राज्य निर्वाचन आयोग के आयुक्त ने दिए मतदाता सूची संबंधी जरूरी निर्देश 

Dr. Rituraj Sharma Published Date 2019/09/04 09:55

जयपुर: राज्य निर्वाचन आयोग के आयुक्त पीएस मेहरा ने आज 25 जिलों के 52 नगर निकायों के रजिस्ट्रीकरण अधिकारियों और अन्य अधिकारियों को मतदाता सूची संबंधी जरूरी निर्देश दिए. सचिवालय में वीसी के जरिये उन्होंने समीक्षा करते हुए कहा कि चुनाव को निष्पक्ष और पारदर्शी बनाने के लिए त्रुटिरहित मतदाता सूची का होना बेहद जरूरी है. 

मतदाता सूची पूरी तरह बने शुद्ध:
मेहरा ने कहा कि यह सुनिश्चित किया जाए कि कोई भी पात्र मतदाता का नाम मतदाता सूची से वंचित नहीं रहे और मतदाता सूची पूरी तरह शुद्ध बने. उन्होंने कहा कि में वार्डों के पुनर्गठन एवं परिसीमन का कार्य कराया जा चुका है. नवीन परिसीमन के अनुसार निर्वाचक नामावली की शुद्वता के लिए संबंधित नगरनिकायों के आयुक्त या अधिशाषी अधिकारी एवं कार्मिक बेहतर सामंजस्य के साथ कार्य करें ताकि चुनाव के दौरान किसी तरह की परेशानी ना हो. 

विशेष अभियान का होगा आयोजन:
आयोग की सचिव शुचि त्यागी ने बताया कि शहरी निकाय का चुनाव कराने के लिए भारत निर्वाचन आयोग से 15 अप्रेल तक जोड़े गए नामों की मतदाता सूची को लिया गया है. ऐसे में जिन मतदाताओं ने 15 अप्रेल के बाद विधानसभा की मतदाता सूची में नाम जुड़वाए होंगे, उनके नाम नगरपालिका की मतदाता सूची में नहीं होंगे. उन सभी मतदाताओं के नाम राज्य निर्वाच्न आयोग की मतदाता सूची में जुड़वाना सुनिश्चत करें. अन्य मतदाता जांच लें और उनका नाम नहीं हो तो 14 से 23 सितंबर की अवधि में अपना नाम जुड़वा लें या किसी भी प्रकार का कोई संशोधन हो तो वह भी करवा लें. उन्होंने सभी अधिकारियों को भी 3, 5 और 6 नंबर प्रपत्र के बारे में लोगों को जागरूक करने और विभिन्न स्थानों पर कैंप्स लगाने के निर्देश भी दिए.  15, 21 और 22 सितंबर को विशेष अभियान रखा जाएगा. 

... संवाददाता ऋतुराज शर्मा की रिपोर्ट 

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in