Live News »

सूखे कुएं में विवाहिता का शव मिलने से सनसनी, बदबू आने पर लोगों ने दी पुलिस को सूचना

सूखे कुएं में विवाहिता का शव मिलने से सनसनी, बदबू आने पर लोगों ने दी पुलिस को सूचना

सीकर: जिले के खंडेला थाना इलाके के जैता की ढाणी ग्राम में आज एक विवाहिता का शव सूखे कुएं में मिलने से सनसनी फैल गई. ग्रामीणों ने सूखे कुएं से बदबू आने पर इसकी सूचना खंडेला थाना पुलिस को दी. जिसके बाद मौके पर पहुंची खंडेला थाना पुलिस ने शव को काफी मशक्कत के बाद रस्सी के सहारे कुएं से बाहर निकालकर खंडेला के राजकीय चिकित्सालय की मोर्चरी में रखवाया.

पीहर पक्ष ने दर्ज करवाई थी रिपोर्ट:
मृतका के शव की शिनाख्त जैता की ढाणी निवासी लक्ष्मी मीणा के रूप में की गई है. जानकारी के अनुसार मृतका के पीहर पक्ष ने करीब 4 दिन पूर्व दहेज प्रताड़ना का मुकदमा व अगले ही दिन ससुराल पक्ष ने भी गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज करवाई थी. फिलहाल शव को खंडेला चिकित्सालय की मोर्चरी में रखवाया गया है जहां पीहर पक्ष की मौजूदगी में शव का पोस्टमार्टम करवाया जा रहा है. 


 

और पढ़ें

Most Related Stories

Rajasthan Lockdown: सीकर में मजदूरों को छोड़कर भागा ठेकेदार, सामाजिक सगठनों ने निभाया सरोकार

Rajasthan Lockdown: सीकर में मजदूरों को छोड़कर भागा ठेकेदार, सामाजिक सगठनों ने निभाया सरोकार

जयपुर: एक तरफ तो देश में कोरोना वायरस का खौफ है, वहीं दूसरी ओर लॉकडाउन की वजह से कई इंसानों के लिए समस्या उत्पन्न हो गई. गरीब और मजदूर लोगों के लिए खाने-पीने और रहने की समस्या पैदा हो गई है. प्रदेश के कई जिलों में गरीबों के पास ना तो खाने के लिए कुछ है ना ही उनके पास पैसा है. वो करें तो क्या करें. 

सामाजिक सगठनों ने सरोकार निभाया:
सीकर में सांवली में बनने वाली मेडिकल कॉलेज के मजदूरों को ठेकेदार छोड़कर भाग गया, 175 परिवार ऐसे हैं जिनके पास खाने के लिए कुछ भी नहीं है. इस पर सामाजिक सगठनों ने सरोकार निभाया और उन्हें खाने-पीने की व्यवस्था की गई. शहर से 5 किलोमीटर दूर सांवली में मजदूर काम कर रहे थे, लेकिन अचानक ही ठेकेदारों ने छोड़कर फरार हो गया. 175 परिवारों के आगे खाने-पीने के लिए मोहताज होना पड़ा, इस पर सामाजिक संगठनो ने पहल करते हुए अपनी अहम भूमिका निभाई और इन परिवारों को खाने-पीने के पैकेट वितरित करा दिए.

दर्द छलक उठा:
कोरोना वायरस के खौफ ने जिंदगी की रफ्तार पर भले ही पूरी तरह से ब्रेक लगा दिया हो लेकिन बात करें उन दिहाड़ी मजदूरों की जो अपना घर छोड़कर दूर दराज के इलाकों में रोजी रोटी के लिए जंग लड़ रहे थे तो अब वह मजदूर अपने घर पहुंचने के लिए एक और जंग लड़ते हुए दिखाई दे रहे हैं. कोई मजदूर जोधपुर से मध्यप्रदेश के भिंड के लिए पैदल ही चल पड़ा है तो कई मजदूर अलवर से पैदल ही उत्तर प्रदेश के बहराइच की दूरी कदमों से नाप रहे हैं. फर्स्ट इंडिया की टीम को ऐसा ही नजारा दिखाई दिया भरतपुर के जिला कलेक्ट्रेट रोड पर जहां पीठ पर बैग टांग कुछ  मजदूर पैदल पैदल राष्ट्रीय राजमार्ग की ओर बढ़ रहे थे. जब इन मजदूरों से बात की तो उनका दर्द छलक उठा.उनका कहना था की लॉक डाउन पता नहीं कब तक चले इसलिए वे अपने घरों की ओर रवाना तो हो गए लेकिन कोई साधन नहीं मिला तो अब मंजिल पैदल ही तय करनी पड़ रही है.

गणगौर पूजन में भी दिख रहा है कोरोना वायरस का असर, मास्क लगाकर गणगौर पूजन कर रहीं महिलाएं

राशन का संकट:
बूंदी जिले के लाखेरी गांव में कोरोना संक्रमण को लेकर देशभर में लॉक डाउन जारी है. ऐसे में गरीब तबके के कई लोग ऐसे है, जिनके सामने खाने पीने का संकट खड़ा हो गया है. पुलिस प्रशासन भी केवल 2 झोपड़ियों में ही खाना दे पाए, जबकि अन्य दिहाडी मजदूर भुखे ही रहे, ना ही तो उनके घर में पैसा है ना ही राशन का सामान. आखिर वह करे तो क्या करे. प्रशासन को अवगत कराने पर भी अभी तक उनको सहायता नही मिल पा रही हैं.

जरूरतमंदों को राशन सामग्री के किट किए वितरण:
प्रदेश के जालौर जिले में लॉकडाउन का पूरी तरह पालन कर रहे है. गांवों में सरपंच और  भामाशाह आगे आकर जरूरतमंदों को राशन सामग्री के किट वितरण कर रहे है. लोगों को कोरोना के बचाव की अपील कर रहे है. वहीं जालमपुरा में भामाशाह और सरपंच प्रतिनिधि तुलसाराम ने जरूरतमंदों को राशन सामग्री के किट वितरण किए.

Corona Update: पूरी दुनिया में 22,340 लोगों की मौत, देश में अब तक 17 लोगों ने तोड़ा दम, तो मरीजों की संख्या पहुंची 724 

शेखावाटी की कुलदेवी जीण माता का मेला स्थगित, 800 सौ साल में पहली बार होगा ऐसा

शेखावाटी की कुलदेवी जीण माता का मेला स्थगित, 800 सौ साल में पहली बार होगा ऐसा

सीकर: कोरोना वायरस के संक्रमण के चलते 25 मार्च से भरने वाला जीण माता मेला स्थगित किया गया है. ऐसा 800 सौ साल में पहली बार होगा. नवरात्रा स्थापना के साथ ही मां का 9 दिनों तक मेला भरता है और इस मेले में करीब 7 लाख से अधिक श्रद्धालु आते हैं. 

निर्भया केस: पटियाला हाउस कोर्ट के बाहर बेहोश हुई दोषी अक्षय की पत्नी 

सरकार की एडवाइजरी के बाद यह फैसला लिया गया: 
राज्य सरकार की एडवाइजरी के बाद यह फैसला लिया गया है तो वही पूरे जिले भर की बात करें तो शेखावाटी के सबसे बड़े धार्मिक स्थल जीण माता खाटू श्याम जी और शाकंभरी में इस बार मेले का आयोजन नहीं होगा तो वहीं राज्य सरकार भी अब जनता से कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने के उपायों को लेकर अपील कर रही है. जीण माता मेला नहीं भरने से इस बार हालांकि भक्तों को परेशानी रहेगी लेकिन देश हित के मुद्दों को देखते हुए भक्तों ने भी इस बार फैसला किया कि वे जीण माता के मेले में नहीं जाएंगे. 

अदालतों के कम्प्लीट शटडाउन से मुख्य न्यायाधीश का इंकार, हाइकोर्ट बार ने न्यायिक कार्य नही करने का किया ऐलान 

कोरोना वायरस के चलते 300 साल में पहली बार खाटूश्याम जी मंदिर भक्तों के लिए बंद

कोरोना वायरस के चलते 300 साल में पहली बार खाटूश्याम जी मंदिर भक्तों के लिए बंद

सीकर: कोरोना वायरस की दहशत के चलते अब बाबा श्याम की नगरी में जयकारे नहीं गूंजेंगे. आज एकादशी के दिन दोपहर पहले दर्शन कराकर मंदिर के पट किए बंद कर दिए गए है. ऐसे 300 साल में पहली बार ऐसा होगा की भक्त बाबा श्याम के दीदार नहीं कर पाएंगे. कोरोना वायरस के संक्रमण के चलते मंदिर कमेटी ने यह फैसला लिया है. 

VIDEO- Coronavirus Updates: झुंझुनूं के प्रशासन के भरोसे मत रहिए! कर्फ्यू वाले एरिया में लगा रहा जमघट 

अब बाबा के दर्शन 31 मार्च पहले नहीं हो पाएंगे: 
मंदिर कमेटी ने राज्य सरकार की ओर से जारी की गई एडवाइजरी के बाद निर्णय लिया है. हालांकि आज एकादशी थी लेकिन आज दोपहर पहले ही मंदिर कमेटी ने राज्य सरकार के आदेशों की पालना करते हुए मंदिर के पट बंद कर दिए. वहीं आज भी बड़ी तादाद में श्याम भक्त बाबा के दरबार में हाजिरी लगाने पहुंचे थे लेकिन सरकार के निर्देशों के बाद और बढ़ते कोरोना वायरस के संक्रमण को लेकर अब बाबा के दर्शन 31 मार्च पहले नहीं हो पाएंगे. 19 मार्च से 31 मार्च तक दर्शनों के लिए पट बंद रहेंगे. 

जयपुर में मिले कोरोना के पांच संदिग्ध, एयरपोर्ट पर स्क्रीनिंग के दौरान हुई पहचान 

मादक पदार्थों के विरुद्ध SOG की बड़ी कार्रवाई, भारी मात्रा में डोड़ा पोस्त जब्त, 5 गिरफ्तार

मादक पदार्थों के विरुद्ध SOG की बड़ी कार्रवाई, भारी मात्रा में डोड़ा पोस्त जब्त, 5 गिरफ्तार

खंडेला(सीकर): प्रदेश के सीकर जिले के खंडेला थाना इलाके के कांवट मार्ग पर खंडेला मोड़ बस स्टैंड पर शनिवार देर रात्रि जयपुर एसओजी की टीम ने बड़ी कार्यवाही करते हुए एक मकान पर छापा मारकर भारी मात्रा में डोडा पोस्ट बरामद किया है. एसओजी के डीवाईएसपी चिरंजीलाल के नेतृत्व में टीम ने कार्रवाई करते हुए मौके से 5 लोगों को भी हिरासत में लिया है. एसओजी की रात भर चली कार्रवाई के बाद ​रविवार को करीब छह टन से भी अधिक डोडा पोस्त के सैकड़ों कट्टे ट्रेलर में भरकर जयपुर मुख्यालय के लिए रवाना किए गए. 

प्रदेशभर में मनाया जा रहा है शीतला सप्तमी का पर्व, माता के लगाया ठंडे व्यंजनों का भोग

कीमत करोड़ों रुपए:
एसओजी की कार्यवाही के दौरान जप्त किए गए गए डोडा पोस्ट की कीमत करोड़ों रुपए में बताई जा रही है. कार्रवाई के दौरान एसओजी की टीम को भी काफी मशक्कत भी करनी पड़ी. एसओजी की टीम की कार्रवाई की सूचना मिलते ही मकान के बाहर काफी संख्या में ग्रामीणों का जमावड़ा लग गया. जिसके बाद स्थानीय खंडेला थाना पुलिस को सूचना दी गई और अतिरिक्त जाब्ता मौके पर तैनात किया गया.

कोरोना वायरस: ईरान से 236 भारतीयों को लेकर जैसलमेर पहुंचा विमान, सभी की होगी स्क्रीनिंग 

कई बड़े नामों का खुलासा होने की संभावना:
टीम ने परिवहन के लिए काम में लिए जा रहे एक ट्रैक्टर ट्रॉली को भी मौके से जप्त किया. इसके साथ ही डोडा पोस्ट में चुरा मिक्स करने की एक मशीन भी बरामद की गई है. फिलहाल एसओजी की टीम हिरासत में लिए गए पांचों लोगों को लेकर जयपुर के लिए रवाना हो चुकी है. इस काले कारोबार से जुड़े कई बड़े नामों का खुलासा होने की संभावना है जिसके संबंध में हिरासत में लिए गए इन पांचों लोगों से जयपुर मुख्यालय ले जाकर पूछताछ की जाएगी.

सीकर सड़क हादसे में एक जने की मौत, 5 लोग घायल 

सीकर सड़क हादसे में एक जने की मौत, 5 लोग घायल 

सीकर: प्रदेश के सीकर जिले के सालासर सड़क मार्ग पर नानी बाईपास के पास शनिवार को  एक सड़क हादसा हो गया. जिसमें एक जने की मौत हो गई. जबकि 5 जने गंभीर घायल हो गए. जिनको इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती करवाया गया. जानकारी के मुताबिक सालासर सड़क मार्ग पर रोडवेज और शिफ्ट कार के बीच भिड़ंत हो गई. 

प्रदेश की सरकार मगरा इलाके के समग्र विकास को लेकर संकल्पित : सीएम गहलोत

हादसे का कारण ओवर स्पीड:  
जिसमें रोडवेज बस का टायर फटने की वजह से यह हादसा हुआ. हादसे की सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची. घायलों को सीकर के कल्याण चिकित्सालय में भर्ती करवाया गया. घटना की जानकारी देते हुए एएसपी देवेंद्र शर्मा ने बताया कि रोडवेज जयपुर से बीकानेर की तरफ जा रही थी और कार सीकर से सालासर की तरफ जा रही थी. प्राथमिक तौर पर हादसे का कारण ओवर स्पीड बताया जा रहा है. फिलहाल पुलिस मृतक की पहचान करने में जुटी हुई है. 

सूरजगढ़ क्षेत्र की जनता को सीएम गहलोत का तोहफा, युवाओं के लिए सरकारी कॉलेज खोले जाने की हुई घोषणा 

VIDEO: अंधविश्वास की पराकाष्ठा, 6 घंटे तक कमरे में पति का शव रखकर पत्नी बोली तंत्र मंत्र से कर दूंगी जिंदा

सीकर: यह अंधविश्वास की कहानी है जिसने पूरे शहर को सकते में डाल दिया. रामलीला मैदान में हार्ट अटैक से एक ज्वेलर की मौत के बाद पत्नी 6 घंटे तक कमरे में लेकर बैठी रही और दावा करती रही कि तंत्र मंत्र के दम पर वह अपने पति को वापस जिंदा कर देगी. लोगों की समझाइश के बाद देर शाम अंतिम संस्कार हो सका. 

वरमाला के दौरान स्टेज पर दूल्हे की पहली पत्नी ने पहुंचकर मचाया हंगामा, मची अफरा-तफरी 

जिंदा करने के दावे की सच्चाई जानने के लिए जुटी लोगों की भीड़:
यह खबर बेहद चौंकाने वाली है इसलिए लोगों की भीड़ जुट गई. पूरा परिवार पुलिस और शहर के लोग महिला द्वारा पति को जिंदा करने के दावे की सच्चाई जानने के लिए जुटे रहे. देर शाम तक जब यह दावा झूठा निकला तो घर के परिजनों की समझाइश के बाद अंतिम संस्कार किया गया. हालांकि पुलिस और कुछ लोगों को महिला को समझाने की कोशिश की लेकिन वे पत्नी की जीद के आगे हार गए. 

महिला के बेटे ने भी उसका पूरा सहयोग दिया:
हैरानी की बात तो यह रही कि इसमें महिला के बेटे ने भी उसका पूरा सहयोग दिया. पत्नी आठवीं पास है और बेटा भी बी सी ए  किया हुआ है. इसके बावजूद भी यह अंधविश्वास हावी रहा. 50 साल के सुभाष सोनी घंटाघर के पास गुलजार मंजिल में ज्वैलर की दुकान चलाते थे. वे सुबह 6:00 बजे दुकान के लिए रवाना हुए थे उसी दौरान हार्टअटैक का दौरा गया. परिजन उसे अस्पताल में लेकर पहुंचे जहां डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया. परिजन बिना पोस्टमार्टम के शव लेकर घर आ गए. 

VIDEO- Corona virus: राजस्थान में 30 मार्च तक स्कूल, मॉल, सिनेमाघर और कोचिंग सेंट बंद, बोर्ड समेत अन्य परीक्षाएं रहेंगी यथावत 

9 साल पहले इसकी बेटी की मौत हो गई थी:
पत्नी सुमित्रा को जब पति की मौत की जानकारी मिली तो 10:00 बजे वह पति के शव को कमरे में लेकर बैठ गई और तंत्र मंत्र के दम पर जिंदा करने का दावा करने लगी. शाम तक जब कुछ भी नहीं हुआ तो परिजनों की काफी समझाइश के बाद आखिर देर शाम अंतिम संस्कार कर दिया गया. परिजनों का यह भी कहना है कि 9 साल पहले इसकी बेटी की मौत हो गई थी तभी से पत्नी सदमे में चल रही है. इसके चलते उसे ज्यादा दबाव नहीं बना पाए. पुलिस और कॉलोनी वासियों की समझाइश के बाद देर शाम अंतिम संस्कार किया गया. 

मध्यप्रदेश के कांग्रेस विधायकों ने किए बाबा श्याम के दर्शन, पूजा आराधना कर मांगी मन्नतें

मध्यप्रदेश के कांग्रेस विधायकों ने किए बाबा श्याम के दर्शन, पूजा आराधना कर मांगी मन्नतें

सीकर: मध्य प्रदेश की सियासत का केंद्र इन दिनों जयपुर बना हुआ है. मध्य प्रदेश के कांग्रेसी विधायकों की यहां बाड़ा बंदी चल रही है. उसी बाड़ाबंदी के तहत आज मध्यप्रदेश के विधायकों ने बाबा श्याम के दर्शन कर प्रदेश की खुशहाली की मनोकामनाएं मांगी. विधायक करीब 12:00 बजे बाबा श्याम के मंदिर पहुंचे जहां उन्होंने पूजा अर्चना की. 

मध्य प्रदेश में चल रहे सियासी संकट के बीच राज्यपाल से मिले कमलनाथ, फ्लोर टेस्ट के लिए तैयार 

बाबा की पूजा आराधना के बाद सालासर जाने का कार्यक्रम:
सभी विधायक जयपुर के गेस्ट हाउस से 10:00 बजे रवाना हुए थे जो 12:00 बजे मंदिर पहुंचकर पूजा अर्चना की. हालांकि इस दौरान कड़ी सुरक्षा के बंदोबस्त किए गए. मीडिया को विधायकों से दूर रखा गया. कई विधायक मीडिया से वार्ता करना चाह रहे थे लेकिन इसी दौरान पुलिस ने बीच-बचाव कर मीडिया से दूरी बनाए रखी. बाबा की पूजा आराधना के बाद यह सभी विधायक चाय नाश्ता लेने के बाद सालासर के लिए रवाना होंगे. जयपुर से आए विधायक कुछ ही देर बाद सालासर के लिए रवाना हो जाएंगे जहां हनुमान जी के दर्शन कर देर शाम जयपुर लौटने का कार्यक्रम है. 

उन्नाव रेप केस: पीड़िता के पिता की मौत मामले में कुलदीप सेंगर समेत 7 दोषियों को 10 साल की सजा 

बाबा श्याम के लक्खी मेले के समापन की घोषणा, करीब 40 लाख श्रद्धालुओं ने लगाई हाजिरी

बाबा श्याम के लक्खी मेले के समापन की घोषणा, करीब 40 लाख श्रद्धालुओं ने लगाई हाजिरी

सीकर: बाबा श्याम का लक्खी मेला आज समापन की ओर है. सूरजगढ़ के निशान चढ़ने के साथ ही मेले के समापन की घोषणा की गई. हालांकि आज भी भक्तों का आना शुरू है. बाबा श्याम का दरबार भक्तों से अटा पड़ा है. हर जगह केसरिया ध्वज लहरा रहे हैं तो वहीं बाबा श्याम की नगरी श्याम भक्तों से अटी पड़ी है. बाबा श्याम के जयकारों से पूरी श्याम नगरी गुंजायमान है. 

कांकाणी हिरण शिकार मामले में सलमान खान नहीं हुए कोर्ट में उपस्थित, अब 18 अप्रैल को होगी सुनवाई 

करीब 40 लाख श्रद्धालुओं ने बाबा श्याम के हाजिरी लगाई:
बारस के दिन बाबा श्याम का लक्खी मेला समाप्त हो जाता है. 27 फरवरी को यह मेला शुरू हुआ था जिसका आज समापन हो गया है. इस लक्खी मेले में देश से नहीं बल्कि विदेशों से भी लोग आते हैं. बाबा श्याम के लक्खी मेले में करीब 40 लाख श्रद्धालुओं ने बाबा श्याम के हाजिरी लगाई यह मेला राज्य का नहीं बल्कि देश का प्रसिद्ध मेला है. कलयुग के देवता बाबा श्याम की हाजिरी लगाने के लिए हर कोई आतुर दिखाई दिया. हर जगह बाबा श्याम के जयकारे गूंज रहे हैं मंदिर में आज भी भक्तों की भीड़ रही. 

Yes Bank बैंक खाताधारकों का पैसा पूरी तरह से सुरक्षित, 49% खरीद सकते हैं शेयर: SBI चेयरमैन 

Open Covid-19