न्यूयॉर्क WHO प्रमुख ने सलमान रुश्दी पर हुए हमले को बताया कायरतापूर्ण और घिनौन कृत्य, कहा- हमले से स्तब्ध और दुखी हूं

WHO प्रमुख ने सलमान रुश्दी पर हुए हमले को बताया कायरतापूर्ण और घिनौन कृत्य, कहा- हमले से स्तब्ध और दुखी हूं

WHO प्रमुख ने सलमान रुश्दी पर हुए हमले को बताया कायरतापूर्ण और घिनौन कृत्य, कहा- हमले से स्तब्ध और दुखी हूं

न्यूयॉर्क: विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के महानिदेशक टेड्रोस एडनॉम घेब्रेयसस ने प्रख्यात लेखक सलमान रुश्दी पर हुए हमले को “कायरतापूर्ण और घिनौना“ कृत्य करार देते हुए कहा है कि वह इससे स्तब्ध और बेहद दुखी हैं.

घेब्रेयसस ने ट्वीट किया कि सलमान रुश्दी पर हुए हमले से स्तब्ध और बेहद दुखी हूं. यह एक “कायरतापूर्ण और घिनौना“ कृत्य है. मेरी प्रार्थनाएं उनके और उनके प्रियजनों के साथ हैं. अमेरिका के न्यूयॉर्क शहर में शुक्रवार को एक कार्यक्रम के दौरान सलमान रुश्दी पर हमला हुआ था.

हमले में गंभीर रूप से घायल हुए रुश्दी वेंटिलेटर पर:
मुंबई में जन्मे और बुकर पुरस्कार से सम्मानित रुश्दी (75) पश्चिमी न्यूयॉर्क के चौटाउक्वा संस्थान में एक कार्यक्रम के दौरान अपना व्याख्यान शुरू करने वाले ही थे कि तभी आरोपी मंच पर चढ़ा और रुश्दी को घूंसे मारे और चाकू से हमला कर दिया. हमले में गंभीर रूप से घायल हुए रुश्दी वेंटिलेटर पर हैं.

विवादास्पद लेखक रुश्दी को ‘‘द सैटेनिक वर्सेज’’ लिखने के बाद वर्षों तक इस्लामी चरमपंथियों से मौत की धमकियों का सामना करना पड़ा था. उन्हें न्यूजर्सी के 24-वर्षीय निवासी हादी मतार ने पश्चिमी न्यूयॉर्क राज्य में एक कार्यक्रम में चाकू मार दिया.

हत्या के लिए फतवा जारी किया था:
रुश्दी की चौथी पुस्तक द सैटेनिक वर्सेज 1988 में आने के बाद उन्हें नौ साल तक छिपकर रहना पड़ा. इस पुस्तक को लेकर ईरान के तत्कालीन सर्वोच्च धार्मिक नेता आयतुल्ला खामनेई ने रुश्दी पर ईशनिंदा का आरोप लगाते हुए उनकी हत्या के लिए फतवा जारी किया था.

सलमान रुश्दी पर चाकू से हमला करने वाले न्यू जर्सी निवासी 24 वर्षीय हदी मतार पर हत्या का प्रयास और हमला करने के आरोप लगाये गये हैं. न्यूयॉर्क राज्य पुलिस ने कहा कि आपराधिक जांच ब्यूरो ने शुक्रवार को मतार को हत्या का प्रयास और हमला करने के आरोप में गिरफ्तार किया. मतार को पुलिस कार्यालय ले जाने के बाद चौटाउक्वा काउंटी जेल भेजा गया है. सोर्स-भाषा

और पढ़ें