सीकर पुलिस ने किया डकैती की बड़ी वारदात का खुलासा

FirstIndia Correspondent Published Date 2019/03/23 03:47

सीकर। जिले में सीकर पुलिस ने आज तक की सबसे बड़ी डकैती का खुलासा किया है। पुलिस महा निरीक्षक एस सेंगाथिर और पुलिस अधीक्षक डॉक्टर अमनदीप ने पुलिस अधीक्षक कार्यालय में आयोजित प्रेसवार्ता में बताया कि पुलिस को आज बड़ी सफलता मिली है और पुलिस ने सोने के 5 तस्करों को गिरफ्तार किया है। इनसे करीब 4 किलो 300 ग्राम सोना भी बरामद किया गया है। इस सोने की कीमत बाजार में करीब डेढ़ करोड़ रुपए है। 

सीकर पुलिस ने इन गिरफ्तार आरोपियों से तीन गाड़ियां कैंपर ब्रेजा और शिफ्ट भी जब्त कि है। इसी के साथ बदमाशों से 315 बोर का एक कट्टा भी जप्त किया गया। गिरफ्तार आरोपी चैन सिंह इकबाल नागौर जिले के तथा बलराम जवान और विजय सीकर जिले के रहने वाले हैं घटनाक्रम के मुताबिक 7 मार्च को सुल्तान खा निवासी नागौर ने नीम का थाना में एक प्रकरण दर्ज कराया था कि वह नीमकाथाना के बाईपास से अंडरपास निकल रहे थे उसी दौरान एक कैंपर गाड़ी और पीछे से एक स्विफ्ट गाड़ी ने आकर उन्हें रोक लिया और हथियार की नोक पर 30 हजार और अन्य सामान लुटकर फरार हो गए। इस वारदात के बाद पुलिस ने कार्रवाई करते हुए बदमाशों का पीछा किया लेकिन दर्ज प्रकरण में परिवादी ने घटना में सोने की लूट को छुपाया था।  

पुलिस ने टीम गठित कर मामले की जांच शुरू की तो इस पूरे घटनाक्रम में 8 लोगों की ओर से डकैती को अंजाम देने की बात सामने आई।  इस पर पुलिस ने 5 लोगों को गिरफ्तार किया  है लेकिन सबसे बड़ी बात यह है की यह सोना विदेश से तस्करी होकर आया था और नागौर लाया जा रहा था इसी दौरान वारदात को अंजाम दिया गया। वारदात का जो तरीका सामने आया वह बड़ा चौंकाने वाला तरीका था सोने को स्पीकर और इलेक्ट्रिक प्रेस में छुपाया गया था सोने पर एलुमिनियम का रंग भी किया गया था । गिरफ्तार आरोपियों से पुलिस कड़ाई से पूछताछ कर रही है । इन लोगों पर राज्य भर में डकैती, सोने की तस्करी सहित दर्जनों वारदातों के प्रकरण दर्ज है । अब तक की पूछताछ में यह भी सामने आया है कि इन लोगों ने सीकर में भी कई वारदातों को अंजाम दिया है । 

सीकर जिले के रानोली सदर नीम का थाना सहित कई थानों में इन लोगों के खिलाफ प्रकरण दर्ज है। मुलजिम चैन सिंह नागौर जिले का हिस्ट्रीशीटर है और इस पर 8 प्रकरण दर्ज है। इकबाल भी  हिस्ट्रीशीटर है इस पर 9 प्रकरण दर्ज है,  बिरजू अपराधी हथियार सप्लाई का काम भी करता है इसकी गिरफ्तारी से राज्य भर में कई बड़ी वारदातें खुलने की संभावना है। सभी गिरफ्तार आरोपी हार्डकोर अपराधी है। पुलिस महा निरीक्षक एस सेंगाथिर एवं पुलिस अधीक्षक अमनदीप सिंह कपूर के प्रयासों से इतनी बड़ी वारदात का खुलासा हुआ है। इस वारदात में फरार तीन आरोपियों को पुलिस गिरफ्तार करने में जुटी हुई है इनकी पहचान कर ली गई है। 

आयोजित प्रेसवार्ता में पुलिस महानिरीक्षक ने पुलिस अधीक्षक डॉक्टर अमनदीप अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक नीमकाथाना दिनेश अग्रवाल पुलिस उप अधीक्षक  नीमकाथाना सहित पूरी टीम को बधाई दी और कहा कि इन लोगों ने बेहतरीन कार्य किया है और उनके लिए राज्य सरकार को बेहतरीन कार्य के लिये लिखेंगे। 

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in