विधायक बाबू लाल नागर का बयान, कहा- 90 फीसदी विधायक अशोक गहलोत के साथ

विधायक बाबू लाल नागर का बयान, कहा- 90 फीसदी विधायक अशोक गहलोत के साथ

विधायक बाबू लाल नागर का बयान, कहा- 90 फीसदी विधायक अशोक गहलोत के साथ

जयपुर: प्रदेश की राजनीति में एक बार फिर सियासी बयानबाजियों का सीजन शुरू हो गया है. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के समर्थक पूर्व मंत्री और दूदू से निर्दलीय विधायक बाबूलाल नागर ने नाम लिए बिना सचिन पायलट गुट पर निशाना साधा है. ऐसे में एक बार फिर प्रदेश की राजनीति में जुबानी जंग शुरू होने के आसार बन गए हैं. 

विधायक बाबूलाल नागर ने कहा कि अशोक गहलोत राजस्थान ही नहीं पूरे देश की कांग्रेस के धरोहर हैं. जब हम हाफ पेंट पहनकर घूमते थे तब अशोक गहलोत कांग्रेस का झंडा लेकर घूमते थे. हम खुद उन्हें देखकर कांग्रेस में आए हैं. इसके साथ ही नागर ने कहा कि कांग्रेस कार्यकर्ताओं को गहलोत से ज्यादा जानने और चाहने वाला नेता कोई नहीं है. ऐसे में उनकी तुलना कोई नहीं कर सकता. 

जैसा माहौल था उससे कांग्रेस की 150 सीटें आ रही थीं:
दूदू विधायक ने कहा कि बीजेपी सरकार के खिलाफ जैसा माहौल था उससे कांग्रेस की 150 सीटें आ रही थीं, वह 99 पर ही क्यों सिमट गई? आज जो लोग मेहनत कर सरकार बनाने का दावा कर रहे हैं वे बताएं कि जीतने वाले लोगों के टिकट काटकर जमानत जब्त होने वाले लोगों को टिकट किसने दिए, किसी को आगे लाने की होड़ में कांग्रेस का नाश कर दिया. ऐसे में इन नेताओं को कांग्रेस हाईकमान से माफी मांगनी चाहिए जिन्होंने कांग्रेस को 150 से 99 पर लाकर छोड़ दिया. 

90 फीसदी विधायक अशोक गहलोत के साथ:
इसके साथ ही उन्होंने कहा कि कांग्रेस के 80 से 90 फीसदी विधायक अशोक गहलोत को पसंद करते हैं. विधायकों का बहुमत अशोक गहलोत के साथ है, इसीलिए हाईकमान ने उन्हें सीएम बनाया है. हाईकमान के विश्वास के साथ विधायकों का विश्वास भी गहलोत के साथ है.  उन्होंने कहा कि मैं राजेश पायलट को आदर्श मानता हूं, उनका प्रशंसक हूं. मैं सचिन पायलटजी का आलोचक नहीं हूं. इसके साथ ही कहा कि निशाना साधते हुए कहा कि ऐसा ही कोई जादू है तो आपने एमपी का चुनाव लड़ा था तो खुद नहीं जीत पाए थे.  इसलिए कोई गलतफहमी नहीं पाले, एक नेता के दम पर नहीं सबको साथ लेकर चलने से और कार्यकर्ताओं की मेहनत से ही सरकार बनती है. 

...फर्स्ट इंडिया न्यूज के लिए योगेश शर्मा की रिपोर्ट

और पढ़ें