जयपुर VIDEO: राजस्थान में राजनीतिक नियुक्तियों को लेकर एक बार फिर अटकलों का दौर जारी, CM अशोक गहलोत जल्द खोल सकते हैं पिटारा

VIDEO: राजस्थान में राजनीतिक नियुक्तियों को लेकर एक बार फिर अटकलों का दौर जारी, CM अशोक गहलोत जल्द खोल सकते हैं पिटारा

जयपुर: बहुप्रतीक्षित मंत्रिमंडल राजनीतिक नियुक्तियों को लेकर एक बार फिर अटकलों का दौर जारी है. माना जा रहा सीएम अशोक गहलोत जल्द पिटारा खोल सकते है . कहा यही जा रहा है कि सोनिया गांधी ने राजनीतिक नियुक्तियों से जुड़े नामों पर अपनी सहमति दे दी है . बस सीएम गहलोत की ओर से घोषणा का इंतजार है. प्रदेश स्तरीय नियुक्तियों के साथ ही UIT चेयरमैन बनाए जा सकते है,इनमें विधायक भी लिए जा सकते है.

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ,पीसीसी चीफ गोविंद सिंह डोटासरा और प्रदेश प्रभारी अजय माकन के बीच मंथन के बाद सियासी नियुक्तियों के नामों पर सहमति बन गई थी,सचिन पायलट से भी पसंद पूछी गई थी . अब कहा जा रहा है कि कांग्रेस राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी ने नामों को फाइनल कर दिया है. केवल इंतजार है मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की ओर से अधिकृत घोषणाओं का. कहा जा रहा है कि बीएसपी से कांग्रेस में आए विधायकों को सियासी नियुक्तियों का तोहफा मिल सकता है. माना जा रहा कि उन नेताओं को नियुक्तियां देने की तैयारी है जो समर्पित रहे है और जिनकी कांग्रेस पार्टी के प्रति निष्ठा रही है ,गुटबाजी से परे जिन्होंने कांग्रेस की सच्ची सेवा की. अनुभवी और कर्मठ चेहरों को प्राथमिकता मिलेगी, उप चुनावों में सफलतापूर्वक टास्क निभाने वाले चेहरों को वरियता मिलेगी. किसान आयोग, हाउसिंग बोर्ड,आर टी डी सी,बीज निगम,एससी आयोग,एस टी आयोग,महिला आयोग,हज हाउस,देवनारायण बोर्ड,खादी आयोग,देवस्थान बोर्ड,खादी बोर्ड, अकादमी,केशकला बोर्ड,हिन्दी अकादमी, यूथ बोर्ड,क्रीडा परिषद,विप्र बोर्ड,माटी कला बोर्ड डांग विकास बोर्ड ,जन अभाव अभियोग निराकरण समिति,हाउसिंग बोर्ड समेत कई पदों पर नियुक्ति दी जा सकती है. साथ ही  विभिन्न यू आ टी में नियुक्तियां होनी है.

ये प्रमुख नाम चर्चाओं में

डॉ चंद्रभान

पुखराज पाराशर

धर्मेंद्र राठौड़

रेहाना रियाज

सुरेंद्र सिंह जाडावत

लाखन सिंह मीणा

रफीक खान

जुबेर खान

धीरज गुर्जर या उनके करीबी रिश्तेदार

बालेंदु सिंह शेखावत

संजय गुर्जर

बृज किशोर शर्मा

वाजिब अली

संदीप यादव

सियासी हलकों में यह सवाल गूंज रहा है कि कांग्रेस टिकट पर बीते लोकसभा और विधानसभा चुनाव हार चुके नेताओं को क्या राजनीतिक नियुक्ति मिलेगी? क्या उन्हें नियुक्ति मिलेगी जिन्हे नहीं मिली थी पिछले विधानसभा चुनाव में टिकट ? क्या चुनाव हार चुके नेताओं को मिलेगा सियासी पद !क्या पिछली गहलोत सरकार में पद पा चुके नेताओं को फिर मिलेगा अवसर ! राजनीतिक नियुक्तियों से पहले ये यक्ष प्रश्न गूंज रहा है सत्ता के गलियारों में.  

...फर्स्ट इंडिया के लिए योगेश शर्मा की रिपोर्ट
 

और पढ़ें