नई दिल्ली महुआ मोइत्रा की काली को लेकर टिप्पणी के विवाद पर शशि थरूर ने जताई हैरानी, कहा- जो भी ट्वीट करता हूं, वह मेरी निजी राय

महुआ मोइत्रा की काली को लेकर टिप्पणी के विवाद पर शशि थरूर ने जताई हैरानी, कहा- जो भी ट्वीट करता हूं, वह मेरी निजी राय

महुआ मोइत्रा की काली को लेकर टिप्पणी के विवाद पर शशि थरूर ने जताई हैरानी, कहा-  जो भी ट्वीट करता हूं, वह मेरी निजी राय

नई दिल्ली: कांग्रेस के वरिष्ठ नेता शशि थरूर ने बृहस्पतिवार को कहा कि जो कुछ भी वह ट्वीट करते हैं वह उनकी निजी राय होती है.

उन्होंने यह टिप्पणी उस वक्त की है जब देवी काली को लेकर तृणमूल कांग्रेस की सांसद महुआ मोइत्रा की एक टिप्पणी के बाद उठे विवाद पर उन्होंने हैरानी जताई थी जिसके बाद सोशल मीडिया में कुछ लोगों इसे कांग्रेस की राय से जोड़ दिया. थरूर ने कहा कि मैं जो भी ट्वीट करता हूं, वह मेरी निजी राय होती है. इसके अलावा कोई दूसरा कुछ नहीं होता. लोकसभा सदस्य थरूर ने बुधवार को कहा था कि वह देवी काली पर तृणमूल कांग्रेस की सांसद महुआ मोइत्रा की टिप्पणी को लेकर उन पर (मोइत्रा पर) हुए हमले से हैरान रह गए.

देवी के रूप में कल्पना करने का पूरा अधिकार:
उन्होंने लोगों से ज्यादा गंभीर न होने और धर्म का व्यक्तिगत रूप से आचरण करने के लिए उसे व्यक्ति पर छोड़ने का भी आग्रह किया था. तृणमूल कांग्रेस की लोकसभा सदस्य महुआ मोइत्रा ने मंगलवार को यह कहकर विवाद खड़ा कर दिया था कि जिस तरह हर व्यक्ति को अपने तरीके से देवी-देवताओं की पूजा करने का अधिकार है, उसी तरह उन्हें देवी काली के मांस भक्षण करने एवं मदिरा स्वीकार करने वाली देवी के रूप में कल्पना करने का पूरा अधिकार है. 

भारतीय जनता पार्टी ने मोइत्रा पर उनके इस बयान को लेकर कड़ा प्रहार किया था और सवाल किया था कि क्या यह हिंदू देवी-देवताओं का अपमान करने का पश्चिम बंगाल की सत्तारूढ़ पार्टी का आधिकारिक रूख है .वहीं, पश्चिम बंगाल के सत्तारूढ़ दल तृणमूल कांग्रेस ने अपनी सांसद की इस टिप्पणी से खुद को अलग कर लिया. सोर्स-भाषा

और पढ़ें