राजनीतिक गलियारों में वैभव गहलोत को टिकट दिए जाने को लेकर अटकलें तेज

Suryaveer Singh Tanwar Published Date 2019/03/24 02:33

जैसलमेर। कांग्रेस के आगामी लोकसभा चुनाव के लिए अपने प्रत्याशियों की सूची तैयार करने की कवायद के बीच, राजनीतिक गलियारों में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के बेटे वैभव को टिकट दिए जाने को लेकर अटकलें तेज हो गई हैं। प्रदेश में सत्ता की आहट ने कांग्रेस को सतर्क कर रख दिया है जिसके चलते जैसलमेर के बाद पोकरण से भी कांग्रेस द्वारा बड़ा नाम आगे किए जाने की मांग उठ रही है। पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के पुत्र वैभव गहलोत द्वारा पोकरण-जोधपुर लोकसभा सीट से राजनीतिक जीवन प्रारंभ किए जाने की मांग उठ रही है। राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत ने अपने बेटे वैभव गहलोत को अपनी राजनीतिक विरासत सौंपने की तैयारी में जुटे हुए हैं। 

सरहदी जिले जैसलमेर की परमाणु नगरी पोकरण से आगामी लोकसभा चुनावों को लेकर वैभव गहलोत की दावेदारी की मांग लगातार तेज होती जा रही है। गौरतलब है कि जैसलमेर जिले की पोकरण विधानसभा जोधपुर संसदीय क्षेत्र का अंग है। वहीं मारवाड़ क्षेत्र के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का स्वंय का क्षेत्र होने के कारण कांग्रेसी कार्यकर्ता भी वैभव को मजबूत उम्मीदवार मानते हैं। जातीय समीकरण में जोधपुर संसदीय क्षेत्र में वैभव को टिकट मिलने से ओबीसी वर्ग एकजुट हो जाएगा। वहीं मुसलिम व अनुसूचित जाति के मतदाता कांग्रेस की परंपरागत वोट बैंक है। ऐसे में वैभव गहलोत प्रभावशाली उम्मीदवार बनकर मैदान में उतरेंगे। 

वहीं वैभव को टिकट मिलने पर कांग्रेसी कार्यकर्ताओं में जबरदस्त जोश का संचार होना भी तय माना जा रहा है। पोकरण क्षेत्र से सोशल मीडिया के साथ साथ अन्य प्लेटफार्म पर वैभव को टिकट दिलवाने की मांग उठ रही है। पोकरण विधानसभा क्षेत्र से महंत प्रतापपुरी को हराकर केबीनेट मंत्री बन चुके सालेह मोहम्मद भी वैभव गहलोत को टिकट देने के पक्ष में है। कुछ दिनों पूर्व मुख्यमंत्री के जोधपुर भ्रमण के दौरान केबीनेट मंत्री विभिन्न सभाओं में वैभव की दावेदारी की मांग कर चुके हैं। इतना ही नहीं गत लोकसभा चुनावों में लम्बे अंतराल से जीतने वाले गजेन्द्रसिंह भाजपा के सबसे मजबूत दावेदार है लेकिन कांग्रेसी कार्यकर्ता युवा वैभव गहलोत को मैदान में उतारने के पक्ष में है। वैभव गहलोत के मैदान में उतरने से निश्चित रूप से कांग्रेस कार्यकर्ताओं में नए जोश का संचार भी होगा। जिले भर से कांग्रेस के विभिन्न संघटन भी वैभव गहलोत की टिकट की पैरवी कर रहे हैं। 

क्यों है वैभव गहलोत मजबूत
हाल ही में सम्पन्न हुए विधानसभा चुनावों में जोधपुर लोकसभा की 8 में से 6 सीटों पर कांग्रेस ने जीत का परचम लहराया है। वहीं जननायक व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का मारवाड़ में जबरदस्त प्रभाव है। मुख्यमंत्री का जोधपुर गृह जिला है वहीं गहलोत स्वयं जोधपुर से लोकसभा का चुनाव जीत चुके हैं। गहलोत के कार्यकाल में जोधपुर ने विकास की नई इबारत लिखी है। अपने मुख्यमंत्री के दो कार्यकाल के दौरान गहलोत ने जोधपुर में विकास की गंगा बहाई है। जननायक के विकास कार्यों की समूचे मारवाड़ में जमकर प्रशंसा होती रही है। वैभव गहलोत युवा होने के कारण युवाओं की पहली पसंद है। वैभव गहलोत को टिकट मिलने से युवाओं में नए जोश का संचार होगा। वहीं जोधपुर लोकसभा क्षेत्र में ओबीसी वर्ग के अच्छी तादाद में वोट है। जिसका सीधा फायदा वैभव को होने की संभावना है। वहीं जोधपुर लोकसभा संसदीय क्षेत्र में जीत दर्ज कर चुके विधायकों को भी अपनी जीत से ज्यादा कांग्रेस उम्मीदवार की बढ़त के ग्राफ को बढ़ाना उनका लक्ष्य होगा।

केन्द्रीय मंत्री को मात देने का है मादा
जोधपुर लोकसभा क्षेत्र से भाजपा प्रत्याशी व केंद्रीय मंत्री गजेन्द्रसिंह प्राभवशाली उम्मीदवार है। गत चुनावो में लंबे अन्तराल से गजेन्द्रसिंह ने जीत दर्ज की थी। ऐसे में केंद्रीय मंत्री को शिकस्त देने का मादा वैभव गहलोत रखते है। जननायक का पुत्र होने का सीधा फायदा वैभव गहलोत को मिलेगा। वहीं जातिगत आधार पर भी वैभव काफी असरदार उम्मीदवार साबित हो सकते हैं। युवा होने के कारण युवा वर्ग का भी वैभव को लाभ मिलना निश्चित है।

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in