अनिल देशमुख के ED की छापेमारी मामले में शरद पंवार का बयान, कहा- हताशा के चलते किया जा रहा है परेशान

अनिल देशमुख के ED की छापेमारी मामले में शरद पंवार का बयान, कहा- हताशा के चलते किया जा रहा है परेशान

अनिल देशमुख के ED की छापेमारी मामले में शरद पंवार का बयान, कहा- हताशा के चलते किया जा रहा है परेशान

पुणे: राकांपा प्रमुख शरद पवार ने शुक्रवार को कहा कि अनिल देशमुख को हताशा के चलते परेशान करने का प्रयास किया जा रहा है क्योंकि उनके और उनके परिवार के खिलाफ जांच में कुछ भी सामने नहीं आया है. उल्लेखनीय है कि प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने देशमुख की संपत्तियों पर छापेमारी की है. ईडी ने शुक्रवार को देशमुख के नागपुर और मुंबई स्थित आवासों पर छापेमारी की. मुंबई के पूर्व पुलिस आयुक्त परमबीर सिंह द्वारा लगाए गए भ्रष्टाचार के आरोपों के बाद राकांपा नेता देशमुख ने महाराष्ट्र के गृह मंत्री के पद से इस्तीफा दे दिया था.

हम ईडी की कार्रवाई से बिल्कुल भी चिंतित नहीं है: पंवार
पवार ने कहा कि पहले कुछ (केंद्रीय) एजेंसियों ने उनके बेटे के कारोबार पर ध्यान दिया था. जहां तक ​​मुझे पता है, उन्हें कुछ नहीं मिला. इसलिए हताशा में, यह कोशिश की जा रही है कि क्या उन्हें (अनिल देशमुख) को किसी अन्य तरीके से परेशान किया जा सकता है. पवार ने यहां संवाददाताओं से कहा कि ये सभी चीजें हमारे लिए नयी नहीं हैं. अनिल देशमुख (ऐसी कार्रवाई का सामना करने वाले) पहले नहीं हैं. सत्ता में रहने वालों ने सत्ता के इस्तेमाल का एक नया चलन दिखाया है. अब उस मुद्दे पर बात करने की अब जरूरत नहीं है. हम इसके बारे में बिल्कुल भी चिंतित नहीं हैं.

प्रदेश भाजपा द्वारा राकांपा नेता एवं उपमुख्यमंत्री अजित पवार और शिवसेना मंत्री अनिल परब के खिलाफ सीबीआई जांच की मांग का प्रस्ताव पारित किये जाने के बारे में पूछे जाने पर पवार ने कहा कि यह अनोखी बात है.

पवार ने कहा कि एक राष्ट्रीय दल द्वारा किसी विपक्षी दल के नेताओं के खिलाफ जांच की मांग का प्रस्ताव पारित करना कभी सुना नहीं गया है. चंद्रकांत पाटिल (प्रदेश भाजपा प्रमुख) ने कई उपलब्धियां हासिल की हैं, वह ऐसे काम कर सकते हैं जिसके बारे में अभी तक देखा या सुना नहीं गया है, इसलिए हमें आश्चर्य नहीं है.

पवार एक कार्यक्रम के बाद बोल रहे थे, जहां पूर्व केंद्रीय मंत्री सुबोध मोहिते अपने समर्थकों के साथ राकांपा में शामिल हुए. मोहिते इससे पहले कई अन्य पार्टियों में रह चुके हैं.
 

और पढ़ें