सिरोही Sirohi: प्रशासन के रवैये से परेशान महिला उद्यमी ने अपनाया भूख हड़ताल का रास्ता

Sirohi: प्रशासन के रवैये से परेशान महिला उद्यमी ने अपनाया भूख हड़ताल का रास्ता

Sirohi: प्रशासन के रवैये से परेशान महिला उद्यमी ने अपनाया भूख हड़ताल का रास्ता

सिरोही: प्रदेश के एक मात्र हिल स्टेशन माउंट आबू (Mount Abu) का प्रशासन किस तरह से नेताओं के दबाव में आकर आमलोगों को परेशान करने का काम कर रहा है इसका जीता जागता उदाहरण आज आबू की एक उद्यमी के भूख हड़ताल पर बैठने से ही जाहिर हो जाता है. माउंट आबू के शांति होटल (Shanti Hotel Mount Abu) की मालकिन मंजू गुरबानी को आज प्रशासन के रवैये से दुःखी होकर माउंट आबू स्थित अम्बेडकर सर्किल पर अनिश्चितकालीन भूख पर बैठना पड़ा है.

भूख हड़ताल पर बैठी मंजू गुरबानी ने बताया कि उनकी मालिकाना हक की होटल शांति के सेटबैक एरिया में पड़ोसी होटल व्यवसायी द्वारा अतिक्रमण किया गया है. होटल की गट्टर लाइन से लेकर पिलर्स तक पर कब्जा कर लिया गया. इसके साथ ही होटल के कमरों की खिलाड़ियों को भी बंद कर दिया गया है साथ ही उन्हें बार-बार परेशान किया जा रहा है.

जिसको लेकर मंजू गुरबानी ने उपखंड प्रशासन (Subdivision Administration) को लिखित और मौखिक रूप से अवगत करवाया लेकिन पड़ोसी होटल व्यवसायी एक पूर्व विधायक का रिश्तेदार होने के कारण प्रशासन पीड़ित की शिकायतों पर ध्यान ही नहीं दे रहा है. पीड़िता ने परेशान होकर राजस्थान उच्च न्यायालय (Rajasthan High Court) की शरण ली और हाईकोर्ट ने उपखण्ड प्रशासन को इसकी जांच करवाकर शिकायत के निवारण के आदेश भी दिए.

पीड़िता पिछले 2 सालों से परेशानी झेल रही है:

लेकिन उपखण्ड प्रशासन राजनैतिक दबाव के चलते कमेटी बनाने के खेल-खेलकर समय निकालता जा रहा है. पीड़िता पिछले 2 सालों से परेशानी झेल रही है. लेकिन अभी तक उपखण्ड प्रशासन की किसी भी कमेटी ने जांच करके शिकायत का निवारण नहीं किया है. जिससे अत्यधिक परेशान होकर आज उद्यमी मंजू गुरबानी ने भूख हड़ताल पर बैठने का फैसला लिया.

और पढ़ें