रांची झारखंड की खुबसूरती पर राज्यपाल रमेश बैस का बयान,कहा- प्रकृति ने झारखंड को इतना सौंदर्य दिया है कि विदेशों में फिल्म शूटिंग की आवश्यकता नहीं

झारखंड की खुबसूरती पर राज्यपाल रमेश बैस का बयान,कहा- प्रकृति ने झारखंड को इतना सौंदर्य दिया है कि विदेशों में फिल्म शूटिंग की आवश्यकता नहीं

झारखंड की खुबसूरती पर राज्यपाल रमेश बैस का बयान,कहा- प्रकृति ने झारखंड को इतना सौंदर्य दिया है कि विदेशों में फिल्म शूटिंग की आवश्यकता नहीं

रांची: झारखंड के राज्यपाल रमेश बैस ने रविवार को यहां कहा कि झारखंड में फिल्मों के निर्माण के अनुकूल वातावरण है और प्रकृति ने इस प्रदेश को इतना सौंदर्य प्रदान किया है कि किसी को विदेशों में जाकर शूटिंग करने की आवश्यकता महसूस नहीं होगी. 

राज्यपाल ने ‘झारखंड अंतरराष्ट्रीय फिल्म महोत्सव-2021’ का उद्घाटन करते हुए यह उद्गार व्यक्त किये. राज्यपाल ने कहा कि फिल्मों के लिए यहाँ बिल्कुल अनुकूल वातावरण है. मैं तो कहूँगा कि प्रकृति ने इस प्रदेश को इतना कुछ दिया है कि आप लोगों को विदेशों में जाकर शूटिंग करने की आवश्यकता महसूस ही नहीं होगी. उन्होंने कहा कि सूचना एवं प्रसारण राज्य मंत्री के रूप में मुझे कई देशों में फिल्म महोत्सव में जाने का अवसर प्राप्त हुआ है. झारखंड राज्य में अंतरराष्ट्रीय फिल्म महोत्सव का आयोजन होना गौरव का विषय है. उन्होंने कहा कि यह प्रसन्नता का विषय है कि आज इस कार्यक्रम में गुलशन ग्रोवर एवं पूनम ढिल्लों समेत कई कलाकारों ने भाग लिया. 

वर्ष 2018 से झारखंड अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव का चल रहा आयोजन:
राज्यपाल ने कहा कि फिल्मों के स्वरूप में अभी पूर्व की अपेक्षा काफी परिवर्तन आया है. फिल्मों में संगीत की शैली में भी बदलाव देखा जा रहा है. उन्होंने कहा कि मुझे बताया गया कि झारखंड में वर्ष 2016 में झारखंड फिल्म नीति के लागू होने के बाद वर्ष 2018 से झारखंड अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव का आयोजन प्रारंभ हुआ जिसमें पहली बार चार देशों ने हिस्सा लिया. फिर वर्ष 2019 में 12 देशों ने भाग लिया और 2020 के कोरोना काल में 52 देशों से 657 फिल्में फिल्म महोत्सव में आयीं। वर्ष 2020 में ऑनलाइन फिल्म फेस्टिवल का आयोजन किया गया और पिछले वर्ष भी 150 से अधिक फिल्में दिखाई गईं. यह झारखंड के लिए बहुत ही गौरव का विषय है, बैस ने कहा कि इस वर्ष 24 देशों से इस महोत्सव में 152 फ़िल्में आई हैं. इस तरह के आयोजन से झारखंड में पर्यटन को सिर्फ बढ़ावा ही नहीं मिलता है बल्कि फिल्म शूटिंग की गतिविधियों से झारखंड के कलाकारों को रोजगार का भी अवसर प्राप्त होता है. 

झारखंड राज्य प्राकृतिक सौंदर्य के लिए प्रचलित:
उन्होंने कहा कि जैसा कि आप जानते हैं कि झारखंड राज्य प्राकृतिक एवं धार्मिक दृष्टिकोण से अत्यन्त समृद्ध है. प्रकृति ने इसे बहुत ही सौंदर्य व खूबसूरती प्रदान की है, यहाँ की कला एवं संस्कृति भी अत्यन्त समृद्ध है. उन्होंने कहा कि मेरा मानना है कि फिल्म निर्माण हेतु आप सब लोग इन बिन्दुओं पर गंभीरतापूर्वक ध्यान देते होंगे. आप सबको इस प्रदेश का पूर्णतः अवलोकन कर इस दिशा में आगे बढ़ना चाहिए. राज्यपाल ने कहा कि जहाँ कहीं भी इस दिशा में आपको असुविधा महसूस हो तो मुझे अवगत कराएं, मैं उसके निदान हेतु हमेशा तत्पर रहूँगा. उन्होंने कहा कि झारखंड राज्य के युवा अत्यंत मेधावी हैं, फिल्म व अभिनय के प्रति भी उनकी काफी रुचि है.  ऐसे में यहाँ शूटिंग होने से उन्हें भी अपनी प्रतिभा दिखाने के बेहतर अवसर मिलेंगे. सोर्स-भाषा


 

और पढ़ें