Live News »

VIDEO: चुनाव आयोग की खास तैयारियां, अहम नवाचार जो किए जा रहे हैं पहली बार

VIDEO: चुनाव आयोग की खास तैयारियां, अहम नवाचार जो किए जा रहे हैं पहली बार

जयपुर। लोकसभा चुनाव की लोकतांत्रिक प्रक्रिया में आम लोगों की भागीदारी ज्यादा से ज्यादा सुनिश्चित करने के लिए निर्वाचन विभाग नित नए नवाचारों में जुटा है। इनके जरिये जहां मतदाता के सभी तबकों को जोड़ने की कोशिश की गई है तो वहीं ज्यादातर प्रक्रियाओं को ऑनलाइन करके काम को आसान भी बनाया है। लोकसभा चुनाव में पहली बार आजमाए जा रहे इन नुस्खों को लेकर पेश है एक खास रिपोर्ट:

लोकतंत्र के महापर्व चुनाव में ज्यादा से ज्यादा भागीदारी सुनिश्चित करने के लिए भारत निर्वाचन आयोग के निर्देश पर निर्वाचन विभाग ने खास इंतजाम किए हैं। इसके तहत किए गए नवाचारों में दिव्यांगों, महिलाओं पर फोकस करके आम मतदाताओं के लिए नई सुविधाएं जुटाई हैं। 

लोकसभा चुनाव में ये अहम नवाचार किए जा रहे हैं पहली बार:

सारे पोलिंग स्टेशन्स पर वीवीपेट का होगा उपयोग:
राजस्थान में पहली बार राज्य के 25 लोकसभा क्षेत्रों के 200 विधानसभा क्षेत्रों के 51 हजार 796 मतदान केन्द्रों पर ईवीएम के साथ VVPAT का इस्तेमाल किया जायेगा। वीवीपेट से मतदाता, कागज की पर्ची पर उस उम्मीदवार का नाम एवं चिन्ह देख सकते हैं, जिसे उसने वोट दिया है।इसके लिए निर्वाचन से जुड़े सभी अधिकारियों को प्रशिक्षण दिया जा चुका है।

लोकसभा क्षेत्र के हर विधानसभा क्षेत्र के 5 बूथ्स पर पर्चियों का मिलान:
सुप्रीम कोर्ट ने देशभर में लोकसभा क्षेत्र के 5 बूथ्स का चयन करके उनकी ईवीएम और वीवीपेट की पर्चियों का मिलान करने के निर्देश दिए हैं। हालांकि इसके लिए अभी विस्तृत दिशानिर्देशों का इंतजार है,तब ही यह प्रक्रिया आजमाई जाएगी। विधानसभा चुनाव में हर विधानसभा क्षेत्र के 1 बूथ की पर्चियों का मिलान किया गया था। 

हर विधानसभा क्षेत्र में सिर्फ महिलाओं द्वारा प्रबंधित 1 पोलिंग स्टेशन:
इस लोकसभा चुनाव में हर विधानसभा क्षेत्र में एक महिला डोमिनेटेड मतदाता केंद्र होगा जिसमें एक एक पोलिंग बूथ पर महिलाओं का स्टाफ होगा तैनात की जाएगी ।यानी मुख्य द्वार से लेकर पोलिंग बूथ के अंदर तक सभी  महिला अधिकारी और कर्मचारी होंगे। कई विधानसभा क्षेत्र से होंगे  जहां पर एक से अधिक पोलिंग बूथ और महिलाओं  को तैनात किया जाएगा। इसमें फीमेल वॉलिंटियर्स का भी सहयोग मांगा गया है। यहां तक कि जिला कलेक्टर को यह भी निर्देश दिए गए मतदान केंद्र पर सुरक्षाकर्मी लगते हैं, वहां पर भी अधिक से अधिक संख्या में महिला पुलिसकर्मी तैनात की जाए। जिससे मतदान करने वाले मतदाताओं को देश की आधी आबादी की ताकत का और उनके आत्मविश्वास का उदाहरण देखने को मिले। विधानसभा चुनाव में ऐसा किया जा चुका है, लेकिन लोकसभा चुनाव में ऐसा पहली बार होगा। 

इस बार होगी बूथ लेवल प्लानिंग:
इस बार बूथ लेवल यानि बिल्कुल निचले स्तर तक की प्लानिंग होगी जिसमें हर बूथ का स्टेंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसीजर होगा। GIS आधारित प्लानिंग,क्रियान्वयन व मॉनिटरिंग सिस्टम विकसित किया गया है। 

ई एटलस:
इसके जरिये चुनाव से जुड़ी तमाम गतिविधियों और कार्यों की मॉनिटरिंग हो सकेगी।

वस्तु और सेवा लेने के लिए ई पेमेंट गेटवे सुविधा:
चुनाव कार्य से जुड़ी वस्तु और सेवा की खरीद पर भुगतान ई पेमेंट गेटवे के जरिये होगा। पुलिसकर्मियों और अन्य कर्मियों को भत्ता आदि की राशि भी सीधे बैंक खाते में जमा हो सकेगी।

इस बार सर्विस वोटर्स के लिए ETPBS से वोटिंग सुविधा और सर्विस वोटर्स का होगा पंजीकरण:
सर्विस वोटर्स के लिए इस बार ईटीबीपीएस सुविधा से वोटिंग सुविधा दी गई है जिससे ज्यादा से ज्यादा उनकी वोटिंग सुनिश्चित हो सके अन्यथा इन वोटर्स को वोटिंग का बेहद कम मौका मिलता था जिससे इनका वोटिंग प्रतिशत बेहद कम होता था। विधानसभा चुनाव में इसे आजमाया जा चुका है। 

विशेष योग्यजनों और दिव्यांगों के लिए फ्रेंडली पोलिंग स्टेशन्स:
इस बार दिव्यांगों,विशेष योग्यजनों के लिए न सिर्फ पोलिंग बूथ्स पर रैम्प बनाए गए हैं। बल्कि उन्हें लाने-ले जाने के लिए परिवहन सुविधा भी दी गई है। साथ ही दिव्यांगों के लिए एनसीसी या एनएसएस के 1-1 बालक बालिका वोलंटियर्स रहेंगे जो उन्हें मतदान करने में सहायता देंगे। विधानसभा चुनाव में यह हो चुका है,लेकिन लोकसभा चुनाव में ऐसा पहली बार हो रहा है। हालांकि इस लोकसभा चुनाव में ईसीआई ने यह सुनिश्चित करने को कहा है कि वॉलंटियर्स की उम्र 18 वर्ष से कम हो यानि वह मतदाता नहीं हो। 

सी विजिल और अन्य एप:
सी विजिल-इस एप के जरिये आम आदमी भी विजुअल्स व फोटो अपलोड करके कर सकेंगे आचार संहिता उल्लंघन की शिकायत।नाम गुप्त भी रखा जा सकता है। विधानसभा चुनाव में यह हो चुका है,लेकिन लोकसभा चुनाव में ऐसा पहली बार हो रहा है। 

नेशनल ग्रीवियंस सर्विस:
इसके तहत तय समयावधि में शिकायत दूर की जाएगी। विधानसभा चुनाव में यह हो चुका है,लेकिन लोकसभा चुनाव में ऐसा पहली बार हो रहा है। 

इंटीग्रेटेड कॉन्टेक्ट सेंटर्स:
भारत निर्वाचन आयोग से लेकर जिला निर्वाचन तक के चुनाव से जुड़े सारे केन्द्र इंटीग्रेटेड सेंटर्स से जुड़े होंगे।

सिंगल विंडो परमिशन सिस्टम-सुविधा:
सभा,रैली,वाहन,अस्थायी इलेक्शन ऑफिस आदि की मंजूरी के लिए एकल खिड़की प्रणाली विकसित की गई है। हैलीकॉप्टर और उसके हैलीपेड में उतरने की मंजूरी के लिए 36 घंटे पहले आवेदन करना जरूरी होगा। 

सुगम-व्हीकल मैनेजमेंट सिस्टम:
आईटी आधारित इस सिस्टम से न सिर्फ वाहनों की ऑनलाइन मंजूरी हो सकेगी बल्कि उसकी ट्रेकिंग भी सुनिश्चित हो सकेगी.

इलेक्शन मॉनिटरिंग डेशबोर्ड:
जिसमें प्री पोल, पोल डेपोस्ट पोल रिपोर्टस और ट्रेंड्स एंड रिजल्ट डेक्लेरेशन होगा। जिस प्रत्याशी के खिलाफ आपराधिक मामला दर्ज हो उस प्रत्याशी को फॉर्म 26 में जानकारी देनी होगी। यह प्रावधान लागू तो पहले हो गया था लेकिन अब जिस पार्टी से टिकट ले रहे हैं उस पार्टी को भी आपराधिक मामलों के बारे में सूचित करना होगा। राजनैतिक दलों को भी उम्मीदवारों से प्राप्त सूचना को अपनी वेबसाइट पर अनिवार्य रूप से दर्शानी होगी। 

इसके अलावा हर उम्मीदवार को नामांकन दाखिल करने के बाद आपराधिक मामलों की जानकारी प्रिन्ट और इलेक्ट्रोनिक मीडिया में व्यापक तौर पर कम से कम 3 बार प्रकाशित और प्रसारित करवानी होगी। जानकारी चुनाव आयोग को देने के साथ ही प्रिन्ट और इलेक्ट्रोनिक मीडिया में व्यापक स्तर पर प्रचारित-प्रसारित करवाना अनिवार्य होगा। कोई भी उम्मीदवार पर दोषसिद्ध हो जाए या उसके विरूद्ध कोई भी आपराधिक मामला दर्ज या लंबित हो, तो उसे ऐसे प्रकरणों की जानकारी तीन अलग-अलग तिथियों में नामांकन वापसी और मतदान तिथि से 2 दिन पूर्व 12 साइज के फाॅन्ट में अपनी विधानसभा क्षेत्र के प्रमुख समाचार पत्रों में प्रकाशित करवानी होगी। 

इसी तरह इलेक्ट्रोनिक मीडिया में भी मतदान से 48 घंटे पूर्व तक तीन बार अलग-अलग तिथियों में यह जानकारी प्रसारित करवानी होगी। सभी राजनीतिक दलों को चुनाव समाप्त होने से 30 दिनों के भीतर राज्य के मुख्य निर्वाचन अधिकारी को सभी आवश्यक दस्तावेजों के साथ रिपोर्ट प्रस्तुत करने के भी निर्देश दिए गए हैं। जिसमें इस बात का स्पष्ट उल्लेख हो कि उनके द्वारा निर्देशों की पालना करवा दी गई हैं। इसके अलावा उम्मीदवारों द्वारा प्रकाशित और प्रसारित सूचना को जिला निर्वाचन अधिकारी को चुनाव व्यय के ब्योरे के साथ भी प्रस्तुत करना होगा। प्रत्याशी को विदेश की संपत्ति का भी ब्योरा देना होगा। साथ ही उसके परिवार में से किसी की संपत्ति विदेश में हो तो भी बताना होगा। 

पहली बार प्रत्याशियों की फोटो ईवीएम में उनके नाम के आगे होगी, यह पिछले लोकसभा चुनाव में नहीं था। प्रत्याशियों को अपने नामांकन फॉर्म के साथ अतिरिक्त फॉर्म भरना होगा जिसमें पानी व बिजली के बकाया बिल्स की जानकारी देनी होगी। नो ड्यूज के बारे में जानकारी देनी होगी। 

सोशल मीडिया पर निगाह के पहली बार रहेंगे खास इंतजाम:
इसके लिए विशेष सेल्स का गठन जिला और राज्य स्तर पर किया गया है जो सोशल मीडिया साइट्स पर निगाह रखेगी।

वोटर असिस्टेंस बूथ:
पोलिंग बूथ्स में जगह-जगह संकेतक लगाकर मतदाता को गाइड किया जाएगा।

कंपार्टमेंट की ऊंचाई अब हो गई तीस इंच:
इससे मतदान की गोपनीयता बनी रहेगी। मतदान की प्रक्रिया निष्पक्ष हो सकेगी। 

वोटर फेसिलिटेशन पोस्टर्स:
पोस्टर्स के जरिये यह बताया जाएगा कि कैसे वोट करें,ईवीएम क्या है कैसे अपना कास्ट किया वोट देख सकते हैं और किस तरह प्रक्रिया में गड़बड़ी की गुंजाइश नहीं है। इस लोकसभा चुनाव में पर्चियों को पहचान का एकमात्र आधार नहीं माना है। फोटोयुक्त मतदाता पहचान पत्र या वैकल्पिक 11 दस्तावेजों में से एक दिखाने पर ही वोटिंग हो पाएगी। 

लोकसभा चुनाव में सी-विजिल एप का पहली बार प्रयोग हो रहा है। इसके तहत आम नागरिक आचार संहिता उल्लंघन की शिकायत एप के जरिये फोटो और अन्य प्रमाण सहित कर सकता है जिसमें सौ मिनट पर कार्रवाई करके बताया जाता है। विधानसभा चुनाव में इसे आजमाया जा चुका है। 

कुल मिलाकर निर्वाचन आयोग ने 360 डिग्री आकलन करके वे तमाम इंतजाम किए हैं, जिससे मतदान सुगम और उसकी व्यवस्था बेहतर और निष्पक्ष हो सके।

... संवाददाता ऋतुराज शर्मा की रिपोर्ट 

और पढ़ें

Most Related Stories

राजस्थान सरकार ने किए 1 IAS और 14 RAS अधिकारियों के तबादले, यहां देखे पूरी लिस्ट

राजस्थान सरकार ने किए 1 IAS और 14 RAS अधिकारियों के तबादले, यहां देखे पूरी लिस्ट

जयपुर: राजस्थान सरकार ने को सूबे के प्रशासनिक अमले में बड़ा फेरबदल किया है. राज्य सरकार ने आरएएस अफसरों के भी ट्रांसफर के आदेश जारी कर दिए हैं. सरकारी आदेश के मुताबिक कुल 14 आरएएस अधिकारियों के ट्रांसफर किए गए हैं. इनके अलावा एक आईएस अधिकारी का भी तबादला हुआ है. 

- IAS देवेंद्र कुमार को लगाया सुमेरपुर SDM
- RAS नसीम खान को लगाया उप निदेशक,अल्पसंख्यक मामलात
- संतोष कुमार मीणा को लगाया SDM अकलेरा
- गोमती शर्मा को लगाया SDM रानी,पाली
- सुनील आर्य को लगाया SDM बयाना
- भारत भूषण गोयल को लगाया SDM देवली
- राजेंद्र सिंह-II को लगाया SDM किशनगढ़
- शैलेंद्र सिंह को लगाया SDM जसवंतपुरा
- कंचन राठौड़ को लगाया SDM बालेसर
- प्रकाश चंद्र रैगर को लगाया SDM खेरवाड़ा
- सुमित्रा पारीक को लगाया SDM बावड़ी
- महावीर सिंह जोधा को लगाया SDM गडरा रोड,बाड़मेर
- पुष्पा कंवर सिसोदिया को लगाया SDM मारवाड़ जंक्शन
- निशा सहारण को लगाया सहायक कलेक्टर चौमूं
- अनीता कुमारी खटीक को लगाया सहायक निदेशक,लोक सेवाएं,समन्वय विभाग,टोंक
- 2 RAS अधिकारियों के तबादले किए गए निरस्त

नौतपा के चौथे दिन भी जमकर तपी मरूधरा, भीषण गर्मी और लू का प्रकोप,  गर्मी में श्रीगंगानगर ने चूरू को पछाड़ा 

नौतपा के चौथे दिन भी जमकर तपी मरूधरा, भीषण गर्मी और लू का प्रकोप,  गर्मी में श्रीगंगानगर ने चूरू को पछाड़ा 

जयपुर: 25 मई से शुरू हुए नौतपा के चौथे दिन भी मरूधरा में सूर्य देव लगातार उगल रहे हैं. नौतपा के दौरान राजस्थान के कई जिलों में तापमान में लगातार बढ़ोतरी हो रही है जिसकी वजह से दिनचर्या में काफी बदलाव आया है. लोग लॉकडाउन और तेज गर्मी की वजह से अनावश्यक रूप से घरों से बाहर नहीं निकल रहे हैं जिसकी वजह से खासतौर से दोपहर बाद सड़कों और बाजारों में सन्नाटा पसरा रहता है. वही लोग तेज गर्मी से बचाव के लिए एसी और कूलर का सहारा ले रहे हैं तो वहीं कुछ शीतल पेय पदार्थों का इस्तेमाल कर तेज गर्मी से राहत लेने की कोशिश कर रहे हैं. 

कोरोना संकट के बीच सीएम गहलोत के अहम फैसले, 2 अहम परियोजनाओं पर लगाई मुहर

भीषण गर्मी और लू का प्रकोप जारी:
प्रदेश में भीषण गर्मी और लू का प्रकोप जारी है. गर्मी में गुरुवार को श्रीगंगानगर ने चूरू को पछाड़ा दिया है. श्रीगंगानगर में गुरुवार को 46.9डिग्री तापमान दर्ज किया गया है. जबकि चूरू में 46.6 डिग्री तापमान दर्ज हुआ है. बीकानेर में 45.2,जैसलमेर में 45.4, कोटा में 45 दर्ज किया गया है.

बाड़मेर तापमान 44.3 दर्ज:
वहीं बात करें बाड़मेर की, तो यहां पर 44.3 डिग्री तापमान दर्ज किया गया है,अजमेर 41.1,डबोक 39.4,जोधपुर 42.3, राजधानी जयपुर में 44.1 डिग्री तापमान दर्ज हुआ है. मौसम विभाग से गुरुवार को येलो अलर्ट जारी कर रखा है. येलो अलर्ट के तहत 6 संभागों में हीट वेव की चेतावनी की गई है. 

Rajasthan Corona Updates: राजस्थान के 33 जिलों में कोरोना वायरस की दस्तक, पिछले 24 घंटे में 7 मरीजों की मौत, 251 नए केस आये सामने

Rajasthan Corona Updates: राजस्थान के 33 जिलों में कोरोना वायरस की दस्तक, पिछले 24 घंटे में 7 मरीजों की मौत, 251 नए केस आये सामने

Rajasthan Corona Updates: राजस्थान के 33 जिलों में कोरोना वायरस की दस्तक, पिछले 24 घंटे में 7 मरीजों की मौत, 251 नए केस आये सामने

जयपुर: राजस्थान में लगातार कोरोना वायरस के मामले बढते जा रहे है. पिछले 24 घंटे में 7 मरीजों की मौत हो गई. जबकि 251 नए पॉजिटिव केस सामने आये है. अलवर, बांसवाड़ा, दौसा, जयपुर, करौली, नागौर और दूसरे राज्य के 1-1 मरीज की मौत हो गई. सर्वाधिक 69 पॉजिटिव केस अकेले झालावाड़ में सामने आये है. अजमेर में 6, भरतपुर 12, भीलवाड़ा 1, बीकानेर 7, बूंदी 1, चूरू 5, दौसा 4, डूंगरपुर 1, हनुमानगढ़ 3, जयपुर 7, जालोर-1, झुंझुनूं-7, जोधपुर 64, कोटा 9, नागौर 9, पाली 32, सवाई माधोपुर-1, सीकर 10, सिरोही 1 और दूसरी राज्य का एक पॉजिटिव मरीज सामने आया है. राजस्थान में कुल  मौत का आंकड़ा 180 पहुंच गया है. वहीं पॉजिटिव मरीजों की संख्या 8067 पहुंच गई है. इन पॉजिटिव मरीजों में प्रवासियों की संख्या 2 हजार 199 शामिल है.

जयपुर में कोरोना का बढ़ता दायरा:
राजधानी जयपुर में कोरोना का दायरा बढ़ता जा रहा है. पिछले 24 घंटे में 1 एक मरीज की मौत हो गई. 7 मरीज पॉजिटिव मरीज सामने आये है. भोजपुरा में 1, नंदलालपुरा में-2, SMS हॉस्पिटल में 1, मानसरोवर में 1, कैलाशपुरी आमेर रोड 1 और शास्त्री नगर में 1 पॉजिटिव केस सामने आया है. जयपुर में अब तक 85 लोगों की मौत हो चुकी है. जबकि कुल मरीजों की संख्या 1 हजार 909 पहुंच गई है. 

नहीं बढ़ रहा फ्लाइट्स का संचालन, कोलकाता के लिए एयर कनेक्टिविटी शुरू होने का इंतजार

राजस्थान में राहत की खबर:
राजस्थान में बढ़ते पॉजिटिव केस के बीच राहत की खबर है. प्रदेश में 4566 केस अब तक पॉजिटिव से नेगेटिव हुए है. 3913 मरीजों को अस्पताल से डिस्चार्ज किया जा चुका है. जबकि शेष क्वॉरंटीन पीरियड पूरा होने पर घर भेजे जाएंगे. राजस्थान में फिलहाल कोरोना के 3202 एक्टिव केस है. इनमें 2149 प्रवासी राजस्थानी भी शामिल है.

राजस्थान के हर जिले तक पहुंचा कोरोना:
राजस्थान के हर जिले तक कोरोना वायरस ने दस्तक दे दी है. 33वें जिले के रूप में बूंदी में भी कोरोना की चपेट में आ गया है. 87 दिन बाद बूंदी जिले में पहला केस बुधवार को सामने आया है. अब तक सर्वाधिक जयपुर में सामने आए 1909 पॉजिटिव केस है, अजमेर में 311, अलवर में 51, बांसवाड़ा में 85, बारां में 8, बाड़मेर में 92, भरतपुर में 165, भीलवाड़ा में 134, बीकानेर में 94, बूंदी 1, चित्तौड़गढ़ में 175, चूरू में 90, दौसा में 50, धौलपुर में 45, डूंगरपुर में 332, श्रीगंगानगर में 5, हनुमानगढ़ में 21, जैसलमेर में 68, जालोर 154, झालावाड़ में 204, झुंझुनूं में 109, जोधपुर में 1311, करौली में 12, कोटा में 422, नागौर में 421, पाली में 394, प्रतापगढ़ में 13, राजसमंद में 135
सवाईमाधोपुर में 19, सीकर में 164, सिरोही 141, टोंक में 163, उदयपुर में 523, दूसरे राज्यों के 13 मरीज अब तक कोरोना पॉजिटिव, इसके अलावा इटली के दो, ईरान से आए 61 यात्री पॉजिटिव, BSF के 50 जवान अब तक पॉजिटिव आ चुके है.

कोरोना संकट के बीच सीएम गहलोत के अहम फैसले, 2 अहम परियोजनाओं पर लगाई मुहर

कोरोना संकट के बीच सीएम गहलोत के अहम फैसले, 2 अहम परियोजनाओं पर लगाई मुहर

जयपुर: कोरोना संकट के बीच मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने अहम फैसले लेते हुए दो परियोजना पर मुहर लगाई. सीएम गहलोत ने एक तरफ जहां प्रदेश की 10 कृषि उपज मंडियों में ई-नाम परियोजना से संबंधित समस्त कार्य पायलट प्रोजेक्ट के रूप में कराने को स्वीकृति दी, वहीं राज्य के सभी 33 जिलों के गजेटियर्स नए सिरे से तैयार कराने पर भी अपनी मुहर लगा दी. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत सिर्फ कोरोना मामले में ही व्यस्त नहीं है, बल्कि प्रदेश से जुड़े अन्य अहम कार्यों पर भी फोकस किए हुए हैं. 

प्रदेश की 10 मंडियों में पायलट प्रोजेक्ट को मंजूरी:
सीएम गहलोत ने गुरुवार को दो अहम फैसले किए.पहला फैसला किसानों से जुड़ा है.गहलोत ने प्रदेश की 10 कृषि उपज मंडियों में ई-नाम परियोजना से संबंधित समस्त कार्य पायलट प्रोजेक्ट के रूप में विशेषज्ञ संस्था के माध्यम से कराए जाने के प्रस्ताव को स्वीकृति दी है. इस मंजूरी से इन मंडियों में राष्ट्रीय कृषि बाजार (ई-नाम) परियोजना का कार्य बेहतर ढंग से संचालित हो सकेगा.

स्पीक अप इंडिया अभियान: सोशल मीडिया पर जुड़े कांग्रेसी, केन्द्र सरकार से की मांग, गरीब मजदूरों, श्रमिकों को मिले सीधे पैसा

-राज्य की 25 मंडी समितियों में यह परियोजना चल रही है
-शेष 119 मंडी समितियों को भी इससे जोड़ा जा रहा है
-इस प्रोजेक्ट को सुगम एवं सुचारू संचालित किया जाएगा
-पायलट प्रोजेक्ट के तहत काम करने को दी गई मंजूरी
-12 माह के लिए विशेषज्ञ एजेंसी की सेवाएं ली जाएंगी
-दस मंडियों को दो क्लस्टर में बांटकर काम होगा
-पहले क्लस्टर में कोटा, बारां, रामगंजमंडी, बूंदी एवं देवली शामिल
-दूसरे क्लस्टर में श्रीगंगानगर, नागौर, बीकानेर, मेड़ता सिटी एवं
-जोधपुर अनाज मंडी को शामिल किया गया है

33 जिलों के गजेटियर्स तैयार कराएगी सरकार:
सीएम गहलोत ने एक और अहम परियोजना को मंजूरी देते हुए प्रदेश के सभी 33 जिलों के गजेटियर्स का नए सिरे से लेखन कराने का फैसला किया है. इसके तहत हर साल कम से कम 6 जिलों के गजेटियर का लेखन कर इनका प्रकाशन कराया जाएगा. प्रथम चरण में अलवर, बांसवाड़ा, जोधपुर, करौली, हनुमानगढ़ और प्रतापगढ़ जिलों के गजेटियर्स के लेखन एवं प्रकाशन का कार्य प्रारंभ कर दिया गया है. इनमें से प्रत्येक जिले के लिए 5 लाख रूपए के अनुसार कुल 30 लाख रूपए का बजट प्रावधान किया गया है. इसी के साथ अगले चरण में चूरू, भरतपुर, गंगानगर, बीकानेर, जैसलमेर एवं जालौर जिले की सूचना का संकलन एवं लेखन का कार्य किया जाएगा. मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए हैं कि सभी जिलों के गजेटियर्स लेखन में एकरूपता एवं प्रामाणिकता रखने के लिए इन्हें राज्य स्तर पर चुनिंदा लेखकों से ही लिखवाया जाए. गौरतलब है कि पूर्व में प्रकाशित सभी जिला गजेटियर्स 15 से 40 वर्ष तक पुराने हैं. सीएम ने इस साल बजट में जिला गजेटियर्स के नए सिरे से लेखन करवाने की महत्वपूर्ण घोषणा की थी.

नहीं बढ़ रहा फ्लाइट्स का संचालन, कोलकाता के लिए एयर कनेक्टिविटी शुरू होने का इंतजार

नहीं बढ़ रहा फ्लाइट्स का संचालन, कोलकाता के लिए एयर कनेक्टिविटी शुरू होने का इंतजार

जयपुर: घरेलू फ्लाइट्स का संचालन शुरू हुए गुरुवार को चौथा दिन है, लेकिन जयपुर इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर अभी भी फ्लाइट्स का संचालन नहीं बढ़ पा रहा है. हालांकि आज अपेक्षाकृत रूप से यात्रीभार अधिक देखा जा रहा है. लेकिन इसके बावजूद गुरुवार को 20 में से 11 फ्लाइट रद्द रही हैं. फ्लाइट संचालन के चौथे दिन भी पश्चिम बंगाल के लिए एयर कनेक्टिविटी शुरू नहीं हो सकी है. जयपुर से पश्चिम बंगाल के कोलकाता के लिए इंडिगो एयरलाइन ने एक फ्लाइट शुरू करने का शेड्यूल दिया है, लेकिन पश्चिम बंगाल की राज्य सरकार के विरोध के कारण अभी तक इस फ्लाइट को उड़ान भरने की मंजूरी नहीं मिल सकी. एयरपोर्ट प्रशासन से जुड़े सूत्रों का कहना है कि शुक्रवार से कोलकाता के लिए फ्लाइट शुरू हो सकती है.

मुम्बई के लिए फिर रद्द हुई इंडिगो की फ्लाइट:
हालांकि गुरुवार को भी कुल फ्लाइट्स की संख्या में कमी देखी गई है. बुधवार को जहां जयपुर एयरपोर्ट से 10 फ्लाइट संचालित हुई थीं, वहीं आज 9 फ्लाइट ही संचालित हो रही हैं. दरअसल चार एयरलाइंस ने जयपुर एयरपोर्ट से कुल 20 फ्लाइट संचालित करने के लिए शेड्यूल दिया था. इनमें सर्वाधिक 8 फ्लाइट का शेड्यूल स्पाइसजेट एयरलाइन ने दिया था. इंडिगो ने 6 फ्लाइट, एयर इंडिया और एयर एशिया ने तीन-तीन फ्लाइट संचालित करने की बात कही थी, लेकिन पिछले चार दिनों में अभी तक एक भी दिन सभी 20 फ्लाइट संचालित नहीं हो सकी हैं. गुरुवार को 11 फ्लाइट्स जयपुर एयरपोर्ट से रद्द की गई हैं. स्पाइसजेट की 6, इंडिगो की 2, एयर एशिया की 2 और एयर इंडिया की 1 फ्लाइट रद्द हुई है.

धौलपुर के सैपऊ में तूफान से गिरा मकान, मलबे में दबने से 3 लोगों की मौत 

ये 11 फ्लाइट आज रद्द
- स्पाइसजेट की सुबह 5:45 बजे सूरत जाने वाली फ्लाइट SG-2763 हुई रद्द
- स्पाइसजेट की सुबह 7:20 बजे जालंधर जाने वाली फ्लाइट SG-2750 हुई रद्द
- इंडिगो की सुबह 6:40 बजे मुंबई जाने वाली फ्लाइट 6E-218 हुई रद्द
- एयर इंडिया की सुबह 7:35 बजे आगरा जाने वाली फ्लाइट 9I-687 हुई रद्द
- इंडिगो की शाम 4:45 बजे कोलकाता जाने वाली फ्लाइट 6E-6156 हुई रद्द
- स्पाइसजेट की सुबह 8 बजे मुंबई जाने वाली फ्लाइट SG-279 हुई रद्द
- स्पाइसजेट की सुबह 9:45 बजे उदयपुर जाने वाली फ्लाइट SG-6632 हुई रद्द
- स्पाइसजेट की सुबह 11:15 बजे अमृतसर जाने वाली फ्लाइट SG-3522 हुई रद्द
- स्पाइसजेट की दोपहर 2:15 बजे गुवाहाटी जाने वाली फ्लाइट SG-448 हुई रद्द
- एयर एशिया की सुबह 9:15 बजे बेंगलूरु जाने वाली फ्लाइट I5-1721 हुई रद्द
- एयर एशिया की शाम 5:15 बजे पुणे जाने वाली फ्लाइट I5-1427 हुई रद्द

हालांकि यात्रीभार में दिख रही अपेक्षाकृत बढ़ोतरी:
जिस तरह से एयरलाइंस अपने शेड्यूल के मुताबिक फ्लाइट संचालित नहीं कर रही हैं, उससे यात्रियों के लिए परेशानी बढ़ गई है. दरअसल जिन यात्रियों ने फ्लाइट में पहले से बुकिंग कर ली है, उनके टिकट को रद्द किया जा रहा है. इसके एवज में यात्रियों को उनकी राशि भी नहीं लौटाई जा रही है, बल्कि उनकी राशि को क्रेडिट शेल के रूप में एयरलाइन अपने पास ही रख रही हैं. ऐसे में यदि यात्रियों का दुबारा कोई शेड्यूल नहीं बैठता है तो उन्हें इसका रिफंड कभी नहीं मिल सकेगा. हालांकि एयरलाइंस का कहना है कि यात्री अगले एक साल की अवधि में इस क्रेडिट शेल की राशि से टिकट बुक करवा सकते हैं. आपको बता दें कि इस कारण जिन यात्रियों ने मुम्बई, जालंधर, सूरत आदि शहरों से आने या जाने के लिए टिकट बुक करवा रखे थे, उन्हें इसका नुकसान झेलना पड़ रहा है. अब देखना होगा कि फ्लाइट्स के रद्द होने का यह सिलसिला कितने दिनों तक जारी रहेगा.

COVID-19 की वैक्सीन बनाने में 30 ग्रुप कर रहे है काम, अक्टूबर तक मिल सकती है सफलता:  डॉ. राघवन

...फर्स्ट इंडिया के लिए काशीराम चौधरी की रिपोर्ट

स्पीक अप इंडिया अभियान: सोशल मीडिया पर जुड़े कांग्रेसी, केन्द्र सरकार से की मांग, गरीब मजदूरों, श्रमिकों को मिले सीधे पैसा

जयपुर: कांग्रेस ने गुरुवार को देशभर में सोशल मीडिया कैम्पेन चलाया. देश भर के कांग्रेस नेता और कार्यकर्ताओं की इसमें भागीदारी रही. राजस्थान से भी बड़ी तादाद में कांग्रेस नेता कैम्पेन से जुड़े. प्रवासी श्रमिकों ,कामगार ,मजदूर,मध्यम वर्ग,छोटे व्यापारियों की मांग केन्द्र सरकार के सामने रखी. डिप्टी सीएम और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सचिन पायलट ने फेसबुक पर कहा कि जरुरत है प्रवासी श्रमिकों की पीड़ा को दूर करना,ये कार्य केन्द्र को करना चाहिए. कांग्रेस के कई नेता सोशल अभियान से जुड़े अविनाश पांडे ,डॉ रघु शर्मा समेत प्रमुख मंत्री विधायक और पदाधिकारी शामिल हुए. 

राजस्थान से ये दिग्गज हुए शामिल:
राहुल गांधी और प्रियंका गांधी के आह्वान के बाद पूरी कांग्रेस गरीब कामगारों की आवाज बुलंद कर रही है, जिन्होंने लॉकडाउन में दंश झेला उनकी आवाज बुलंद की जा रही. स्पीक इंडिया कार्यक्रम के तहत कांग्रेस के प्रमुख नेता और कार्यकर्ता सोशल मीडिया अभियान में शामिल हुए. डिप्टी सी एम सचिन पायलट, कांग्रेस के राजस्थान प्रभारी अविनाश पांडे ,चिकित्सा और स्वास्थ्य मंत्री डॉ रघु शर्मा ,मुख्य सचेतक डॉ महेश जोशी शामिल समेत दिग्गज शामिल हुए. 

SMS अस्पताल को कोरोना फ्री करने की तैयारी, चिकित्सा शिक्षा सचिव वैभव गालरिया ने व्यवस्थाओं का लिया जायजा

जेब तक सीधा पैसा पहुंचाया जाये:
सचिन पायलट ने फेसबुक पर कहा कि कांग्रेस पार्टी चाहती है ऐसे लोगों की मदद की जाए जो इनकम टैक्स तक नहीं दे पा रहे,उनकी जेब तक सीधा पैसा पहुंचाया जाये. पायलट ने सोशल मीडिया अभियान के जरिये केन्द्र सरकार से यहीं मांग की. पायलट ने कहा कि मनरेगा में राजस्थान में अच्छा काम किया है. कांग्रेस राज्य प्रभारी अविनाश पांडे ने कहा कि केंद्र सरकार से हमारी मांग है कि मध्यम वर्ग ,छोटे उधोग धंधो की मदद की जाये,मनरेगा में रोजगार 200दिन किया जाये,प्रवासी श्रमिकों को नि शुल्क सेवा से घर पहुंचाया जाये. चिकित्सा और स्वास्थ्य मंत्री डॉ रघु शर्मा ने कैम्पेन में भाग लिया और कांग्रेस की पहल का स्वागत किया. रघु शर्मा ने कहा कि महामारी से त्रस्त गरीब लोगों की मदद करना केन्द्र का नैतिक अधिकार हम उन्हें उनकी भूमिका याद दिला रहे.

COVID-19 की वैक्सीन बनाने में 30 ग्रुप कर रहे है काम, अक्टूबर तक मिल सकती है सफलता:  डॉ. राघवन

सोशल मीडिया कैम्पेन में टॉप पर रही:
ऐसा कहा जा रहा है कि राजस्थान की कांग्रेस सोशल मीडिया कैम्पेन में टॉप पर रही. मंत्री परिषद के तकरीबन सभी सदस्य , विधायक ,पीसीसी के पदाधिकरी, जिला अध्यक्ष, अग्रिम संगठनों के अध्यक्ष ,ब्लॉक अध्यक्ष शामिल हुए. मुख्य सचेतक महेश जोशी अपने श्रीगंगानगर दौरे के दौरान सोशल मीडिया अभियान से जुडे. फेसबुक,ट्विटर, इंस्टाग्राम पर कांग्रेस गुरुवार को छाई रही. जाहिर है बीजेपी को कांग्रेस उसी हथियार से घेरने में जुटी जिसके लिये बीजेपी को महारत हासिल थी,सोशल मीडिया रुपी हथियार के जरिये केन्द्र सरकार को घेरा जा रहा.

...फर्स्ट इंडिया के लिए योगेश शर्मा की रिपोर्ट

SMS अस्पताल को कोरोना फ्री करने की तैयारी, चिकित्सा शिक्षा सचिव वैभव गालरिया ने व्यवस्थाओं का लिया जायजा

SMS अस्पताल को कोरोना फ्री करने की तैयारी, चिकित्सा शिक्षा सचिव वैभव गालरिया ने व्यवस्थाओं का लिया जायजा

जयपुर: करीब ढाई माह के लम्बे इंतजार के बाद आम मरीजों के लिए शुरू हो रहे प्रदेश के सबसे बड़े एसएमएस अस्पताल में तैयारियां जोरशोर है. नॉन कोविड अस्पताल की शुरूआत से पहले प्रशासन किसी भी तरह की कमी नहीं रखना चाहता, जिसके लिए हर ब्लॉक में अलग-अलग व्यवस्थाएं की जा रही है.इन्हीं तैयारियों का जायजा लेने के लिए चिकित्सा शिक्षा सचिव वैभव गालरिया एसएमएस अस्पताल पहुंचे और वहां चल रही तैयारियों का जायजा लिया.

नॉन कोविड बनाने की दिशा में सभी तैयारियां पूरी:
गालरिया ने प्रशासनिक टीम के साथ चरक भवन, ओपीडी, आईपीडी, न्यू आईसीयू ब्लॉक, इमरजेंसी समेत अस्पताल के विभिन्न हिस्सों का एक घंटे तक निरीक्षण किया.इस दौरान IAS गौरव गोयल, SMS मेडिकल कॉलेज प्राचार्य डॉ.सुधीर भंडारी, SMS अस्पताल अधीक्षक डॉ.राजेश शर्मा, अति.अधीक्षक डॉ.एनएस चौहान, डॉ.अजीत सिंह, डॉ.जगदीश मोदी, डॉ.बीएम शर्मा समेत अन्य कई अधिकारी मौजूद रहे.निरीक्षण के बाद गालरिया ने बताया कि सरकार के निर्देशों की पालना में अस्पताल को नॉन कोविड बनाने की दिशा में सभी तैयारियां पूरी कर ली गई है.

सोशल मीडिया पर कांग्रेस का कैम्पेन, सचिन पायलट, अविनाश पांडे समेत प्रमुख नेता हुए शामिल

अस्पताल के विभिन्न हिस्सों का एक घंटे किया निरीक्षण:
कोरोना के मरीजों की आरयूएचएस में शिफ्टिंग का काम जारी है.उन्होंने बताया कि बुखार, खासी, जुखाम समेत अन्य आईएलआई के केस के लिए चरक भवन में अलग से ओपीडी चलती रहेगी.इसके अलावा गंभीर मरीजों के लिए अस्पताल के ही ठीक पास स्थित संक्रामक रोग हॉस्पिटल में उपचार जारी रहेगा.गालरिया ने ये भी स्पष्ट किया कि चरक भवन में पहले संचालित हो रही स्कीन और ईएनटी डिपार्टमेंट को भी फिर से शुरू किया जाएगा.हालांकि, ये डिपार्टमेंट दूसरी जगह पर संचालित होंगे, ताकि संक्रमण का खतरा नहीं रहे. 

भाजपा नेता संबित पात्रा अस्पताल में भर्ती, कोरोना वायरस के लक्षण दिखने पर हुए अस्पताल में भर्ती

सोशल मीडिया पर कांग्रेस का कैम्पेन, सचिन पायलट, अविनाश पांडे समेत प्रमुख नेता हुए शामिल

सोशल मीडिया पर कांग्रेस का कैम्पेन, सचिन पायलट, अविनाश पांडे समेत प्रमुख नेता हुए शामिल

जयपुर: कांग्रेस ने गुरुवार से देशभर में सोशल मीडिया कैम्पेन चलाया. देशभर के कांग्रेस नेता और कार्यकर्ताओं की इसमें भागीदारी रही. राजस्थान से भी बड़ी तादाद में कांग्रेस नेता कैम्पेन से जुड़े. प्रवासी श्रमिकों ,कामगार ,मजदूर,मध्यम वर्ग,छोटे व्यापारियों की मांग केन्द्र सरकार के सामने रखी. 

जेब तक पहुंचे सीधा पैसा: 
डिप्टी सीएम और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सचिन पायलट ने फेसबुक पर कहा कि जरुरत है प्रवासी श्रमिकों की पीड़ा को दूर करना,उन गरीब कामगारों की आवाज बुलंद करना,जिन्होंने लॉकडाउन में दंश झेला,पायलट ने फेसबुक पर कहा कि कांग्रेस पार्टी चाहती है ऐसे लोगों की मदद की जाए, जो इनकम टैक्स तक नहीं दे पा रहे,उनकी जेब तक सीधा पैसा पहुंचाया जाये. 

मुंबई से श्रमिक स्पेशल ट्रेन पहुंची चूरू, 120 प्रवासियों को चूरू लेकर पहुंची ट्रेन

कांग्रेस की पहल का स्वागत:
पायलट ने सोशल मीडिया अभियान के जरिए केन्द्र सरकार से यहीं मांग की. पायलट ने कहा कि मनरेगा में राजस्थान में अच्छा काम किया है. कांग्रेस राज्य प्रभारी अविनाश पांडे ने कहा कि केंद्र सरकार से हमारी मांग है कि मध्यम वर्ग ,छोटे उधोग धंधो की मदद की जाये,मनरेगा में रोजगार 200दिन किया जाये,प्रवासी श्रमिकों को नि शुल्क सेवा से घर पहुंचाया जाए. चिकित्सा और स्वास्थ्य मंत्री डॉ रघु शर्मा ने कैम्पेन में भाग लिया और कांग्रेस की पहल का स्वागत किया.

कोरोना का खौफ...! वक्त पर मिल जाती बुजुर्ग इंसान को मदद, तो बच सकती थी जान, 3 घंटे तक बाजार में रहा बेहोश 

Open Covid-19