Shammi Kapoor Birthday Special : इंडियन एल्विस प्रिंसले की शादी और अफेयर का किस्सा

FirstIndia Correspondent Published Date 2019/06/21 01:06

जयपुर : भारत के एल्विस प्रिंसले कहे जाने वाले एक्टर शम्मी कपूर का आज जन्मदिन है 21 अक्टूबर 1931 को मुंबई में जन्मे शम्मी कपूर का नाम पहले शमशेर रखा गया था. शम्मी कपूर का ज्यादातर बचपन पेशावर में कपूर हवेली में बीता था, जो अब पाकिस्तान का हिस्सा है. इसके साथ ही कोलकाता में भी कई सालों तक वह रहे.इसके बाद उन्होंने मुंबई में अपनी पढ़ाई पूरी की. शम्मी कपूर अपने परिवार के अकेले बच्चे थे जिनकी डिलीवरी अस्पताल में हुई थी वहीं, उनके पैदा होने के बाद उन्हें राजकुमारों की तरह पाला गया

शम्मी की शादी का किस्सा 

शम्मी कपूर इसके बाद फेमस ऐक्ट्रेस गीता बाली के नजदीक आए. दोनों का प्यार परवान चढ़ा और उन्होंने शादी का फैसला किया. हालांकि, कपूर परिवार इस रिश्ते के खिलाफ था. ऐसे में दोनों ने गुपचुप तरीके से मंदिर में शादी की. कहा जाता है कि इस दौरान उनके पास सिंदूर भी नहीं था ऐसे में शम्मी कपूर ने गीता बाली की लिपस्टिक से मांग भरी थी.शादी कर यह जोड़ा शम्मी कपूर के घर पहुंचा.कुछ दिनों तक परिवार वाले नाराज रहे लेकिन बाद में उन्होंने भी इस विवाह को सहमति दे दी.शम्मी और गीता को दो बच्चे हुए। इस हैपी कपल की शादी को 10 साल ही हुए थे कि गीता बाली को चेचक हो गया और उनकी हालत इतनी बिड़गी कि साल 1965 में उनका देहांत हो गया.

शम्मी कपूर का अफेयर 

शम्मी कपूर सबसे पहले अपने पिता पृथ्वीराज कपूर की थिअटर कंपनी से जुड़े साल 1953 में उनकी पहली फिल्म 'जीवन ज्योति' रिलीज हुई  शम्मी मिस्र की फेमस बेली डांसर के साथ रिलेशनशिप में थे, लेकिन जब वह वापस अपने देश लौट गईं तो दोनों का रिश्ता खत्म हो गया.

गीता बाली को शम्मी बहुत प्यार करते थे उनके निधन से वह डिप्रेशन में चले गए. उन्होंने खुद का ध्यान रखना छोड़ दिया. वह कई बार खाना तक नहीं खाते थे. साथ ही गम भूलने के लिए उन्होंने शराब का सहारा लिया.इस बीच उनकी ऐक्ट्रेस मुमताज से नजदीकियां बढ़ीं.शम्मी ने उन्हें प्रपोज कर दिया लेकिन 18 साल की मुमताज ने ऐसा करने से इंकार कर दिया. मुमताज का करियर ग्राफ तेजी से चढ़ रहा था और शम्मी कपूर ने मुमताज को पहले ही बता दिया था कि शादी के बाद उन्हें ऐक्टिंग छोड़नी पड़ेगी, जो ऐक्ट्रेस को मंजूर नहीं था.72 साल की मुमताज सिनेमाजगत से दूर हैं. एक वक्त ऐसा था कि बॉक्स ऑफिस पर उन्हीं का राज चलता था. मुमताज की जितनी फिल्में हिट हुई हैं उतने ही गाने भी सुपरहिट हुए.इन गानों में बिंदिया चमकेगी, जय जय शिवशंकर, आज कल तेरे मेरे प्यार के चर्चे और ये रेशमी जुल्फे आज भी लोगों की जुंबा पर चढ़े हुए हैं। मुमताज जितनी ऑनस्क्रीन सुंदर लगती थीं उससे कहीं ज्यादा असलियत में खूबसूरत हैं.कहा जाता है कि शम्मी कपूर भी मुमताज पर दिल हार बैठे थे. आज शम्मी कपूर की बर्थ एनिवर्सरी है, मुमताज से शम्मी कपूर और जीतेंद्र बेइंतहा प्यार करते थे. यहां तक कि वह शादी भी करना चाहते थे. एक इंटरव्यू के दौरान मुमताज ने इस बात का जिक्र भी किया था.मुमताज ने कहा था 'मैं अपने आप को खुशनसीब समझती हूं यह लोग मुझसे शादी करना चाहते थे. मुझे आकर्षण जरूर था उससे ज्यादा कुछ नहीं..

कैसे हुई शम्मी की दूसरी शादी

शम्मी दूसरी शादी करने को तैयार नहीं थे, लेकिन घरवालों ने उन्हें बच्चों का हवाला दिया. इसके बाद उनका रिश्ता गुजरात के भावनगर की पुरानी रॉयल फैमिली की नीला देवी से तय हुआ. शादी से पहले शम्मी ने यह शर्त रखी कि नीला कभी मां नहीं बनेंगी और उन्हें पहली पत्नी से हुए बच्चों का ध्यान रखना होगा. इस शर्त को मानने के बाद दोनों का विवाह हुआ.

साल 2011 में 7 अगस्त को शम्मी कपूर को गुर्दे की बीमारी के कारण भर्ती किया गया. उनकी हालत तेजी से बिगड़ी और उन्हें वेंटिलेटर सपॉर्ट दिया गया. 14 अगस्त 2011 को उनका इलाज के दौरान निधन हो गया.

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in