मुंबई बजट घोषणाओं से शेयर बाजार में तेजी, सेंसेक्स में 2,315 अंक उछला

बजट घोषणाओं से शेयर बाजार में तेजी, सेंसेक्स में 2,315 अंक उछला

बजट घोषणाओं से शेयर बाजार में तेजी, सेंसेक्स में 2,315 अंक उछला

मुंबई: शेयर बाजारों ने वृद्धि को बढ़ावा देने पर केंद्रित बजट का जबरदस्त स्वागत किया. बजट से उपजे उत्साह के दम पर वित्तीय कंपनियों की अगुवाई में सोमवार को सेंसेक्स 2,315 अंक चढ़ गया.

 

सेंसेक्स 2,314 अंकों की बढ़तः
कारोबार के दौरान सेंसेक्स एक समय 48,764.40 अंक के दिन के उच्चतम स्तर पर पहुंच गया था. अंत में यह 2,314.84 अंक यानी पांच प्रतिशत की बढ़त के साथ 48,600.61 अंक पर बंद हुआ. इसी तरह एनएसई का निफ्टी भी 646.60 अंक यानी 4.74 प्रतिशत बढ़कर 14,281.20 अंक पर बंद हुआ.

इंडसइंड बैंक के शेयरों को सर्वाधिक लाभः
सेंसेक्स की कंपनियों में इंडसइंड बैंक सर्वाधिक 14 प्रतिशत से अधिक फायदे में रहा. आईसीआईसीआई बैंक, बजाज फिनसर्व, भारतीय स्टेट बैंक, एलएंडटी और एचडीएफसी के शेयरों में तेजी रही. इनके विपरीत डॉ रेड्डीज, टेक महिंद्रा और हिंदुस्तान यूनिलीवर के शेयर गिरावट में रहे. कारोबारियों ने कहा कि वैश्विक बाजारों की तेजी के दम पर भारतीय बाजार बढ़त में खुले. कारोबार के दौरान बाजार ने बजट पर सकारात्मक प्रतिक्रिया दी.

एफडीआई की सीमा को बढ़ाकर 74 प्रतिशत करना स्वागतयोग्यः
बजट में बुनियादी संरचना और स्वास्थ्य सेवा क्षेत्र पर अधिक खर्च का प्रावधान किए जाने का निवेशकों ने स्वागत किया. जियोजीत फाइनेंशियल सर्विसेज के मुख्य निवेश रणनीतिकार वीके विजयकुमार ने कहा कि यह निश्चित तौर पर वृद्धि पर केंद्रित बजट है. पहले डर था कि इस बजट में कोविड-कर और आयकर पर अधिभार लगाया जा सकता है पर ऐसा न होने स बड़ी राहत मिली है. दो राष्ट्रीयकृत बैंकों के निजीकरण और भूखंड जैसी संपत्तियों के मौद्रिकरण के प्रस्ताव स्पष्ट रूप से सकारात्मक हैं. उन्होंने कहा कि बीमा क्षेत्र में एफडीआई की सीमा को 49 प्रतिशत से बढ़ाकर 74 प्रतिशत करना स्वागतयोग्य है. बजट पर बाजार की प्रतिक्रिया से वृद्धि को लेकर आशावाद दिखता है. संक्षेप में कहें तो वित्त मंत्री ने इस मुश्किल समय में प्रगतिशील, बिंदास और दूरदर्शी बजट पेश किया है.

एकल प्रतिभूति बाजार संहिता से भारतीय वित्त बाजार में कारोबार होगा सुगमः
रिलायंस सिक्योरिटीज के कार्यकारी निदेशक एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी लव चतुर्वेदी ने कहा कि बजट में प्रस्तावित एकल प्रतिभूति बाजार संहिता से भारतीय वित्त बाजार में कारोबार सुगम होगा.
सोर्स भाषा
 

और पढ़ें