उदयपुर नव संकल्प शिविर में सोनिया गांधी का ऐलान, "भारत जोड़ो" हमारा नया राष्ट्रीय अभियान

नव संकल्प शिविर में सोनिया गांधी का ऐलान, "भारत जोड़ो" हमारा नया राष्ट्रीय अभियान

नव संकल्प शिविर में सोनिया गांधी का ऐलान,

उदयपुर: राजस्थान के उदयपुर में नव संकल्प शिविर में कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने कहा कि हम 2 अक्टूबर गांधी जयंती से राष्ट्रीय कन्याकुमारी से कश्मीर भारत जोड़ो यात्रा शुरू करेंगे. इसमें युवाओं के साथ हम सभी शामिल होंगे. उन्होंने कहा कि हमें मेरे जैसे वरिष्ठों को आसानी से बिना थके भाग लेने के लिए समायोजित करने का एक तरीका खोजना होगा. हम जीतेंगे, यही हमारा संकल्प है, यही हमारा नव संकल्प है. राजस्थान के उदयपुर में नव संकल्प शिविर में कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कहा कि हमें इस विचार को सुनिश्चित करना चाहिए कि प्रति परिवार एक व्यक्ति को चुनाव लड़ने के लिए टिकट मिले. यह बहुत महत्वपूर्ण है कि हम अपने संगठन में शामिल परिवार के सदस्यों की संख्या को सीमित करें, और उन्हें काम करने दें, विकसित करें और फिर उन्हें संगठन में शामिल होने दें. लेकिन हमारे पास ऐसी स्थिति नहीं है, जहां एक परिवार के 5-7 सदस्य संगठन में हों.

राजस्थान के उदयपुर में कांग्रेस के चिंतन शिविर का आज आखिरी दिन कुछ देर पहले ही कांग्रेस अध्यक्ष सेनिया गांधी की अध्यक्षता में कांग्रेस कार्यकारिणी की बैठक खत्म हुई है. बैठक खत्म होने के बाद कांग्रेस नेता राहुल गांधी शिविर को संबोधित कर रहे हैं. राहुल गांधी ने कहा कि आज देश के युवाओं को रोजगार नहीं मिल सकता है. नरेंद्र मोदी जी ने दो करोड़ युवाओं को रोजगार देने की बात की. बेरोजगारी आज से ज्यादा कभी भी नहीं रहा है. ये उनके आंकड़े हैं, हमारे आंकड़े नहीं है. ऐसा इसलिए क्योंकि जो रोजगार पैदा करती है उस रीढ़ की हड्डी को नरेंद्र मोदी जी ने बीजेपी ने और उनकी विचारधारा ने तोड़ दिया है. नोटबंदी, जीएसटी यह लागू करके, पूरा फायदा दो से तीन उद्योगपतियों को देकर सरकार ने देश के युवाओं की भविष्य को नष्ट कर दिया है.

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष ने कहा कि आने वाले समय में आपको देखने को मिलेगा कि देश का युवा को रोजगार नहीं मिल पाएगा. एक तरफ बेरोजगारी और दूसरी तरफ महंगाई. यूक्रेन में युद्ध हो रहा है. ऐसे में आने वाले समय में महंगाई जबरदस्त तरकी से बढ़ेगी. इसके लिए जिम्मेदार कौन है? कांग्रेस पार्टी जिम्मेदार नहीं है. इसके लिए कांग्रेस पार्टी जिम्मेदार नहीं है. बीजेपी जिम्मेदार है, सरकार जिम्मेदार है.

कांग्रेस नेता ने कहा कि हमारी भी एक जिम्मेदारी है. जो विचारधारा की लड़ाई है उसको लड़ने की है. जनता के साथ खड़े होने की है. हमारी शिकायत है कि हमारी पूरी की पूरी बातचीत, हमारी पूरी आंतरिक मामले में होती है. कौन सी पोस्ट किसे मिल रही है, हमारा फोकस आंतरिक रहता है. आज के समय में आंतरिक फोकस से हमारा काम नहीं होने वाला है. हमें जनता की ओर ध्यान देना पड़ेगा. जनता के पास हमे जाना पड़ेगा. सिर्फ हमारे लिए नहीं, देश के लिए. प्रेस में पूरा डिस्कशन कांग्रेस पार्टी की पोजिशन के बारे में होता है.

उन्होंने कहा कि हमें बिना सोचे जनता के बीच जाकर बैठ जाना चाहिए जो उनकी समस्या है उसे समझना चाहिए, हमारा जनता के साथ जो कनेक्शन था उस कनेक्शन को फिर से बनाना पड़ेगा. जनता जानती है कि कांग्रेस पार्टी ही देश को आगे ले जा सकती है. राहुल गांधी ने कहा कि कांग्रेस पार्टी ने निर्णय लिया है कि अक्टूबर महीने में पूरी कांग्रेस पार्टी जनता के बीच जाएगी और यात्रा करेगी. जनता के साथ जो रिश्ता कांग्रेस का था उसे फिर से पूरा करेगी. ये शॉर्टकट से नहीं होने वाला है और ये काम पसीना बहाकर ही किया जा सकता है.

शिविर को संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने कहा कि जो आरएसएस और बीजेपी की विचारधारा है, जो देश के सामने एक खतरा है, मेरी लड़ाई उस विचारधारा है. जो नफरत ये लोग फैलाते हैं, हिंसा फैलाते हैं। इसके खिलाफ मैं लड़ता हूं और मैं लड़ना चाहता हूं. ये मेरे लिए मेरी जिंदगी की लड़ाई है. मैं इस बात को मानने को तैयार नहीं हूं कि हमारे प्यारे देश में इतनी नफरत, इतना क्रोध फैल सकती है. हमारे खिलाफ बड़ी शक्तियां हैं. ये आप मत सोचिए कि हम एक राजनीति पार्टी से लड़ रहे हैं. हम राजनीतिक पार्टी से नहीं लड़ रहे हैं. राजनीतिक पार्टी सिर्फ एक भाग है. हम हिंदुस्तान के हर संस्थान से लड़ रहे हैं. हम हिदुस्तान के सबसे बड़े क्रोनी कैपिटलिस्ट से लड़ रहे हैं.

उन्होंने कहा कि मैं कांग्रेस के हर नेता और कार्यकर्ता से यह कहना चाहता हूं कि आपको घबराने की कोई जरूरत नहीं है. क्योंकि यह देश सच्चाई को मानता है. ये देश सच्चाई का देश है. देश को बात समझ आ रही है. यह देश देख रहा है. देश की हालत क्या है, देश को समझ आ रही है. मैं जिंदगीभर आपके साथ खड़ा हूं और इस लड़ाई को आपके साथ मैं लड़ने जा रहा हूं.

और पढ़ें