राहत भरी भविष्यवाणी..! तो अप्रैल मध्य तक हो जाएगा कोरोना वायरस का खात्मा, ज्योतिषीय गणनाओं में हुआ खुलासा

राहत भरी भविष्यवाणी..! तो अप्रैल मध्य तक हो जाएगा कोरोना वायरस का खात्मा, ज्योतिषीय गणनाओं में हुआ खुलासा

नई दिल्ली: आज पूरी दुनिया के सामने कोरोना वायरस एक चिंता का विषय बनकर सामने आया है. ना ही इसकी अभी तक कोई दवा बन पाई है. बस एक ही बचाव है वो है सोशल डिस्टेंसिंग. इस महामारी से दुनिया के कई देश जुझ रहे है. वहीं एक भविष्यवाणी की बात करे तो, उसमें बताया गया है कि कोरोना वायरस का खात्मा मध्य अप्रैल से शुरू हो जाएगा. कोरोना के खौफ के बीच यह राहत भरी भविष्यवाणी है. जिसमें बताया ​गया है कि भारतीय पंचांगों ने उन्हीं ज्योतिषीय गणनाओं के आधार पर की है, जिसके आधार पर उन्होंने सालभर पहले ही बता दिया था कि दुनिया का साल 2020 विषाणुजनित महामारी से जूझेगा. खबरों के मुताबिक महामारी का उल्लेख भारतीय पंचांगों ने साल भर पहले ही कर दिया था. भारतीय पंचांग चैत्र माह में हिंदू नववर्ष की शुरुआत पर उपलब्ध हो जाते हैं, जिनकी छपाई इससे भी पहले पूर्ण कर ली जाती है. गत वर्ष प्रकाशित श्री ऋषिकेष हिंदी पंचांग के पृष्ठ 3 पर दुनिया और भारत का फल शीर्षक के अंतर्गत किसी विषाणुजनित महामारी के संकेत बताएं गए थे. 

BJP स्थापना दिवस : PM मोदी का संबोधन, कहा-हमने हर स्तर पर कोरोना के खिलाफ प्रयास किए, WHO ने भी भारत के प्रयासों को सराहा

चीन में 2019 में शुरू हो गई थी महामारी:
भविष्यवाणी में यह भी बताया गया है कि चीन में कोरोना वायरस का प्रभाव दिसंबर 2019 से दिखना शुरू हो गया था, लेकिन फरवरी-मार्च 2019 में प्रकाशित हो चुके भारतीय पंचांगों को देखें तो इनमें वैश्विक महामारी के संकेत दे दिए गए थे. अब जब यही ज्योतिषशास्त्री कह रहे हैं कि 14 अप्रैल के बाद कोराना का प्रभाव कम होने लग जाएगा, तो इस पर विश्वास न करने का कोई तर्क नहीं है. 

बुरे प्रभाव में आने लगेगी कमी:
ज्योतिषीय गणनाओं के मुताबिक कोरोना की वजह से 14 अप्रैल तक वक्त ज्यादा खराब है. इसके बाद धीरे धीरे कोरोना वायरस का खात्मा होने लग जाएगा. यह बात भारत वर्ष की कुंडली के आधार पर सामने आई है. आपको बता दें कि भारतीय नववर्ष का प्रारंभ चैत्र शुक्ल प्रतिपदा 25 मार्च, 2020 दिन बुधवार से शुरू हुआ. यानी आनेवाले साल के राजा बुध है. उनके साथ मंत्री के रूप में चंद्र रहेंगे. इन दोनों के प्रभाव से इस रोग का खात्मा जून 2020 तक हो जाएगा. 13 अप्रैल को रात्रि 8.23 मिनट से सूर्य का संक्रमण मीन राशि से मेष राशि में होगा. उसके बाद कोरोना महामारी के बुरे प्रभाव में कमियां नजर आने लगेगी. इस वायरस के मरीज कम होने लगेंगे. 27 और 28 अप्रैल के बाद सूर्य का संक्रमण मेष में 15 डिग्री से आगे बढ़ने पृथ्वी स्थित वासी इसके बुरे प्रभाव से बचने लगेंगे. तो यह बात ज्योतिषीय गणनाओं के आधार पर सामने आई है. 

देशभर में मनाई जा रही है महावीर जयंती, घरों में ही हो रही है विशेष पूजा, सोशल डिस्टेंसिंग की पालना

और पढ़ें