गुजरात, राजस्थान और मध्य प्रदेश में और आगे बढ़ा दक्षिण-पश्चिम मानसून

गुजरात, राजस्थान और मध्य प्रदेश में और आगे बढ़ा दक्षिण-पश्चिम मानसून

गुजरात, राजस्थान और मध्य प्रदेश में और आगे बढ़ा दक्षिण-पश्चिम मानसून

नई दिल्ली: भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने शुक्रवार को बताया कि दक्षिण पश्चिमी मॉनसून गुजरात,राजस्थान,मध्य प्रदेश और उत्तर प्रदेश के कुछ और हिस्सों में आगे बढ़ गया है. अधिकारियों ने बताया कि दिल्ली को मॉनसून की बौछारों के लिए अभी इंतजार करना होगा. मानसूनी हवाओं के 27 जून तक राष्ट्रीय राजधानी पहुंचने का अनुमान है. विभाग ने कहा कि अगले 24 घंटे में गुजरात ,दक्षिण राजस्थान ,पश्चिमी उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश के शेष हिस्सों में मॉनसून के आगे बढ़ने के लिए स्थितियां अनुकूल हैं. मॉनसून की उत्तरी सीमा (एनएलएम) जूनागढ़, दीसा, गुना,कानपुर,मेरठ, अंबाला और अमृतसर से हो कर गुजर रही है.

आईएमडी ने बृहस्पतिवार को कहा था, पश्चिमी हवाओं का असर मॉनसून पर 23 जून तक बना रह सकता है और इसलिए राजस्थान, पंजाब के शेष हिस्से, हरियाणा और दिल्ली में इस दौरान मॉनसून नहीं पहुंचने के आसार है. इसने कहा कि मॉनसून के आगे बढ़ने का क्रम 26 जून और 30 जून के बीच धीरे-धीरे मजबूत होने की उम्मीद है और इस दौरान वह उत्तर पश्चिम भारत के अधिकतर हिस्सों में पहुंचेगा.

स्काईमेट वेदर के महेश पलावत ने कहा कि पिछले तीन-चार दिन से पश्चिमी हवाएं मॉनसून को उत्तर पश्चिम भारत में आगे बढ़ने से रोक रहीं हैं. उन्होंने कहा कि ये हवाएं अगले सप्ताह भी रहेंगी इसलिए दिल्ली में अपने तय समय पर ही 27 जून के आसपास मॉनसून की बारिश होने का अनुमान है.

और पढ़ें