उतार-चढ़ाव वाले कारोबार में सेंसेक्स 202 अंक टूटा, निफ्टी 14,350 के नीचे आया

उतार-चढ़ाव वाले कारोबार में सेंसेक्स 202 अंक टूटा, निफ्टी 14,350 के नीचे आया

उतार-चढ़ाव वाले कारोबार में सेंसेक्स 202 अंक टूटा, निफ्टी 14,350 के नीचे आया

मुंबई: बीएसई सेंसेक्स शुक्रवार को 202 अंक की गिरावट के साथ बंद हुआ. कोविड-19 महामारी फैलने का अर्थव्यवस्था पर पड़ने वाले प्रभाव को लेकर चिंता के बीच आईसीआईसीआई बैंक, इन्फोसिस और एचयूएल में गिरावट के साथ शेयर बाजार नीचे आया.

सेंसेक्स में 202 और निफ्टी में 64 अंकों से अधिक की गिरावटः
उतार-चढ़ाव भरे कारोबार में 30 शेयरों पर आधारित बीएसई सेंसेक्स 202.22 अंक यानी 0.42 प्रतिशत की गिरावट के साथ 47,878.45 अंक पर बंद हुआ. इसी प्रकार, नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 64.80 अंक यानी 0.45 प्रतिशत टूटकर 14,341.35 अंक पर बंद हुआ.

पावर ग्रिड, एनटीपीसी, इंडसइंड बैंक, एक्सिस बैंक, एचडीएफसी और एशियन पेंट्स को लाभः
सेंसेक्स के शेयरों में सर्वाधिक नुकसान में महिंद्रा एंड महिंद्रा रहा. यह 2 प्रतिशत से अधिक नीचे आया. इसके अलावा डा. रेड्डीज, भारती एयरटेल, टेक महिंद्रा, एचयूएल, आईसीआईसीआई बैंक और इन्फोसिस में भी गिरावट रही. दूसरी तरफ, पावर ग्रिड, एनटीपीसी, इंडसइंड बैंक, एक्सिस बैंक, एचडीएफसी और एशियन पेंट्स आदि शेयर लाभ में रहे.

कोविड-19 मामलों में वृद्धि कर रही निवेशकों की धारणा को प्रभावितः
रिलायंस सिक्योरिटीज के रणनीति प्रमुख विनोद मोदी ने कहा कि बाजार में उतार-चढ़ाव वाला दिन रहा और सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों को छोड़कर विभिन्न क्षेत्रों में बिकवाली दबाव से बाजार कारोबार के अंतिम चरण में नीचे आया. कोविड-19 संक्रमण के मामलों में लगातार वृद्धि निवेशकों की धारणा को प्रभावित कर रही है.

देश में 24 लाख से अधिक लोग संक्रमण की चपेट मेंः
स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़े के अनुसार देश में एक दिन में रिकॉर्ड 3,32,730 नए मामले सामने आने के बाद संक्रमण के कुल मामले बढ़कर 1,62,63,695 हो गए हैं. आंकड़े के मुताबिक 24 लाख से अधिक लोग संक्रमण की चपेट में हैं.

तोक्यो बाजार भी रहा नुकसान मेंः
एशिया के अन्य बाजारों में शंघाई, हांगकांग और सोल में तेजी रही जबकि तोक्यो बाजार नुकसान में रहा. यूरोप के प्रमुख बाजारों में मध्याह्न कारोबार में नुकसान का रुख रहा. इस बीच, अंतरराष्ट्रीय तेल मानक ब्रेंट क्रूड 0.06 प्रतिशत की गिरावट के साथ 65.36 डॉलर प्रति बैरल पर पहुंच गया.
सोर्स भाषा

और पढ़ें