बीकानेर में सात दिन चलता है होली का जश्न, रम्मतों की रिवायत आज भी है जारी 

Laxman Raghav Published Date 2019/03/20 06:53

बीकानेर (लक्ष्मण राघव)। रंगों के पर्व होली होली पर बीकानेर में भी जमकर होली का धमाल होता है। करीब 1 सप्ताह तक यहां के लोग होली के उल्लास में डूबे रहते हैं। फिर चाहे बात डोलची मार होली की हो, या आपस में व्यंग्य गीतों की। हालांकि एक जमाने में ये व्यंग्य गीत खासे अश्लील रहते थे, लेकिन बाद में जनकवि हरीश भादाणी की अगुवाई में होली पर नए गीत रच कर बदलाव के प्रयास हुए। कुल मिलाकर बीकानेर की होली आज भी मस्ती की फूल डोज है। 

बीकानेर में होली का उत्सव यूं तो थम्ब पूजन के साथ शूरू जो जाता है, लेकिन 7 दिन तो मस्ती में मानों सब सराबोर हो जाते है। रात भर रम्मतों का दौर चलता है। रम्मतों के जरिये राजतंत्र में व्यंग्य के साथ अपनी बात शासकों तक पहुँचाने का एक तरीका होता था, साथ ही रसरंग मनोरंजन के भी साधन थे। हेडाऊ मेहरी की रम्मत हो या अमर सिंह की रम्मत, यहां के बाशिन्दों ने आज भी इस परम्परा को ना केवल संजोए रखा है, अपितु उतने ही जोश के साथ उसे जी रहे है। समकालीन समस्याओं पर सटीक पर सहजता के साथ चोट, रम्मतों की उस वक्त उपादेयता को और बढ़ा देती है। उस जमाने  में जमुना दास कल्ला की रम्मत 'तेल डलाने का तोड़ा, सूख से ना मिले ना धोती जोड़ा' तत्कालीन राजकाज की महंगाई पर व्यंग्य था। इस बार राफेल मसले पर रम्मत 'राफेल में ऐसा फ़सगया फाइल्या ही ले भाग्या' खासी सुर्खियों में रही।

धुलण्डी से पहले भी बीकानेर में होली खेल ली जाती है। जी हाँ यहां की डोलची मार होली खासी प्रसिद्ध है। कहते है हर्षों और व्यासों में हुए एक विवाद को खत्म करने के लिए इस हल्के फुल्के तरीके से होली खेलने की रस्म को ईजाद किया गया कि चमड़े की डोलची में पानी भरकर एक दूसरे पर फेंकते है। वहीं बीकानेर की फागणिया फुटबॉल के तो कहने ही क्या। देश में चर्चा में रहने वाले हर शख्स को आप बीकानेर की इस फागणिया फुटबॉल में पा सकते है। जी हां ठीक समझा स्वांग धरे कलाकार, फुटबॉल खेलते नजर आते हैं। इस बार जांबाज अभिनन्द सबके आकर्षण का केन्द्र रहे। 

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in