जलदाय विभाग की लापरवाही के चलते दूषित पानी पीने को मजबूर ग्रामीण

FirstIndia Correspondent Published Date 2017/10/27 04:51

श्रीगंगानगर| स्वच्छ भारत अभियान नाम सुनने में तो भले ही अच्छा लगता हो लेकिन जमीनी हकीकत से यह कोसो दूर हैं सादुलशहर के पास के गांव अमरगढ़ में जलदाय विभाग की हालत बहुत ही खतरनाक है। गांव अमरगढ़ में जलदाय विभाग के हालात बदतर हो चुके हैं और ग्रामीणों को दूषित पानी पीना पड़ रहा है और जलदाय विभाग के अधिकारी चैन से अपने दफ्तरों में बैठे हुए हैं|

सादुलशहर के पास एक गांव अमरगढ़ में बरसो से पेयजल स्टोर करने की डिग्गियां बुरी तरह टूटी हुई हैं और दिन ब दिन उनका और टूटना जारी है| जलदाय विभाग में फ़िल्टर काम नहीं कर रहे चारदीवारी भी नहीं है, जिससे पशु परिसर में घूमते रहते हैं| ग्रामीणों का कहना है कि यहां पहले तो पीने के पानी की डिग्गियो की कमी है और जो डिग्गियां बनी है उनकी भी सफाई नहीं होती है, जिससे पानी पर काई इस कदर जमा है कि देखने पर पानी कम काई ज्यादा नजर आती है। इसी पानी को गांव अमरगढ़ के लोग मजबूरी वश पीते है। 

पानी की डिग्गिया सालों से टूटी हुई हैं जिनको संवारने के लिए बजट तो आता है लेकिन जाता कहां हैं ये नहीं कहा जा सकता| सबसे शर्मनाक बात तो यह है कि चारदीवारी नहीं होने से पास ही बने जोहड़ का पानी बहुत बार डिग्गियों में मिक्स हो जाता है| इस जोहड़ में सारा दिन पशु बैठे रहते हैं और पानी डिग्गी तक पहुंचते मच्छरों, मेंढकों, गन्दी पॉलीथिन और अन्य कचरे से बुरी तरह दूषित हो जाता है|

ग्रामीणो ने कहा कि जलदाय विभाग के फ़िल्टर भी खराब पड़े हैं जिससे यही गन्दा और बदबूदार पानी उनके घरो में पहुंचता है जो लोग पैसे वाले हैं वो तो टैंकरों से पानी खरीद लेते हैं और जो लोग गरीब हैं वो यही पानी पी रहे हैं और कैंसर जैसी गंभीर बिमारी का शिकार हो रहे है| ख़ास बात यह है कि पशुओं के लिए बने जोहड़ का पानी इंसानो के पीने की पानी की डिग्गी से जायादा साफ़ नजर आता है|

 

 

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in