सेंसेक्स 347 अंक की तेजी के साथ नई ऊंचाई पर, निफ्टी पहली बार 13,350 के ऊपर

सेंसेक्स 347 अंक की तेजी के साथ नई ऊंचाई पर, निफ्टी पहली बार 13,350 के ऊपर

सेंसेक्स 347 अंक की तेजी के साथ नई ऊंचाई पर, निफ्टी पहली बार 13,350 के ऊपर

मुंबई:  विदेशी पूंजी प्रवाह के बीच बीएसई सेंसेक्स सोमवार को 347 अंक बढ़कर रिकॉर्ड ऊंचाई पर बंद हुआ. सूचकांक में अच्छी हिस्सेदारी रखने वाली एचडीएफसी लि., एचयूएल और आईसीआईसीआई बैंक की अगुवाई में यह तेजी आई.

सेंसेक्स में 0.77 को निफ्टी में 0.73 प्रतिशत की बढ़तः
तीस शेयरों पर आधारित सूचकांक कारोबार के दौरान एक समय 45,458.92 अंक के उच्चतम स्तर तक चला गया था. अंत में यह 347.42 अंक यानी 0.77 प्रतिशत बढ़कर 45,426.97 अंक पर बंद हुआ. नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी 97.20 अंक यानी 0.73 प्रतिशत की बढ़त के साथ 13,355.75 के अब तक के उच्चतम स्तर पर बंद हुआ. कारोबार के दौरान यह रिकार्ड 13,366.65 पर पहुंच गया था.

सर्वाधिक लाभ में भारती एयरटेल कोः
सेंसेक्स के शेयरों में सर्वाधिक लाभ में भारती एयरटेल रही. इसमें करीब 3 प्रतिशत की तेजी आई. इसके अलावा एचयूएल, एचडीएफसी, आईटीसी, इंडसइंड बैंक, एसबीआई, सन फार्मा, ओएनजीसी, टेक महिंद्रा, एल एंड टी और एशियन पेंट्स में भी अच्छी तेजी रही. दूसरी तरफ, कोटक बैंक, नेस्ले इंडिया, टाटा स्टील, बजाज फाइनेंस और एचडीएफसी बैंक में गिरावट दर्ज की गई.

कोविड-19 टीके को लेकर सकारात्मक प्रगति और आरबीआई की अर्थव्यवस्था के पुनरूद्धार को समर्थन से बाजार में तेजीः
रिलायंस सिक्योरिटीज के रणनीतिक मामलों के प्रमुख विनोद मोदी ने कहा कि घरेलू शेयर बाजार में मजबूती बनी हुई और वैश्विक बाजारों में कमजोर रुख का भी इस पर असर नहीं हुआ. मोदी ने कहा कि कोविड-19 टीके को लेकर सकारात्मक प्रगति और आरबीआई की अर्थव्यवस्था के पुनरूद्धार को समर्थन देने के लिए जताई गई प्रतिबद्धता से बाजार में तेजी बनी हुई है. इसके अलावा अमेरिका में डॉलर की विनिमय दर में गिरावट के साथ राजकोषीय प्रोत्साहन को लेकर चीजें और साफ होने से भारत समेत उभरते देशों में एफपीआई आगे भी आकर्षित हो सकते हैं.

वैश्विक तेल मानक ब्रेंट क्रूड वायदा के भाव में गिरावटः
एशिया के अन्य बाजारों में शंघाई, हांगकांग और तोक्यो नुकसान में रहे जबकि सोल में तेजी रही. यूरोप के प्रमुख शेयर बाजारों में कारोबार की शुरुआत में गिरावट दर्ज की गई. इस बीच, वैश्विक तेल मानक ब्रेंट क्रूड वायदा का भाव 1.02 प्रतिशत की गिरावट के साथ 48.75 डॉलर प्रति बैरल पर पहुंच गया.
सोर्स भाषा

और पढ़ें