अपनी ही सहेली की सौतन बन बैठी थी स्मृति ईरानी, जुबिन को दिल देने के बाद चुपके से की थी शादी 

अपनी ही सहेली की सौतन बन बैठी थी स्मृति ईरानी, जुबिन को दिल देने के बाद चुपके से की थी शादी 

अपनी ही सहेली की सौतन बन बैठी थी स्मृति ईरानी, जुबिन को दिल देने के बाद चुपके से की थी शादी 

मुंबई: टीवी के सबसे पॉपुलर सीरियल क्योंकि सास भी कभी बहू थी में तुलसी का किरदार निभाने वाली अदाकारा स्मृति ईरानी आज किसी परिचय की मोहताज नहीं है. स्मृति ईरानी मनोरंजन की दुनिया में अपनी अदाकारी का जलवा बिखेरने के बाद  राजनीति की दुनिया में भी एक बड़ा मुकाम हासिल किया है और आज स्मृति ईरानी पॉलिटिक्स की दुनिया में काफी ज्यादा नाम कमा रही हैं और वही इस मुकाम को हासिल करने के लिए स्मृति ईरानी ने अपने जीवन में काफी संघर्ष किया है. 

मनोरंजन की दुनिया में अपनी एक अलग पहचान बनाने का ख्वाब लेकर मुंबई आई थी ईरानी:
स्मृति ईरानी महज 20 साल की उम्र में  मनोरंजन की दुनिया में अपनी एक अलग पहचान बनाने का ख्वाब लेकर मुंबई आई थी और वही एक्टिंग की दुनिया में अपना करियर बनाने के लिए स्मृति ईरानी को अपना घर तक भी छोड़ना पड़ा था क्योंकि उनके घर वाले नहीं चाहते थे कि स्मृति ईरानी मॉडलिंग में अपना करियर बनाएं पर स्मृति ईरानी ने अपने सपने के आगे किसी की एक न सुनी और वह अपना घर बार छोड़कर मुंबई आ गई और अपने मेहनत और टैलेंट के दम पर एक्टिंग की दुनिया में अपनी एक अलग पहचान बनाने में कामयाब हुई और इसके बाद स्मृति ईरानी पॉलिटिक्स की दुनिया में कदम रखें और यहां भी उन्हें अपार सफलता हासिल हुई.

स्मृति ईरानी को काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ा था:
बता दे मनोरंजन की दुनिया में पहचान बनाने के लिए स्मृति ईरानी को काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ा था और अपने करियर के शुरुआती दिनों में स्मृति ईरानी पैसों के लिए रेस्टोरेंट में  टेबल और बेंच साफ करने का काम किया करती थी और इसके साथ ही मॉडलिंग की दुनिया में अपना कैरियर बनाने के लिए भी स्मृति ईरानी अपना प्रयास जारी रखी थी और इसी दौरान स्मृति ईरानी की मुलाकात एक बेहद ही रईस पारसी महिला से हुई और एक दो मुलाकात के बाद ही दोनों के बीच काफी गहरी दोस्ती हो गई और इस महिला का नाम था मोना ईरानी जोकि  एक बहुत ही खानदान की बहु थी और वही मोना स्मृति ईरानी को बेहद प्यार और सम्मान देती थी. 

सहेली मोना को नहीं पता था कि स्मृती उजाड देगी इसका घर:
बता दे स्मृति ईरानी के करियर के शुरुआती दिनों में जब इनके पास फ्लैट का देने के लिए पैसे नहीं होते थे तब मोना उन्हें अपने घर ले जाती थी और उन्हें अपने साथ रखती थी पर मोना को पता नहीं था कि उनकी यह दरियादिली उनका ही घर घर उजाड़ देगी और जब स्मृति ईरानी मोना के घर ज्यादा आने जाने लगी तब इनकी नज़दीकियां मोना के पति जुबिन ईरानी के साथ भी बढ़ने लगी और कुछ समय के बाद स्मृति ईरानी और जुबिन एक दूसरे के इतने करीब आ गए की  मोना की बसी बसाई गृहस्ती एक ही झटके में उजड़  गयी  बता दे मोना के पति जुबिन ईरानी अपनी पत्नी की दोस्त स्मृति ईरानी के प्रेम में इस कदर पागल हो गए की उन्होंने अपनी पत्नी मोना को तलाक दे दिया और साल 2001 में जुबिन ईरानी ने स्मृति ईरानी संग शादी रचा ली और अपना घर बसा लिया और आज स्मृति अपने परिवार के साथ हैप्पी लाइफ एन्जॉय कर रही है. 

शादी करने के बाद जुबिन ईरानी ने मोना को घर से निकाल दिया था:
वही खबरों की माने तो स्मृति ईरानी से शादी करने के बाद जुबिन ईरानी ने मोना को घर से निकाल दिया और उनकी जिंदगी उनकी सहेली ईरानी की वजह से पूरी तरह तबाह हो गई और स्मृति ईरानी अपनी सहेली की सौतन बन गई. वही स्मृति ईरानी का एक्टिंग करियर काफी ज्यादा सफल रहा है और एक्टिंग की दुनिया में अपनी पहचान बनाने के बाद  स्मृति ईरानी राजनीति में अपना कदम रखी और यहां भी उन्हें अपार सफलता हासिल हुई और आज स्मृति ईरानी भारत सरकार के अंतर्गत महिला एवं बाल विकास मंत्री के पद पर कार्यरत हैं  और वह राजनीति के क्षेत्र में काफी ज्यादा नाम कमा रही हैं.

और पढ़ें