सीकर Sikar: कड़ी सुरक्षा के बीच निकाला ताजिया जुलूस, चप्पे-चप्पे पर पुलिस रही तैनात

Sikar: कड़ी सुरक्षा के बीच निकाला ताजिया जुलूस, चप्पे-चप्पे पर पुलिस रही तैनात

Sikar: कड़ी सुरक्षा के बीच निकाला ताजिया जुलूस, चप्पे-चप्पे पर पुलिस रही तैनात

फतेहपुर(सीकर): इमाम हुसैन की याद में मनाया जाने वाला मोहर्रम (Muharram) मातमी धुनों और अली या हुसैन की शहादत के बीच मंगलवार को ताजिया जुलूस निकाला गया. जानकारी के अनुसार कस्बे में 10 ताजिया निकाले जाएंगे. जिनमें से दो ताजिया अपने स्थान पर रहते हैं. एक ताजिया बेसवा गांव में निकलता है. ताजिया पीर के रोजा से शुरू होकर वापस कर्बला पीर के रोजा पहुंचा. इस मौके पर ढोल-ताशों से मातमी धुन बजाई गई. 

ताजियों का यह काफिला नगर के विभिन्न मार्गों से होता हुआ कर्बला पीर के रोजा पहुंचा. मोहर्रम माह की 10 तारीख पर मुसलमानों ने अपने गम और गुस्से का इजहार करते हुए इमाम हुसैन की शहादत पर ताजिये निकाले. पीर सैयद अहमद ने बताया कि पीर के रोजा से लुहारों का मोहल्ला, चुरू स्टैंड, पुराना सिनेमा हॉल होते हुए बावड़ी गेट, आसाराम मंदिर, सिकरीया रास्ता, आजाद स्कूल और मोदी हॉस्पिटल होते हुए वापस कर्बला पीर के रोजा पहुंचा. 

पीर के रोजा का ताजिया सोने चांदी से बनाया गया:

पीर के रोजा का ताजिया सोने चांदी से बनाया गया है जो 10 फुट लंबा 4 फुट चौड़ा है. जिसकी लागत करीब 10 लाख रुपए है. जुलूस के दौरान पुलिस प्रशासन ने सुरक्षा को लेकर छतों से निगरानी रखी. डीएसपी राजेश कुमार ने बताया कि कस्बे से 10 और बेसवा से एक ताजिया निकलेगा. ताजिया जुलूस के दौरान सुरक्षा को लेकर पुलिस प्रशासन मुस्तैद रही.

और पढ़ें