चुनावी सीजन में आबकारी विभाग की सख्ती, अवैध शराब के 135 मामले दर्ज

FirstIndia Correspondent Published Date 2018/12/06 04:08

जयपुर। राजस्थान में अब चुनाव प्रचार थम चुका है और कल मतदान होगा। ऐसे में आबकारी विभाग ने भी अपनी जिम्मेदारी बखूबी ढंग से निभाई है। आबकारी विभाग के उड़नदस्तों ने आचार संहिता लागू होने से लेकर अब तक जयपुर शहर और ग्रामीण दोनों ही क्षेत्रों में अवैध शराब के परिवहन और बिक्री पर जमकर कार्रवाई की है। 

आबकारी विभाग के आबकारी निरोधक दल ने 6 अक्टूबर को प्रदेश में आदर्श आचार संहिता लागू होते ही कार्रवाई शुरू कर दी थी। इसके तहत प्रदेश के अलावा अन्य राज्यों की निर्मित शराब के परिवहन या बिक्री को रोका गया। इसके लिए आबकारी विभाग के जिला आबकारी अधिकारियों ने अलग-अलग टीमें गठित की थीं। ये टीमें पिछले दो माह से लगातार अपने-अपने क्षेत्रों में गश्त कर रही थीं। इसी का नतीजा रहा है कि बड़ी मात्रा में बिक्री के लिए लाई जाने वाली हरियाणा निर्मित शराब को इस बार रोका गया। आबकारी विभाग की टीमों ने कच्ची शराब बनाने वाले क्षेत्रों में विशेष रूप से निगरानी की। जयपुर जिले के आउटर में स्थित जामडोली, जमवारामगढ़, पालड़ी मीणा सहित दर्जनभर क्षेत्रों को चिन्हित कर इन पर मॉनीटरिंग की और शराब बनाने वाले लोगों पर सख्ती की। 6 अक्टूबर से अब तक हुई कार्रवाई की रिपोर्ट निर्वाचन विभाग को भी रोजाना भेजी जा रही है।

आचार संहिता में कहां कितनी कार्रवाई
जयपुर शहर
- 1167 स्थानों पर दबिश दी आबकारी निरोधक दल ने
- 70 मामले दर्ज, 86 मुल्जिम किए गए गिरफ्तार
- 3387 देशी शराब के पव्वे, 637 अंग्रेजी शराब के पव्वे जब्त
- 107 अंग्रेजी शराब की बोतल की गईं जब्त
- 184 बियर बोतल, 75 लीटर हथकड़ शराब नष्ट
- 2 वाहन जब्त, 3 चालू और 47 नष्ट भट्टी बंद कराईं
- 34300 लीटर शराब का वॉश नष्ट कराया गया
----------------------
जयपुर ग्रामीण
- 911 स्थानों पर दबिश दी आबकारी निरोधक दल ने
- 65 मामले दर्ज किए, 55 मुल्जिम गिरफ्तार किए गए
- 2098 पव्वे देशी शराब, 958 पव्वे अंग्रेजी शराब के जब्त
- 7024 अंग्रेजी शराब की बोतल, 28 अद्धा जब्त किए गए
- 170 लीटर हथकड़ शराब, 87 बियर बोतल जब्त
- 7 वाहन जब्त किए, 8 शराब की भट्टी नष्ट कराई गईं
- 11200 लीटर शराब का वॉश भी नष्ट कराया गया

कल शाम 5 बजे से प्रदेश में 48 घंटे के लिए सूखा दिवस घोषित हो चुका है। ऐसे में अब आबकारी विभाग के दल और ज्यादा सक्रिय हो चुके हैं। जयपुर जिले में गठित क्विक रिस्पॉन्स टीम शहर के विभिन्न इलाकों में गश्त कर रही हैं। आबकारी निरोधक दल के सहायक आबकारी अधिकारी प्रद्युमन सिंह चूंडावत ने बताया कि कुल 19 दल हैं जो जयपुर शहर और जयपुर ग्रामीण दोनों ही क्षेत्रों में लगातार मॉनीटरिंग कर रहे हैं। शराब की 500 से ज्यादा दुकानें बंद करवाई गई हैं। इसके अलावा जयपुर में स्थित 300 बियर बार-रेस्ट्रो बार को भी बंद कराया गया है। मतदान पूरा होने तक इन सभी क्षेत्रों में शराब की बिक्री या वितरण न हो, इस पर खास ध्यान रखा जा रहा है। शराब बिक्री करने वाले दुकान या बार मालिकों के खिलाफ केस दर्ज कर लाइसेंस निरस्तीकरण की कार्रवाई की जाएगी।
- काशीराम चौधरी, फर्स्ट इंडिया न्यूज, जयपुर

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in