेलने वाले चार खिलाड़ियों अनिकेत चौधरी, महिपाल लोमरोर, तनवीर उल हक व राहुल चाहर का चयन किया है. 

भारतीय क्रिकेट बोर्ड के घरेलू सीजन का आगाज:
17 अगस्त को दिलीप ट्रॉफी टूर्नामेंट के साथ ही भारतीय क्रिकेट बोर्ड के घरेलू सीजन का आगाज हो जाएगा. दिलीप ट्रॉफी टूर्नामेंट 17 अगस्त से 8 सितंबर तक बेंगलुरू में होगा. इसके लिए एमएसके प्रसाद की अध्यक्षता वाली भारतीय सीनियर चयन समिति ने तीन टीमें बनाई है. इंडिया ब्ल्यू की कमान शुभम गिल को सौंपी है, जबकि इंडिया ग्रीन के कप्तान फैज फजल होंगे. प्रियांक पांचाल इंडिया रेड की कमान संभालेंगे. राजस्थान रणजी टीम के कप्तान महिपाल लोमरोर को इंडिया रेड में शामिल किया गया है. नागौर के महिपाल ऑल राउंडर की भूमिका निभाते हैं. वहीं इंडिया ग्रीन में तनवीर उल हक व राहुल चाहर को लिया गया है. तनवीर तेज गति के गेंदबाज हैं, जबकि राहुल चाहर स्पिनर हैं. राहुल को हाल ही भारतीय टी-20 टीम में भी शामिल किया गया है. वहीं राजस्थान रणजी टीम के प्रमुख तेज गेंदबाज अनिकेत चौधरी को इंडिया ब्ल्यू से खेलने का मौका मिलेगा. 

घरेलू सीजन का खाका तैयार:
बोर्ड के महानिदेशक (क्रिकेट संचालन) सबा करीम ने घरेलू सीजन का खाका तैयार कर लिया है. इसके अनुसार इसके मुताबिक 17 अगस्त से दिलीप ट्रॉफी से घरेलू सत्र की शुरुआत होगी. यह सीजन ईरानी कप के साथ समाप्त होगा, जो अगले साल 18 से 22 मार्च के बीच खेला जाएगा. बड़े टूर्नामेंट में पहले विजय हजारे ट्रॉफी, फिर सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी और फिर रणजी ट्रॉफी का आयोजन किया जाएगा, जिसका फाइनल नौ से 13 मार्च 2020 के बीच खेला जाएगा. सैयद मुश्ताक अली टूर्नामेंट की शुरुआत आठ नवंबर से होगी, जो एक दिसंबर तक चलेगा. फिर रणजी ट्रॉफी का आयोजन किया जाएगा. करीम ने यह भी साफ कर दिया है कि रणजी ट्रॉफी के लिए पिचों की देखरेख और किस पिच पर मैच खेला जाएगा, इस बात की जिम्मेदारी न्यूट्रल क्यूरेटर को दी जाएगी. घरेलू टीम को न्यूट्रल क्यूरेटर का पूरा समर्थन करने का कहा गया है. 

बीसीसीआई का घरेलू सत्र तो इसी महीने शुरू हो जाएगा, लेकिन राजस्थान क्रिकेट संघ पर लगा ग्रहण अभी हटता नहीं दिख रहा. प्रदेश के खिलाड़ियों को एक बार फिर टीम राजस्थान के बैनर तले ही खेलना होगा. ऐसे में एक बार फिर प्रदेश की क्रिकेट कुछ चुनिंदा लोगों के हाथ की कठपुतली बनकर रह जाएगी. 

... संवाददाता नरेश शर्मा की रिपोर्ट

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in