सर्किट हाउस परिसर से चंदन के तीन पेड़ काट ले गए तस्कर, सुरक्षा व्यवस्था पर उठे सवाल

सर्किट हाउस परिसर से चंदन के तीन पेड़ काट ले गए तस्कर, सुरक्षा व्यवस्था पर उठे सवाल

सर्किट हाउस परिसर से चंदन के तीन पेड़ काट ले गए तस्कर, सुरक्षा व्यवस्था पर उठे सवाल

करौली: जिला मुख्यालय पर सर्किट हाउस परिसर के विलास उद्यान से चंदन तस्कर बीती रात चंदन के तीन पेड़ काट ले गए. पुलिस प्रशासन के आला अधिकारियों के आवास और अति सुरक्षित माने जाने वाले इस परिसर से चंदन के पेड़ कटना सुरक्षा व्यवस्था पर सवाल खड़े करता है. यहां यह भी गौरतलब है कि उद्यान परिसर के मुख्य द्वार पर पुलिस चौकी लगी हुई है वहीं समीप ही डीजे की सुरक्षा गार्ड चौकी भी स्थापित है. सुबह चंदन के पेड़ कटे देखकर सनसनी फैल गई और लोगों में पुलिस सुरक्षा को लेकर चर्चा रही. गौरतलब है कि करौली सर्किट हाउस में कलक्टर, एसपी, एएसपी, एडीएम, डीएसपी, न्यायिक अधिकारी सहित पुलिस प्रशासन के अधिकारियों के आवास स्थित है. वहीं कुछ दिन पूर्व ही एसपी ने सर्किट हाउस के मुख्य द्वार पर पुलिस चौकी भी स्थापित की थी. साथ ही सर्किट हाउस के एक रास्ते को वाहनों की आवाजाही के लिए बंद कर दिया है, जिससे आमजन को आने जाने में परेशानी होती है. इसके बाद भी एक ही रात में तीन चंदन के पेड़ कटना पुलिस की कार्यप्रणाली पर सवाल खड़े करता है.

घटना को लेकर शहर के लोगों ने आक्रोश: 
चंदन के पेड़ काटने का पता सुबह उस वक्त लगा जब मॉर्निंग वॉक को पहुंचे स्थानीय लोगों ने सर्किट हाउस में चंदन की कटी हुई टहनियां पड़ी देखी. टहनियां पड़ी देखकर मॉर्निंग वॉक करने वाले लोगों ने चंदन के पेड़ काटने वाले स्थानों का जायजा लेकर सर्किट हाउस अधिकारी और पुलिस प्रशासन के अधिकारियों को घटना से अवगत कराया. लेकिन गंभीर बात ये है कि जानकारी मिलने के बाद भी किसी अधिकारी ने मौका मुआयना करने की जहमत नहीं उठाई. घटना को लेकर शहर के लोगों ने आक्रोश जताया है. दें कि सर्किट में 500 से अधिक चंदन के पेड़ थे. जिन्हें लंबे समय से चोरों द्वारा निशाना बनाया जाता रहा है. समय-समय पर लगातार चोरों द्वारा पेड़ काटने के कारण अब सर्किट हाउस में मात्र कुछ दर्जन पेड़ ही शेष रहे है. 

और पढ़ें