Live News »

लॉकडाउन में फंसे स्टूडेंट्स कोटा से रांची के लिए सिंगल ट्रीप माइग्रेंट स्पेशल ट्रेन से रवाना

लॉकडाउन में फंसे स्टूडेंट्स कोटा से रांची के लिए सिंगल ट्रीप माइग्रेंट स्पेशल ट्रेन से रवाना

कोटा: राजस्थान के कोटा से रांची के लिए सिंगल ट्रीप माइग्रेंट स्पेशल ट्रेन चलाई गई. यह ट्रेन चलाने की मंजूरी राज्य सरकार की ओर से किए प्रस्ताव को आधार बनाकर रेल मंत्रालय द्वारा प्रदान की गई है. इस ट्रेन के 22 कोचों में कुल 1200 यात्री सफर कर सकते है.इसी के तहत लॉकडाउन की वजह से कोटा में फंसे झारखंड के कोचिंग स्टूडेंट्स को शनिवार को सिंगल ट्रिप माइग्रेट स्पेशल ट्रेन लेकर रांची पहुंची. कोटा रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म नम्बर 4 से ट्रेन ने रवाना होने की सिटी बजाई तो पूरा स्टेशन तालियों से गुंज उठा.

पूर्व विधायक भवानी सिंह राजावत भी पहुंचे स्टेशन:
कोचिंग स्टूडेन्स को घर जाने की बधाई देने के लिए पूर्व विधायक भवानी सिंह राजावत भी पहुँचे. छात्रों से बात करते हुए उन्होंने कहा कि खुशी-खुशी घर जाना लेकिन कोरोना और लॉक डाउन के बाद लौट कर वापस जरूर आना. कोटा देशभर के छात्रों के लिए गुरुकुल है ऑनलाइन कोचिंग की प्रवृत्ति के मोह में मत फंस जाना. 

न पैसा बचा न राशन...! ऐसे में लॉकडाउन में कोई पैदल, तो कोई साइकिल पर गांव जाने को मजबूर हुए मजदूर

कोचिंग के लिए कोटा जैसा वातावरण कहीं नहीं मिलेगा:
राजावत ने कहा कि देशभर के डेढ़ से दो लाख बच्चे धीरे-धीरे अपना पूरा सामान समेटकर ज्यो-ज्यो अपने प्रांतों में जा रहे हैं. कोटा के लाखों लोगों की धड़कनें तेज होती जा रही है और जीवन यापन की चिंता बढ़ती जा रही है. राजावत ने देश भर के छात्रों से आग्रह है कोचिंग के लिए कोटा जैसा वातावरण उन्हें कहीं नहीं मिलेगा. कोटा से कीर्तिमान स्थापित करने वाले छात्रों ने कोटा शहर और अपना परिवार का नाम रोशन किया है उनका भविष्य कोटा से ही उज्जवल है. 

4 वर्षीय मासूम बालिका का किया अपहरण, पुलिस ने 6 घण्टों में बालिका को किया दस्तयाब, दो आरोपी गिरफ्तार

और पढ़ें

Most Related Stories

कोटा ग्रामीण ACB की झालावाड़ में बड़ी कार्रवाई, 40 हजार की रिश्वत लेते 3 घूसखोर चढ़े हत्थे 

जयपुरः कोटा ग्रामीण एसीबी की टीम ने गुरुवार देर शाम झालावाड़ में बड़ी कार्रवाई करते हुए तीन घूसखोरों को 40 हजार रुपए की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथ गिरफ्तार किया है. आरोपियों ने परिवादी से बिल पास कराने की एवज में रिश्वत की मांग की थी.

{related}

22 लाख रुपए के पेंडिंग बिल पास कराने की एवज में मांगी थी रिश्वतः
जानकारी के अनुसार करीब छह महीने पहले परिवादी ने एसीबी कोटा को शिकायत दर्ज कराई थी इसके अनुसार करीब 22 लाख रुपए के पेंडिंग बिल को पास कराने की एवज में आरोपियों ने उससे 2 प्रतिशत रिश्वत की मांग की थी. इस दौरान एसीबी अधिकारी को कोरोना होने के चलते कार्रवाई को स्थगित कर दिया गया, गुरुवार को एसपी अनिल बेनीवाल के निर्देशन में एएसपी प्रेरणा शेखावत की टीम ने आरोपियों को ट्रैप करने की कार्रवाई को अंजाम दिया. इस दौरान अतिरिक्त जिला परियोजना समन्वयक कार्यालय में एसीबी टीम ने कार्रवाई करते हुए वरिष्ठ सहायक दीपक शर्मा को 40 हजार रुपए की रिश्वत लेते गिरफ्तार किया है. वहीं जिला शिक्षा अधिकारी रंगलाल मीणा, सहायक लेखाधिकारी महेन्द्र मीणा को भी ट्रैप किया है.

40 हजार रुपए की रिश्वत लेते किया गिरफ्तारः
एएसपी प्रेरणा शेखावत ने बताया कि मामले को लेकर कोटा और झालावाड़ दोनों जगह पर कार्रवाई की गई है. उन्होंने बताया कि 22 लाख रुपए के पेंडिंग बिल को पास कराने की एवज में इन्होंने 2 प्रतिशत रिश्वत (44 हजार रुपए) की मांग की थी, इसमें से 40 हजार रुपए गुरुवार को सहायक लेखाकर ने लिए हैं. जिस पर कार्रवाई की गई है. उन्होंने बताया कि तीनों आरोपियों की शिकायत मिली थी. जिन्हे ट्रैप कर लिया गया. उन्होंने बताया कि इनके अलावा मामले में किसी ओर की संलिप्तता नजर नहीं आती. टीम मामले की जांच में जुटी हुई है.

हत्या के बाद काली सिंध नदी में फेंकी गई लाश मामले की ब्लाइंड गुत्थी का खुलासा, मां के प्रेमी ने की थी हत्या

हत्या के बाद काली सिंध नदी में फेंकी गई लाश मामले की ब्लाइंड गुत्थी का खुलासा, मां के प्रेमी ने की थी हत्या

कोटा: कोटा ग्रामीण की काली सिंध नदी में हत्या के बाद बोरे में बंद कर फेंकी गई लाश के मामले की ब्लाइंड गुत्थी पुलिस ने सुलझाते हुए सनसनीखेज हत्याकांड का पर्दाफाश किया है. हत्या करने वाला कोई और नहीं बल्कि मृतक की मां का प्रेमी निकला. जिसने बेटे को रास्ते से हटाने के लिए उसकी कुल्हाड़ी से वार कर हत्या कर दी और फिर बोरे में बंद कर लाश को इटावा की काली सिंध नदी में फेंक दिया. 

{related}

अमृत लाल का भूली भाई के घर आना जाना लगा रहता था:
पुलिस की 3 दिन की पड़ताल के बाद आरोपी अमृत लाल उर्फ पप्पू मीणा और हत्याकांड में सहयोग करने वाला आरोपी सत्येंद्र को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. कोटा ग्रामीण के एएसपी पारस जैन के मुताबिक आरोपी अमृत लाल का मृतक आकाश की मां भूली बाई से अवैध संबंध थे, अमृत लाल का भूली भाई के घर आना जाना लगा रहता था. इस कारण कई बार आकाश और अमृतलाल के बीच झगड़ा भी हुआ. 

सबूत मिटाने के लिए लाश को बोरे में बंद कर कालीसिंध में फेंक दिया:
गत 16 नवंबर को भी अमृतलाल ने आकाश को रास्ते से हटाने के लिए उसकी हत्या की साजिश रची और अपने साथी सत्येंद्र के साथ मिलकर आकाश की कुल्हाड़ी से वार कर हत्या कर दी और सबूत मिटाने के लिए लाश को बोरे में बंद कर कालीसिंध में फेंक दिया. 

कोटा: चंबल नदी में मिला बेडशीट में बंधा महिला का शव, पुलिस कर रही जांच

कोटा: चंबल नदी में मिला बेडशीट में बंधा महिला का शव, पुलिस कर रही जांच

कोटा: जिले के इटावा थाना क्षेत्र के गैंता गांव के पास से निकल रही चंबल नदी की पुलिया के नीचे पानी में तैरता हुआ एक अज्ञात महिला का शव मिला. इसकी सूचना के बाद इटावा थाना पुलिस मौके पर पहुंची और ग्रामीणों की मदद से शव को नदी के किनारे पर लाया गया जिसके बाद अब शव की शिनाख्त के प्रयास किए जा रहे हैं. 

महिला का शव एक बेडशीट में बंधा होने के चलते प्रथम दृष्टया हत्या की आशंका:
वहीं घटना की सूचना के बाद मौके पर लोगों की खासी भीड़ जमा हो गई है. उक्त महिला का शव एक बेडशीट में बंधा होने के चलते प्रथम दृष्टया हत्या की आशंका जताई जा रही है और सर्वप्रथम पुलिस उक्त महिला के शव की शिनाख्त के प्रयास में जुटी हुई है. इटावा एसएचओ मुकेश मीणा के अनुसार सूचना मिली थी कि एक अज्ञात शव नदी के नीचे पानी में पड़ा हुआ है जिसकी सूचना पर एएसआई प्रकाश चंद शर्मा मय जाप्ते के साथ मौके पर पहुंचे और ग्रामीणों की मदद से शव को बाहर निकलवाया है और अब शव की शिनाख्त के प्रयास भी किए जा रहे हैं. साथ ही पूरे मामले को लेकर पुलिस जांच में जुटी हुई है.

{related}

पिछले 24 घंटे के भीतर यह तीसरा हत्या का मामला सामने आया:  
आपको बता दे की इटावा क्षेत्र में पिछले 24 घंटे के भीतर यह तीसरा हत्या का मामला सामने आया है जिसमे करवाड़ में पत्नी की हत्या के मामले में पुलिस पति को गिरफ्तार कर चुकी है लेकिन यह ब्लाइंड मर्डर पुलिस के लिए बड़ी पहेली है जिसे सुलझाने के लिए पुलिस को काफी मशक्कत करनी पड़ेगी.

कोटा दक्षिण नगर निगम के मेयर चुनाव में कांग्रेस-भाजपा कार्यकर्ताओं का हंगामा, हुई पत्थरबाजी, पुलिस को करना पड़ा लाठीचार्ज

कोटा दक्षिण नगर निगम के मेयर चुनाव में कांग्रेस-भाजपा कार्यकर्ताओं का हंगामा, हुई पत्थरबाजी, पुलिस को करना पड़ा लाठीचार्ज

जयपुर/कोटा. जिले में नगर निगम मेयर पद के लिए हो रहे चुनावों के दौरान यहां कार्यकर्ताओं द्वारा हंगामा करने का मामला सामने आया है. जानकारी के अनुसार कोटा दक्षिण नगर निगम में मेयर पद पर हो रहे चुनावों में सुबह वोटिंग के शुरू होने के समय के हंगामा शुरू हो गया था, जो धीरे-धीरे इतना मामला बिगड़ गया कि पुलिस को कार्यकर्ताओं पर लाठीचार्ज करना पड़ा.

{related}

मामूली गाली-गलौच के बाद हुई पत्थरबाजी, पुलिन ने भाजी लाठियाः
जानकारी के अनुसार कोटा दक्षिण में जब बीजेपी पार्षद मतदान करने पहुंचे तो कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने हंगामा शुरू कर दिया. कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने बीजेपी पार्षदों की बस में सवार पार्षदों को गाली गलौच की. जानकारी के अनुसार निर्दलीय पार्षद लेखराज योगी के बीजेपी के खेमे में शामिल होने के बाद से ही कांग्रेसी कार्यकर्ता उखड़े हुए थे और उनके वहां आते ही उन्होंने हंगामा शुरू कर दिया. उधर कांग्रेसी कार्यकर्ताओं  के हंगामे के बाद  बीजेपी के कार्यकर्ता भी आक्रोशित हो गए और दोनों पार्टी के कार्यकर्ताओं के बीच कहासुनी शुरू हो गई. मामला बढ़ता देखकर पुलिस ने समझाइश की कोशिश की. इस दौरान भीड़ में से किसी ने पत्थर फेंक दिया, जिसके बाद वहां अफरा-तफरी फैल गई और एक-दूसरे की तरफ पत्थरबाजी शुरू हो गई. मामला बढ़ता देख भीड़ को नियंत्रित करने के लिये पुलिस को लाठीचार्ज करना पड़ा. पुलिस ने बीजेपी और कांग्रेस कार्यकर्ताओं पर लाठियां भांजकर उन्हें वहां से खदेड़ा. इस दौरान दोनों ही पार्टियों के कार्यकर्ताओं को चोटें आई है. वहीं पुलिस ने कुछ कार्यकर्ताओं को हिरासत में भी लिया है.

तनाव की आशंका को लेकर पुलिस ने मतगणना स्थल को पुलिस ने किया था छावनी में तब्दीलः
उल्लेखनीय हो कि मंगलवार को मेयर पद पर होने वाले चुनावों में को लेकर पुलिस को कांग्रेस और बीजेपी में तनाव की आशंका थी, जिसे देखते हुए मतगणना स्थल को पुलिस छावनी में तब्दील कर दिया गया था.

कोटा के दोनों नगर निगमों में कांग्रेस के मेयरः
उल्लेखनीय है कि कोटा के दोनों नगर निगम में कांग्रेस ने जीत दर्ज की है. दक्षिण नगर निगम से कांग्रेस के राजीव अग्रवाल मेयर चुने गए हैं. उन्हें कुल 41 वोट मिले. भाजपा के विवेक राजवंशी को 39 ही वोट मिल पाए. कोटा दक्षिण में कांग्रेस के पक्ष में क्रॉस वोटिंग हुई. वहीं, कोटा उत्तर में भी कांग्रेस की मंजू मेहरा विजयी रहीं. उन्हें 50 मत हासिल हुए. वहीं भाजपा प्रत्याशी संतोष बैरवा के खाते में सिर्फ 19 वोट गए. एक मत खारिज कर दिया गया.

कोटा में ब्लाइंड मर्डर का खुलासा, पुलिस ने किया एक साइको किलर को गिरफ्तार

कोटा में ब्लाइंड मर्डर का खुलासा, पुलिस ने किया एक साइको किलर को गिरफ्तार

कोटा: प्रदेश के कोटा जिले में चार दिन पहले आधरशिला दरगाह के बाहर हुए ब्लाइंड मर्डर का खुलासा करते हुए दादाबाड़ी पुलिस ने एक साइको को किलर को किया गिरफ्तार किया है. पकड़ा गया आरोपी शारिक उर्फ बल्लू सनकी मिजाज का व्यक्ति है, जो अपने अपमान का बदला लेने की नियत से किसी पर भी हमला बोल देता है. ऐसा ही वाक्या दरगाह के बाहर सोने वाले खलील के साथ भी हुआ.

मृतक खलील ने आरोपी शारिक को गंदे कपड़ों में दरगाह में जाने से रोका तो उसे नागवार गुजरा और खलील की मौत का प्लान बनाकर,रात के वक्त दरगाह के बाहर सोते समय खलील की पत्थर से कुचलकर हत्या कर दी.शारिक इतना सनकी था कि वहां से भागने के बजाय रात में करीब 4 घंटे तक लाश के पास ही सोता रहा और सूरज उगते ही वहां से भाग निकला. 

{related}

एसपी गौरव यादव ने हत्याकांड मामले का खुलासा करते हुए बताया कि आरोपी शारिक मृलत ग्वालियर का निवासी है जो फिलहाल तलवंडी क्षेत्र रह रहा था.आरोपी शारिक अकसर इस इलाके में घूमता था. लेकिन हत्याकांड के बाद वह गायब हुआ था तो शक की सूई उस पर गई और जब वह इलाके में वापस आया तो पकड़ा गया. आरोपी शारिक इससे पहले भी कई लोगों पर हमला कर जख्मी कर चुका है.

...फर्स्ट इंडिया के लिए गुल मोहम्मद की रिपोर्ट

कांस्टेबल भर्ती परीक्षाः जोधपुर में नकल गिरोह का सरगना और कोटा में फर्जी अभ्यर्थी गिरफ्तार, किशनगढ़ से कुछ शिक्षकों को लिया हिरासत में

कांस्टेबल भर्ती परीक्षाः जोधपुर में नकल गिरोह का सरगना और कोटा में फर्जी अभ्यर्थी गिरफ्तार, किशनगढ़ से कुछ शिक्षकों को लिया हिरासत में

जयपुर: प्रदेश में शुक्रवार से शुरू हुई कांस्टेबल भर्ती परीक्षा रविवार को संपन्न हुई. 5438 पदों के लिए हुई कांस्टेबल भर्ती परीक्षा के लिए प्रदेश भर में केन्द्र बनाए गए थे. परीक्षा में नकल रोकने के लिए बड़े पैमाने पर पुलिस और प्रशासन ने इंतजामात किए थे, लेकिन फिर भी नकल करने और कराने वाले गिरोह ने पुलिस और प्रशासन के इन इंतजामों को धत्ता बताते हुए नकल का जमकर प्रयास किया. पुलिस ने ऐसे ही कुछ मामलों पर कार्रवाई करते हुए नकल गिरोह से जुड़े कई लोगों को गिरफ्तार किया है. वहीं इनमें से परीक्षा के अंतिम दिन यानि रविवार को भी पुलिस ने कार्रवाई करते हुए प्रदेश में कुछ लोगों को गिरफ्तार किया है. रविवार को पुलिस ने कार्रवाई करते हुए जोधपुर, कोटा और अजमेर के किशनगढ़ में नकल करने वाले, नकल कराने वाले और फर्जी अभ्यर्थियों को गिरफ्तार किया है.

{related}

जोधपुर में नकल गिरोह का सरगना गिरफ्तारः
पुलिस ने जोधपुर में कार्रवाई करते हुए नकल गिरोह के सरगना को गिरफ्तार किया है. जानकारी के अनुसार मंडोर थाना पुलिस ने रविवार को कार्रवाई करते हुए किसी परीक्षार्थी की जगह कांस्टेबल भर्ती परीक्षा देने आए नकल गिरोह के सरगना को गिरफ्तार किया है. पुलिस ने आरोपी के पास से कई आईफोन व अन्य इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस भी बरामद की है.

कोटा में फर्जी अभ्यर्थी गिरफ्तार 
वहीं पुलिन ने रविवार को ही कार्रवाई करते हुए कोटा से एक फर्जी अभ्यर्थी को गिरफ्तार किया है. गिरफ्तार आरोपी फर्जी तरीके से कांस्टेबल भर्ती परीक्षा देने यहां पहुंचा था. शहर एसपी गौरव यादव बताया कि कांस्टेबल भर्ती परीक्षा के लिए अनंतपुरा क्षेत्र में बनाए गए परीक्षा केंद्र के बाहर फर्जी अभ्यर्थी  दीपक कुमार को गिरफ्तार किया गया है. उन्होंने बताया कि बिहार निवासी आरोपी दीपक कुमार, रामविलास की जगह परीक्षा देने के लिए कोटा आया था, जिसे परीक्षा केंद्र के बाहर से गिरफ्तार किया है. शहर एसपी गौरव यादव ने दावा किया है कि आरोपी के तार 'बिहार की गैंग से जुड़े हो सकते हैं. 

किशनगढ़ में कुछ शिक्षकों को लिया हिरासत मेंः
जानकारी के अनुसार रविवार को पुलिस ने कार्रवाई करते हुए अजमेर के किशनगढ़ से कांस्टेबल भर्ती परीक्षा के दौरान नकल कराने के मामले में कुछ शिक्षकों को हिरासत में लिया है. जिला पुलिस कप्तान कुंवर राष्ट्रदीप ने बताया कि किशनगढ़ में बनाए गए परीक्षा केन्द्र केडी जैन स्कूल के पास नाले में नकल से जुड़े कुछ आपत्तिजनक दस्तावेज मिलने के बाद स्कूल के कुछ शिक्षकों को हिरासत में लिया गया है. मामले की जानकारी लगने के बाद एसपी कुंवर राष्ट्रदीप किशनगढ़ पहुंचे और मामले की गहनता से जांच शुरू की.

कोटा पुलिस की बड़ी कार्रवाई, 64 किलो चांदी के साथ तीन आरोपियों को किया गिरफ्तार 

 कोटा पुलिस की बड़ी कार्रवाई, 64 किलो चांदी के साथ तीन आरोपियों को किया गिरफ्तार 

कोटा: प्रदेश के कोटा जिले में हुई 64 किलो चांदी की चोरी की वारदात का पुलिस ने पर्दाफाश किया हैं. ट्रांसपोर्ट कंपनी से चोरी हुईं 64 किलो चांदी को महज 3 दिन में बरामद करते हुए पुलिस ने 3 आरोपियों को भी गिरफ्तार किया है. मुकेश, जुनेद और जावेद के नाम के तीनों आरोपी फ्रूट का ठेला लगाते है.

फ्रूट का ठेला लगा था आरोपी:
इनमें से एक आरोपी मुकेश सेवन वंडर पार्क रोड़ पर ही फ्रूट बेचता था, और उसी के पास ट्रांसपोर्ट कंपनी में 64 किलो चांदी के पार्सल पर नजर पड़ी तो उसने अपने दो साथी जावेद और जुनैद के साथ चोरी की वारदात प्लान बनाया और मास्टर चाबी से ट्रांसपोर्ट कंपनी का ताला खोलकर 64 किलो चांदी के गहनों पर हाथ साफ किया.

{related}

कोटा में 4 बड़े व्यापारियों के पार्सल होनी थी चांदी:
यह चांदी सहारनपुर अहमदाबाद से आई थी और कोटा में 4 बड़े व्यापारियों के यहां पार्सल होनी थी, लेकिन उससे पहले ही चोरी हो गई. पुलिस ने टीम गठित की तो फ्रूट का ठेला लगाने वाला मुकेश पुलिस के हत्थे लगा और उसने अपने साथियों के साथ मिलकर वारदात को अंजाम देना कबूला.

तीनों आरोपियों के कब्जे से 64 किलो चांदी बरामद:
पुलिस ने तीनों आरोपियों के कब्जे से 64 किलो चांदी बरामद कर ली है. एसपी गौरव यादव ने बताया कि इस पूरे प्रकरण को सुलझाने में एसएचओ मनोज सिंह के निर्देशन में टीम गठित की गई थी और टीम में शामिल कांस्टेबल दीनदयाल की भूमिका अहम रही.

...फर्स्ट इंडिया के लिए गुल मोहम्मद की रिपोर्ट

Nagar Nigam Result: कोटा उत्तर में कांग्रेस को मिला बहुमत जबकि दक्षिण में दोनों पार्टियों के बीच बराबर पर अटका खेल

Nagar Nigam Result: कोटा उत्तर में कांग्रेस को मिला बहुमत जबकि दक्षिण में दोनों पार्टियों के बीच बराबर पर अटका खेल

जयपुर/कोटा: कोटा नगर निगम को लेकर हुए मतदान के बाद अपनी सांसे थामे हुए बैठी सभी पार्टियां और उम्मीदवारों ने मंगलवार को जीत के बाद राहत की सांस ली. मंगलवार को हुई मतगणना के बाद कोटा नगर निगम में एक तरफ कांग्रेस जीती है ताे वहीं दूसरी ओर बीजेपी और कांग्रेस के बीच मुकाबला टाई रहा है. जानकारी के अनुसार कोटा नगर निगम उत्तर में 70 सीटों के लिए मतदान हुआ था. कोटा उत्तर में  कांग्रेस ने बाजी मारी है. यहां पिछली बार की अपेक्षा इस बार कांग्रेस का प्रदर्शन बेहतर रहा है और 70 सीटों में से 47 सीटों पर कब्जा किया है. वहीं  बीजेपी को 14 जबकि 09 सीटों पर निर्दलीय प्रत्याशियों ने जीत हासिल की है.

उधर कोटा नगर निगम दक्षिण में बीजेपी और कांग्रेस के बीच बराबर का मुकाबला रहा और 80 सीटों में से दोनों पार्टियों को 36-36 सीटे मिली. वहीं अन्य को 08 सीटों पर कब्जा किया है. अब यहां निर्दलीय उम्मीदवारों पर दोनों पार्टियों की निगाहे टिकी हुई हैं. उल्लेखनीय है कि राजधानी जयपुर समेत जोधपुर और कोटा के 6 नगर निगम के दो चरणों में हुए चुनावों के लिए मंगलवार को हुई मतगणना के बाद विजेता पार्षद घोषित किए गए. जयपुर-हेरिटेज, जयपुर ग्रेटर नगर निगम, कोटा उत्तर व कोटा दक्षिण नगर निगम व जोधपुर उत्तर और जोधपुर दक्षिण नगर निगम में कुल 560 वार्ड थे. 

{related}

बाड़ाबंदी में जुटी दोनों पार्टियांः
उधर कोटा उत्तर में कांग्रेस को मिली जीत के बाद कोटा दक्षिण में रहे बराबरी वाले मुकाबले को लेकर दोनों पार्टियां बाड़ाबंदी में जुट गई है. यहां 36-36 के बराबरी वाले कांटे पर अटके कोटा दक्षिण में दोनों पार्टियां के लिए शह-मात का खेल शुरू हो गया है. कांग्रेस की ओर से जिलाध्यक्ष रविन्द्र त्यागी और प्रवक्ता राजेन्द्र सांखला ने कमान संभाल ली है और  निर्दलीयों से संपर्क साधा जा रहा है.

यूडीएच मंत्री शांति धारीवाल की मेहनत लाई रंगः
बात करें कोटा नगर निगम चुनाव की तो यहां यूडीएच मंत्री शांति धारीवाल की मेहनत इन चुनावों में रंग लाई है. ये उनकी मेहनत का परिणाम ही है कि बीजेपी का परंपरागत गढ़ कहे जाने वाले कोटा उत्तर में कांग्रेस काे जीत मिली है. बताया जा रहा है कि मंत्री शांति धारीवाल बुधवार को गृहनगर कोटा जाएंगे. इस दौरान उनके साथ प्रभारी मंत्री लालचंद कटारिया भी साथ रहेंगे. बताया जा रहा है कि इस दौरान ने जिला कांग्रेस कार्यालय में पार्षदों-पदाधिकरियों के साथ बैठक करेंगे, जिसमें मेयर चुनाव को लेकर चर्चा की जाएगी.

10 नवंबर को महापौर और 11 नवंबर को उप महापौर का चुनाव:
आज परिणाम घोषित होने के एक सप्ताह बाद 10 नवंबर को महापौर और 11 नवंबर को उप महापौर का चुनाव होगा. जीत की संभावनाओं के आधार पर जिस तरह प्रत्याशियों की बाड़ाबंदी की गई है उससे संभावना जताई जा रही है कि वह महापौर और उप महापौर के चुनाव तक जारी रहेगी.