राजधानी में फिर हुआ दो पक्षों में जमकर पथराव, 15 थाना क्षेत्रों में धारा-144, इंटरनेट बंद

FirstIndia Correspondent Published Date 2019/08/14 07:58

जयपुर: राजधानी के गलता गेट इलाके में सोमवार रात हुए उपद्रव के बाद मंगलवार का दिन तो शांति से निकल गया लेकिन शाम होने के बाद एक बार फिर हालात बद से बदत्तर हो गए. देर रात एक बार फिर उपद्रवियों ने अलग अलग इलाको में एक दूसरे पर पत्थर बरसाने शुरू कर दिए. इतना ही नही टोली के रूप में एकत्रित होकर लोगों ने एक दूसरे के इलाकों में जाकर घर के बाहर खड़ी गाडियों में जमकर तोड़फोड़ मचाई. करीबन चार घंटे तक चले इस घटनाक्रम के बाद पुलिस कमिश्नर आनन्द श्रीवास्तव ने शहर के15 थाना इलाको में धारा 144 लागू करने के आदेश दिए. 

तनाव ने शहर भर में फैला दी दहशत: 
गुलाबी नगरी के गलता गेट थाना इलाके में सोमववार रात फैली अफवाह से जो तनाव पैदा हुआ था उस तनाव का एहसास मंगलवार रात को भी देखने को मिला. सुभाष चौक, ब्रह्मपुरी, रामगंज गलता गेट इन चार थानों के बीच में फैले तनाव ने शहर भर में दहशत फैला दी. तनाव का आलम यह था कि दिल्ली रोड़ के आस पास के इलाकों में रहने वाले दो समुदाय के लोगों ने एक दूसरे के के उपर जमकर पत्थर बरसाए. पथराव में 3 पुलिसकर्मियों सहित करीब 15 लोग घायल हुए है. इतना ही नहीं उपद्रवियों ने भड़काऊ नारेबाजी की तो दूसरा पक्ष भी सामने आ गया. इस बीच उपद्रवियों ने  गलता गेट इलाके में शांति नगर में करीबन 20 से अधिक गाडियों और घरों पर पथराव  किया और शीशे तोड़ दिए. भीड़ को काबू करने के लिए मौके पर पहुंचे पुलिसबल ने आंसू गैस के गोले छोड़े और बल प्रयोग कर भीड़ को खदेड़ा. लेकिन एक के बाद एक दूसरे इलाकों में पत्थर बाजी की सूचना के बाद पुलिस कमिश्नर आनन्द श्रीवास्तव भी रामगंज थाने पहुंच गए. बाद में स्थिति को देखते हुए शहर के 15 थाना इलाकों में धारा 144 लागू करने का आदेश देते हुए नेट बंदी को बुधवार रात 12 बजे तक के लिए बढ़ा दिया. लेकिन इसके बाद भी अलग अलग इलाकों में पत्थरबाजी की घटनाओं ने शहरवासियों को सकते में ला दिया.

अधिकारी उपद्रव वाले इलाकों में शांति की रणनिति बनाते रहे: 
मामला बढता देख कर एडीली लॉ एंड आर्डर मोहन लाल लाठर,एडीजी क्राइम बी एल सोनी,डीसीपी ट्रेफिक राहुल प्रकाश,डीसीपी वेस्ट विकास शर्मा,डीसीपी साउथ योगेश दाधीच,डीसीपी नॉर्थ मनोज चौधरी सहित कमिश्नरेट के आलाधिकारी भी रामंगज थाने पहुंच गए. आलम ये था कि अधिकारी उपद्रव वाले इलाकों में शांति की रणनिति बनाते रहे और संवेदनशील इलाको में उपद्रवी लगातार एक दूसरे के उपर पत्थर बरसाते रहे.

4 बजे पूर्णतया शांति पा ली गई:
शहर में दो दिनो से चल रहे उपद्रव पर अल सुबह 4  बजे पूर्णतया शांति पा ली गई और संवेदनशील इलाकों में पुलिस का अतिरिक्त जाप्ता तैनात किया गया. इसके बावजूद भी इन इलाकों में रहने वाले लोग अपने अपने घरों में डर में मारे दुबके नजर आऐ. इतना ही नहीं इन घरो के झरोखो से रोते हुए बच्चे कुछ भी समझ पाने में असमर्थ थे. 

इन घटनाओं ने पूरे शहर को हिला कर रख दिया:  
बहरहाल इन घटनाओं ने पूरे शहर को हिला कर रख दिया है. क्यों की एक तरफ तो स्वतंत्रता दिवस का पर्व और उसी दिन रक्षाबंधन का पावन त्यौहार. ऐसे में पुलिस के आलाधिकारियों ने इन इलाको में पुलिस का भारी जाप्ता तैनात करते हुए आमजन को पूर्ण सुरक्षा का भरोसा दिलाया है. ऐसे में अब जरूरत है की हम भी हमारे शहर की गंगा जमुनी तहजीब को नहीं भूलते हुए एक दूसरे पर विश्वास कायम करे.

...सत्यनारायण शर्मा फर्स्ट इंडिया न्यूज जयपुर

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in