मुंबई रिजर्व बैंक की घोषणा से शेयर बाजार में उछाल, सेंसेक्स 424 अंक चढ़ा, वित्तीय कंपनियों के शेयर चमके

रिजर्व बैंक की घोषणा से शेयर बाजार में उछाल, सेंसेक्स 424 अंक चढ़ा, वित्तीय कंपनियों के शेयर चमके

रिजर्व बैंक की घोषणा से शेयर बाजार में उछाल, सेंसेक्स 424 अंक चढ़ा, वित्तीय कंपनियों के शेयर चमके

मुंबई: शेयर बाजार में पिछले तीन दिनों से जारी गिरावट पर बुधवार को विराम लगा और बीएसई सेंसेक्स 424 अंक उछलकर बंद हुआ. कोविड-19 चुनौतियों का सामना कर रही अर्थव्यवस्था को समर्थन देने के लिए आरबीआई की तरफ से किए गए उपायों की घोषणा से वित्तीय कंपनियों के शेयरों में तेजी के साथ बाजार में मजबूती आई.

सेंसेक्स में 424 और निफ्टी में 121 अंकों की बढ़तः
तीस शेयरों पर आधारित बीएसई सेंसेक्स 424.04 अंक यानी 0.88 प्रतिशत उछलकर 48,677.55 अंक पर बंद हुआ. इसी प्रकार, नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 121.35 अंक यानी 0.84 प्रतिशत की बढ़त के साथ 14,617.85 अंक पर बंद हुआ.

सर्वाधिक लाभ में रही सन फार्माः
सेंसेक्स के शेयरों में करीब 6 प्रतिशत बढ़त के साथ सर्वाधिक लाभ में सन फार्मा रही. इसके अलावा कोटक बैंक, एक्सिस बैंक, इंडसइंड बैंक, आईसीआईसीआई बैंक, डा. रेड्डीज, टाइटन और टीसीएस में भी तेजी रही. दूसरी तरफ गिरावट दर्ज करने वाले शेयरों में बजाज फाइनेंस, एशियन पेंट्स और एचयूएल शामिल हैं.

आईटी तथा दवा कंपनियों के शेयरों में तेजी से घरेलू शेयर बाजार को मिला समर्थनः
रिलायंस सिक्योरिटीज के रणनीति प्रमुख विनोद मोदी ने कहा कि मुख्य रूप से वित्तीय, आईटी तथा दवा कंपनियों के शेयरों में तेजी से घरेलू शेयर बाजार को समर्थन मिला. कोविड-19 महामारी की दूसरी लहर से उत्पन्न चुनौतियों से निपटने में अर्थव्यवस्था को समर्थन देने के लिए आरबीआई द्वारा उपायों की घोषणा से बाजार में तेजी आई.

आरबीआई ने की थी कई अहम घोषणाएंः
भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने बुधवार को कुछ व्यक्तिगत तथा छोटे कर्जदारों को कर्ज चुकाने के लिए अधिक समय देने के साथ ही बैंकों से कहा कि वे वैक्सीन निर्माताओं, अस्पतालों और कोविड से संबंधित स्वास्थ्य ढांचे को प्राथमिकता के आधार पर ऋण दें.

प्रमुख खंडवार सूचकांकों में रही तेजीः
दैनिक उपयोग का सामान बनाने वाली कंपनियों को छोड़कर ज्यादातर प्रमुख खंडवार सूचकांकों में तेजी रही. मोदी के अनुसार कई राज्यों में कोरोना संक्रमण के मामले तथा उससे मृतकों की संख्या में वृद्धि चिंता का कारण है. हालांकि महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश और गुजरात समेत कई राज्यों में मामलों में कमी आई है, जो राहत की बात है.

अंतरराष्ट्रीय तेल मानक ब्रेंट क्रूड 69.80 डॉलर प्रति बैरल पहुंचाः
एशिया के अन्य बाजारों में हांगकांग में गिरावट रही जबकि सोल, शंघाई और तोक्यो बाजार अवकाश के कारण बंद रहे. यूरोप के प्रमुख बाजारों में शुरूआती कारोबार में गिरावट का रुख रहा. इस बीच, अंतरराष्ट्रीय तेल मानक ब्रेंट क्रूड 1.34 प्रतिशत की बढ़त के साथ 69.80 डॉलर प्रति बैरल पर पहुंच गया.
सोर्स भाषा

और पढ़ें