UP सरकार में दरार की अटकलों पर ​विराम, उत्तरप्रदेश में बने रहेंगे Yogi, बताया- किसलिए हो रहीं बैठकें

UP सरकार में दरार की अटकलों पर ​विराम, उत्तरप्रदेश में बने रहेंगे Yogi, बताया- किसलिए हो रहीं बैठकें

UP सरकार में दरार की अटकलों पर ​विराम, उत्तरप्रदेश में बने रहेंगे Yogi, बताया- किसलिए हो रहीं बैठकें

लखनऊ: भारतीय जनता पार्टी (BJP) के बड़े नेताओं और UP के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Aditya Nath) के बीच हो रही ताबड़तोड़ बैठकों (Snap Meetings) को लेकर जारी अटकलों पर अब पार्टी ने विराम लगा दिया है. पार्टी सूत्रों ने कहा है कि दरार की अटकलें निराधार हैं.

पार्टी के वरिष्ट नेताओं से मिलकर यूपी के मुद्दों की समीक्षा:
उन्होंने यह भी कहा है कि पार्टी के वरिष्ठ नेताओं के बीच किसी तरह का मतभेद नहीं है, बल्कि PM मोदी, BJP चीफ जेपी नड्डा (BJP Chief JP Nadda) और केंद्रीय मंत्री अमित शाह (Union Minister Amit Shah) राज्य के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ मिलकर UP से जुड़े अलग-अलग मुद्दों की समीक्षा कर रहे हैं. पार्टी के वरिष्ठ नेताओं ने यह भी बताया कि इन बैठकों से योगी के विरोध में उठने वाली आवाजों के खिलाफ भी एक सख्त संदेश है. BJP के एक वरिष्ठ नेता ने कहा कि इन बैठकों का उद्देश्य आगामी चुनाव में जीत के लिए रणनीति (Strategy) बनाने के साथ ही राज्य नेतृत्व को यह संदेश देना बी है कि अगले विधानसभा चुनाव (Assembly Elections) में योगी ही चेहरा होंगे.

पिछले दो दिनों में सीएम योगी ने की ताबड़तोड़ बैठकें:
पिछले दो दिनों में BJP के बड़े नेताओं, PM मोदी, पार्टी चीफ जेपी नड्डा, गृहमंत्री अमित शाह और UP के सीएम योगी आदित्यनाथ के बीच दिल्ली में कई बैठकें हुई हैं. सूत्रों ने कहा कि बैठकों का उद्देश्य योगी में विश्वास को दर्शाना (Showing Faith In The Yogi) है. सूत्रों ने यह भी बताया कि इन चर्चाओं के केंद्र में केंद्र की योजनाओं (Center Scheme) के अनुपालन और राजनीतिक व जातिगत समीकरण (Political and Caste Equations) भी रहे हैं.

केंद्रीय योजनाओं के लाभार्थियों की संख्या बढ़ाने पर हुई चर्चा:
सूत्रों ने बताया कि PMमोदी, बीजेपी चीफ नड्डा और केंद्रीय मंत्री अमित शाह के साथ योगी की बैठक में आगामी विधानसभा चुनाव के लिए रोडमैप (Road Map) को अंतिम रूप दिया गया है. पार्टी नेताओं ने बताया कि पीएम और CM के बीच मुलाकात के दौरान विधानसभा चुनाव से पहले राज्य में केंद्रीय योजनाओं के लाभार्थियों की संख्या बढ़ाने पर चर्चा हुई. सूत्रों ने यह भी बताया कि बैठकों में योगी ने कोरोना महामारी (Covid Pandemic) के दौरान उनकी सरकार के किए गए कामों के बारे में भी जानकारी दी. 

2022 में यूपी में होने है विधानसभा के चुनाव:
UP में अगले साल 2022 में विधानसभा का चुनाव होने जा रहा है. स्थानीय चुनावों में पार्टी के खराब प्रदर्शन के बाद 2024 के लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Elections) से पहले BJP की बड़ी परीक्षा होने जा रही है. यूपी में विधानसभा की 403 सीटें हैं तो लोकसभा में यहां से 80 सांसद चुनकर पहुंचते हैं. कहा जाता है कि दिल्ली का रास्ता UP से होकर ही गुजरता है.

और पढ़ें