close ads


झालावाड़ में कांग्रेस नेता के बिगड़े बोल, कहा - जिसको दारू पीनी है दारू पी ले जिससे पैसे लेना हो पैसे ले ले, लेकिन वोट कांग्रेस को ही दें

झालावाड़ में कांग्रेस नेता के बिगड़े बोल, कहा - जिसको दारू पीनी है दारू पी ले जिससे पैसे लेना हो पैसे ले ले, लेकिन वोट कांग्रेस को ही दें

झालावाड़: जिले में पंचायत राज संस्थाओं के चुनाव में कांग्रेस व भाजपा में घमासान मचा हुआ है. दोनों ही पार्टियों में सीधी टक्कर है. इसी के चलते दोनों ही दलों के नेताओं ने गांव-गांव ढ़ाणी-ढ़ाणी की खाक छान मारी है. इसके साथ ही मतदाताओं को प्रलोभन देने में भी कोई कसर नहीं छोड़ रहे हैं. 

"जिसको दारू पीना हो दारू पी ले जिसको पैसे लेना हो पैसे ले ले'': 
पंचायत चुनाव को लेकर कांग्रेस के जिलाध्यक्ष कैलाश मीणा ने सभा को संबोधित करते हुए मतदाताओं से कहा कि वोट से आप किसी को भी बना दो चलनी तो हमारी ही है. ऐसे में आप लोगों को ज्यादा ज्ञान और ध्यान लगाने की जरूरत नहीं है. चार पांच दिन है "जिसको दारू पीना हो दारू पी ले जिसको पैसे लेना हो पैसे ले ले' लेकिन वोट तो कांग्रेस को ही दो. कांग्रेस के जिलाध्यक्ष एवं मनोहर थाना के पूर्व विधायक कैलाश मीणा के बिगड़े बोल का वीडियो अब सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. हालांकि फर्स्ट इंडिया इस वायरल वीडियो की पुष्टि नहीं करता है. 

विन्रम अपील की जगह दिया प्रलोभन: 
कांग्रेस जिलाध्यक्ष कैलाश मीणा ने झालावाड़ जिले के अकलेरा पंचायत समिति के वार्ड नं. 8 में कांग्रेस के उम्मीदवार सुरेश तंवर के सर्मधन में सभा करते हुए मतदाताओं से विन्रम अपील की जगह शराब और पैसे का प्रलोभन देते हुए वोट देने को कहा है.  

अकलेरा पंचायत समिति में सरड़ा पंचायत को हॉट सीट माना जा रहा: 
गौरतलब है कि सरड़ा कस्बे में भारतीय जनता पार्टी की ओर से पूर्व सरपंच रोशन सिंह तंवर तो वहीं कांग्रेस की ओर से पूर्व सरपंच मनोहर सिंह तंवर के बेटे सुरेश तंवर चुनावी मैदान में है. दोनों तंवर प्रत्याशी के होने से अकलेरा पंचायत समिति में सरड़ा पंचायत को हॉट सीट माना जा रहा है. जहां आगामी 1 दिसंबर को चुनाव होने हैं. ऐसे में दोनों प्रत्याशी एड़ी चोटी का जोर लगाते दिखाई देने लगे हैं. सरड़ा कस्बे में कांग्रेस जिलाध्यक्ष ने कांग्रेस सरकार द्वारा चलाई जा रही योजनाओं की लोगों को जानकारी देते हुए अपने समर्थक को भारी मतों से जिताने की अपील की. 

वीडियो वायरल होने पर दी सफाई:
जब जिलाध्यक्ष को वीडियो के सोशल मीडिया पर वायरल होने की जानकारी मिली तो उन्होंने इसे बीजेपी की साजिश करार दिया. उन्होंने कहा कि जहां वो प्रचार कर रहे थे वहां बीजेपी के लोग शराब पिला रहे थे. मतदाताओं को लुभाने का प्रयास किया जा रहा था. इसी को लेकर मैंने कहा था कि खाओ पीओ लेकिन वोट कांग्रेस को ही देना है. ऐसे में यह सब कांग्रेस को बदनाम करने के लिए बीजेपी की साजिश है. 

और पढ़ें