मुंबई शेयर बाजार में लगातार चौथे दिन तेजी, सेंसेक्स 545 अंक के उछाल के साथ 58,000 अंक के पार

शेयर बाजार में लगातार चौथे दिन तेजी, सेंसेक्स 545 अंक के उछाल के साथ 58,000 अंक के पार

शेयर बाजार में लगातार चौथे दिन तेजी, सेंसेक्स 545 अंक के उछाल के साथ 58,000 अंक के पार

मुंबई: घरेलू शेयर बाजार में सोमवार को लगातार चौथे कारोबारी सत्र में तेजी रही और बीएसई सेंसेक्स 545 अंक से अधिक उछलकर तीन महीने के उच्चस्तर पर बंद हुआ. वैश्विक स्तर पर मजबूत रुख के बीच रिलायंस इंडस्ट्रीज और वाहन शेयरों में मजबूत लिवाली से बाजार को समर्थन मिला.कारोबारियों के अनुसार, मजबूत वृहद आर्थिक आंकड़े और विदेशी संस्थागत निवेशकों के ताजा पूंजी प्रवाह से भी धारणा को बल मिला.

तीस शेयरों पर आधारित बीएसई सेंसेक्स 545.25 अंक यानी 0.95 प्रतिशत चढ़कर 58,115.50 अंक पर बंद हुआ. मानक सूचकांक इस साल 13 अप्रैल के बाद पहली बार 58,000 अंक के ऊपर गया है.नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का निफ्टी भी 181.80 अंक यानी 1.06 प्रतिशत की तेजी के साथ 17,340.05 अंक पर बंद हुआ.वाहन कंपनियों की जुलाई में बिक्री बढ़ने से इनके शेयरों में तेजी रही.सेंसेक्स के शेयरों में महिंद्रा एंड महिंद्रा सबसे अधिक 6.15 प्रतिशत मजबूत हुआ. कंपनी की घरेलू वाहनों की बिक्री पिछले महीने 33 प्रतिशत बढ़ी है.

स्पेक्ट्रम नीलामी के संपन्न होने के साथ रिलायंस इंडस्ट्रीज और भारती एयरटेल का शेयर 2.64 प्रतिशत तक चढ़ा. देश में स्पेक्ट्रम की अबतक की सबसे बड़ी नीलामी में 1,50,173 करोड़ रुपये की बोलियां आईं.इसके अलावा मारुति सुजुकी इंडिया, कोटक महिंद्रा बैंक, एनटीपीसी, पावरग्रिड और अल्ट्राटेक सीमेंट प्रमुख रूप से लाभ में रहे.दूसरी तरफ, गिरावट में रहने वाले शेयरों में सन फार्मा, हिंदुस्तान यूनिलीवर, इंडसइंड बैंक, नेस्ले इंडिया, एशियन पेंट्स और टीसीएस शामिल हैं. इनमें 2.65 प्रतिशत तक का नुकसान रहा.

वृहद आर्थिक मोर्चे पर जीएसटी (माल एवं सेवा कर) संग्रह जुलाई में 28 प्रतिशत बढ़कर 1.49 लाख करोड़ रुपये रहा. यह जीएसटी संग्रह का दूसरा उच्चस्तर है. सोमवार को जारी एक मासिक सर्वे के अनुसार, देश में विनिर्माण गतिविधियां भी जुलाई महीने मे आठ माह के उच्चस्तर पर रही.जियोजीत फाइनेंशियल सर्विसेज के शोध प्रमुख विनोद नायर ने कहा कि एफपीआई (विदेशी पोर्टफोलियो निवेशक) के शुद्ध रूप से लिवाल होने से घरेलू बाजार में तेजी आई. यूरो क्षेत्र में बेरोजगारी दर के रिकॉर्ड निचले स्तर पर होने तथा कच्चे तेल के दाम में गिरावट से वैश्विक स्तर पर उम्मीद बंधी है.

उन्होंने कहा कि वाहन बिक्री के आंकड़े जारी होने के बाद इन कंपनियों के शेयर मांग में रहे. रेलिगेयर ब्रोकिंग लि. के उपाध्यक्ष (शोध) अजित मिश्रा ने कहा कि बाजार में सप्ताह की शुरुआत सकारात्मक रही.सकारात्मक वैश्विक रुख के साथ चौतरफा लिवाली से बाजार में तेजी रही. एशिया के अन्य बाजारों में दक्षिण कोरिया का कॉस्पी, चीन का शंघाई कंपोजिट, जापान का निक्की और हांगकांग का हैंगसेंग लाभ में रहे. यूरोप के प्रमुख बाजारों में शुरुआती कारोबार में तेजी का रुख रहा. अमेरिकी शेयर बाजार भी शुक्रवार को लाभ में थे.

इस बीच, अंतरराष्ट्रीय तेल मानक ब्रेंट क्रूड 1.35 प्रतिशत की गिरावट के साथ 102.6 डॉलर प्रति बैरल पर आ गया. अमेरिकी डॉलर के मुकाबले रुपये की विनिमय दर 22 पैसे मजबूत होकर 79.02 (अस्थायी) पर बंद हुई. शेयर बाजार के आंकड़ों के अनुसार विदेशी संस्थागत निवेशक पूंजी बाजार में शुद्ध लिवाल रहे. उन्होंने शुक्रवार को 1,046.32 करोड़ रुपये मूल्य के शेयर खरीदे.(भाषा) 
 

और पढ़ें