दिव्यांग वोटर्स के लिए निर्वाचन विभाग ने उपलब्ध कराई विशेष सुविधाएं 

Dr. Rituraj Sharma Published Date 2018/12/05 11:58

जयपुर (ऋतुराज शर्मा)। प्रदेश भर के 435000 से ज्यादा दिव्यांग वोटर्स के लिए निर्वाचन विभाग ने विशेष सुविधाएं उपलब्ध कराई हैं। इस बार उन्हें मतदान केंद्र तक लाने ले जाने के लिए परिवहन सुविधा तो होगी ही बूथ्स पर व्हीलचेयर्स और 22 वॉलिंटियर्स का भी इंतजाम किया गया है। इसके साथ ही स्वीप गतिविधियों के जरिए ज्यादा से ज्यादा मतदाताओं को कवर करने की व्यापक योजना पर निर्वाचन भाग ने काम किया है। खास रिपोर्ट-

इस बार विधानसभा चुनाव में दिव्यांग मतदाताओं पर विशेष ध्यान दिया गया। उनका नाम जोड़ने से लेकर जागरूकता के लिए कई बार कैंपेन चलाए गए। दिव्यांग मतदाताओं को मतदान के दिन मदद के लिए बूथ स्थ्लों पर वाहन, व्हील चेयर उपलब्ध रहेगी। इसके साथ ही हर मतदान केंद्र पर दो दो वॉलंटियर मोजूद रहेंगे। जो दिव्यांगों और वृद्धजनों की मदद करते नजर आएंगे। 

ये हैं राज्य में दिव्यांग वोटर्स-
—नेत्रहीन-72862
—बहरेपन से ग्रसित दिव्यांग-58339
—लोकोमोटर डिसेबल्ड-2,50,351
—अन्य दिव्यांग-53899
—कुल-435451

इनके लिए ये सुविधा रहेगी उपलब्ध
—प्रदेशभर में 5309 वाहन रहेंगे उपलब्ध
—12246 व्हीलचेयर रहेगी उपलब्ध
—1 लाख 3 हजार 709 वॉलंटियर करेंगे मदद

मतदाताओं को जागरूक करने के लिए निर्वाचन विभाग के दिशा निर्देश पर प्रदेश से लेकर गांवों तक मोबाइल वैन, पेंटिंग, सरगम सप्ताह, वीडियो वॉल, म्यूजिकल नाइट, होर्डिंग, बैनर, सिनेमा हॉल में डिस्पले, नगर निगम के वाहनों में प्रचार गीत, सरगम सप्ताह में अलग अलग तरह के मतदाताओं  के लिए एक्टिविटी आयोजित करवाई गई। 

स्वीप एक्टिविटी में किया काम
—मतदान केंद्र- 51786
—मतदाता जागरूकता लगाए गए होर्डिंग- 5952
—79757 बैनर प्रदेशभर में लगाए गए
—382 वीडियो क्लिप स्क्रीन पर दिखाई गई
—21901 डिस्पले बोर्ड लगाए गए 
—78,18,986 कुल मतदान के लिए संकल्प पत्र भरवाए गए
—EVM, VVPAT मतदाता जागरूकता के लिए 51733 मतदान केंद्रों को कवर किया गया
—प्रदेश में 1 करोड़ 66 लाख 45 हजार 128 लोगों को किया गया जागरूक
—6597000 मतदाताओं ने मॉक पोल कर के देखा
—मतदाता जागरूकता के लिए प्रदेश में 2557 कैंपस एंबेसडर बनाए गए
—मतदाता जागरूकता के लिए 49077 बूथ अवेयरनेस ग्रुप्स बनाए गए
—फेसबुक पर 13781 पोस्ट अपलोड की गई
—ट्वीटर पर 7169 ट्वीट किए गए

सभी जिलों में मतदाताओं को जागरूक करने के लिए राजस्थानी लोकगीत भी तैयार किए गए। जिसके माध्यम से आसानी से आम मतदाता तक पहुंचा गया।
 

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in