फिर अटका अन्य सेवाओं से IAS प्रमोशन, अब भारत निर्वाचन आयोग के पाले में गेंद

Dr. Rituraj Sharma Published Date 2018/11/14 10:37

जयपुर। नॉन स्टेट सिविल सेवा यानी अन्य सेवाओं से आईएस में प्रमोशन का मामला फिर अटक गया है। जवाब तलब के बाद कार्मिक विभाग ने अपना स्पष्टीकरण निर्वाचन विभाग को भेज तो दिया है, लेकिन अब पूरे मामले पर निर्णय भारत निर्वाचन आयोग ही करेगा। 

सीईओ आनंद कुमार ने कार्मिक विभाग से सवाल किया था कि यह न तो भर्ती और न ही पदोन्नति, बल्कि विशेष चयन का मामला है। ऐसे में किस नियम या किस आदेश के तहत यह प्रक्रिया की गई। साथ ही यह भी पूछा है कि ऐसा क्या कारण है कि चुनाव आयोग से इस प्रक्रिया के लिए अनुमति जरूरी नहीं समझी गई है। उन नियमों के आदेश की कॉपी निर्वाचन विभाग को उपलब्ध कराने के निर्देश दिए हैं। 

गौरतलब है कि आरएएस का बड़ा वर्ग सीएस और सीईओ से मिलकर आरोप लगा चुका है कि पूरी प्रक्रिया सत्ताधारी दल के अलवर जिले से आने वाले नेता के उस रिश्तेदार को लाभ पहुंचाने के लिए है जो सिविल डिफेंस में अफसर हैं। इसे लेकर कार्मिक विभाग ने जवाब दे दिया है जिसे अब पूरे तथ्यों के साथ ECI को भेजा है। उधर कैट में कल इस मामले की सुनवाई के बाद अगली सुनवाई 28 नवंबर को होगी।

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in

बीजेपी से ज्यादा झूठ कोई नहीं बोलता-अखिलेश यादव

भगोड़े मेहुल चोकसी ने छोड़ी भारत की नागरिकता
देश में बढ़ी अमीरी-गरीबी के बीच की खाई
वाराणसी में आज से 15वें प्रवासी भारतीय सम्मेलन का आगाज़
राहुल गांधी बोले- 100 दिन में PM मोदी के अत्याचार से मुक्ति मिल जाएगी
रैलियों का तिहरा शतक लगाएंगे मोदी
PM मोदी को CM गहलोत की \'पाती\'
ज़मीन से आसमान तक \'कोहरा\'म
loading...
">
loading...