Live News »

PRN योजना के नियमन में आ रही तकनीकी अड़चने दूर, शिविर की तैयारी में जुटा जेडीए

PRN योजना के नियमन में आ रही तकनीकी अड़चने दूर, शिविर की तैयारी में जुटा जेडीए

जयपुर: पृथ्वीराज नगर योजना के नियमन में आ रही बाधांए दूर होने के बाद जयपुर विकास प्राधिकरण नियमन शिविर लगाने की तैयारी में जुट गया है. मंत्री शांति धारीवाल की घोषणा के बाद जेडीए की ओर से एक नवम्बर से शिविर लगाए जाएंगे. राजधानी में करीब साढ़े 11 हजार बीघा भूमि पर फैली इस योजना में बसी कॉलोनियों के नियमन के लिए मंत्री शांति धारीवाल ने हाल ही जेडीए अधिकारियों की बैठक ली थी. खास रिपोर्ट:

VIDEO: जेडीए के लिए कुबेर का खजाना बन सकती है पृथ्वीराज नगर योजना

नियमन बाधाओं को दूर करने पर विचार:
दरअसल योजना के बारे में फैसला लेने के लिए प्रमुख सचिव यूडीएच की अध्यक्षता में हाईपावर कमेटी अधिकृत है, लेकिन इसके फैसले पर नगरीय विकास मंत्री स्वीकृति भी जरूरी है. तभी ये फैसले लागू किए जा सकते हैं. इसी कारण नगरीय विकास मंत्री शांति धारीवाल की अध्यक्षता में हुई बैठक में योजना के नियमन में आ रही बाधाओं को दूर करने पर विचार किया गया. बैठक में इन तकनीकी अड़चनों को दूर करने के लिए कई बड़े फैसले किए गए. सबसे पहले आपको बताते हैं कि योजना के नियमन में आ रही इन तकनीकी अड़चनों को किस प्रकार दूर किया गया. 

नियमन की तकनीकी अड़चनों को यूं किया दूर:
—योजना की 1848 बीघा भूमि की अवाप्ति की प्रक्रिया पूरी नहीं हो पाई थी
—इस भूमि पर बसी कई कॉलोनियों के नियमन के लिए क्या प्रक्रिया तय की जाए इसको लेकर असमंजस था
—अब इन कॉलोनियां की भी योजना की तय प्रक्रिया के तहत ही नियमन हो सकेगा
—इसी तरह गृह निर्माण सरकारी समितियों ऐसी कई कॉलोनियां भी जिनका आंशिक भाग योजना क्षेत्र में आ रहा है
—नियमन का लम्बे समय से इंतजार कर रही इन कॉलोनियों का नियमन भी पृथ्वीराज नगर योजना के फार्मूल पर ही किया जाएगा
—जेडीए लम्बे समय से चाहता था कि 1 हजार वर्गगज से अधिक भूमि का भी पट्टा जारी करने की सरकार स्वीकृति दे
—1 हजार वर्गगज से जितनी अधिक भूमि होगी उसका डेढ़ गुना नियमन शुल्क लेकर पट्टा जारी किया जा सकेगा
—कितनी अधिक भूमि का पट्टा जारी किया जाए,इसकी कोई अधिकतम सीमा तय नहीं की गई है
—साधारण शुल्क पर अब प्रति परिवार के बजाए एक व्यक्ति के पक्ष में अधिकतम 1 हजार वर्गगज तक का पट्टा जारी हो सकेगा
—संस्थानिक व व्यावसायिक भूखण्डों और विवाह स्थलों का भी पट्टा जारी किया जा सकेगा

लम्बे समय से नियमन दर बढ़ाने की मांग:
जयपुर विकास प्राधिकरण लम्बे समय से योजना की नियमन दर बढ़ाने की मांग करता रहा है. नगरीय विकास मंत्री शांति धारीवाल की स्तर पर हुए फैसले के अनुसार इस बारे में प्रस्ताव राज्य मंत्रिमंडल को भेजे जाएंगे. बेसिक नियमन दर 560 रुपए प्रति वर्गगज से बढ़ाकर 750 रुपए प्रतिवर्गगज और विकास शुल्क 750 रु से बढ़ाकर 1 हजार रुपए प्रति वर्गगज किया जाना प्रस्तावित है. नगरीय विकास विभाग इस बारे में मंत्रिमंडल ज्ञापन तैयार कर रहा है, उधर जेडीए ने नियमन शिविर का कार्यक्रम तय करने के लिए मशक्कत शुरू कर दी है. जेडीए की मंशा है कि निकाय चुनाव की आचार संहिता लगने से पहले नियमन का कार्यक्रम घोषित कर दिया जाए, ताकि इस काम में आचार संहिता से ये काम प्रभावित नहीं हो. 

... संवाददाता अभिषेक श्रीवास्तव की रिपोर्ट 

और पढ़ें

Most Related Stories

गर्मी से राहत के लिए 20000 हजार तक के बजट में हैं ये 4 बेहतरीन एयरकंडीशनर

गर्मी से राहत के लिए 20000 हजार तक के बजट में हैं ये 4 बेहतरीन एयरकंडीशनर

जयपुर: गर्मी धीरे धीरे अपने तेवर दिखाने लगी हैं. इसी के चलते सड़के भी अब दिन में वीरान नजर आने लगी हैं. वहीं दूसरी ओर नौतपा में तापमापी का पारा और ज्यादा उछलने की संभावना है. ऐसे में सभी घरों से निकलने से बच रहे हैं और घर में ही गर्मी से बचाव के लिए कूलर-पंखे का सहारा ले रहे हैं. पर तीखी गर्मी के कारण कूलर भी कुछ समय के बाद कूलिंग करना कम कर देते हैं. ऐसे में अगर आप  किफायती एयरकंडीशनर (AC) लेने का मन बना रहे हैं जिसकी कीमत 20 हजार रुपये तक हो तो आइये जानते है आपके बजट के अनुरूप एयरकंडीशनर के बारे में...

मोदी सरकार के खिलाफ आज ऑनलाइन आंदोलन करेगी कांग्रेस पार्टी,  50 लाख कार्यकर्ता रखेंगे अपनी बात 

फ्लिपकार्ट द्वारा MarQ (1 टन) 2 Star Split AC:  
यह फ्लिपकार्ट कंपनी का प्रोडक्ट है, अगर कमरे का साइज़ 90 sq ft है तो MarQ (1 टन) 2 स्टार स्प्लिट एसी आपके लिए उपयुक्त है और इसमें ऑटो रीस्टार्ट, स्लीप मोड जैसे फीचर्स भी मिलते हैं. टर्बो मोड के साथ तुरंत और तेजी से ठंडा करने में भी ये एयरकंडीशनर सक्षम है. इसके अलावा इस AC पर नो कॉस्ट EMI की भी सुविधा दी जा रही है. इस AC को Flipkart से ख़रीदा जा सकता है. 

Voltas 0.8 Ton 3 Star Split AC: 
वोल्टास का यह एसी 4 stages of filtration and 3D airflow के साथ आपके पूरे कमरे में समान रूप से ठंडी हवा प्रदान करके बेहतर प्रदर्शन करता है. आपको बता दे की Voltas, टाटा का ही ब्रांड है. यह 3 स्टार BEE रेटिंग के साथ आता है. साथ ही इसमें ऑटो रीस्टार्ट, स्लीप मोड जैसे फीचर्स भी आपको मिलते हैं. इसके अलावा इस AC पर नो कॉस्ट EMI की भी सुविधा दी जा रही है. यह एयरकंडीशनर Easy maintenance के साथ आपके बजट के अनुरूप सर्वश्रेष्ठ में से एक है. 

Blue Star 0.75 Ton 3 Star Window AC:
3 स्टार रेटिंग वाला यह AC ऑटो रीस्टार्ट फीचर के साथ आता है और इसके साथ ही आपको  Product पर एक साल और कंप्रेसर पर 5 साल की वारंटी BLUE STAR कंपनी की तरफ से मिलती है, आपको इसमें (2) White एंड Milky White Colour  ऑप्शन भी मिल जायेंगे अगर आपके पास Window AC लगाने की पर्याप्त जगह और सुविधा है तो Blue Star का 0.75 Ton 3 Star Window AC आपके लिए बेस्ट ऑप्शन साबित हो सकता है, इसके अलावा इस AC पर नो कॉस्ट EMI की भी सुविधा दी जा रही है. इसे भी Flipkart से खरीदा जा सकता है. 

VIDEO: कोरोना संकट में CM के संवेदनशील फैसले, गहलोत ने दी अनुकंपा नियुक्ति के लिए शिथिलता  

Lloyd LW12B32EW 1 Ton 3 Star Window AC:
3 स्टार रेटिंग के साथ आपको इसमें एंटी बैक्टीरिया फ़िल्टर (Anti Bacteria Filter) भी मिल जाता है और साथ ही ऑटो एयर स्विंग, ऑटो रिस्टार्ट जैसे फीचर्स भी इसमें उपलब्ध है. इस 1 Ton 3 Star Window AC में आपको एक साल और कंप्रेसर पर 5 साल की वारंटी भी मिलती है.

VIDEO: कोरोना संकट में CM के संवेदनशील फैसले, गहलोत ने दी अनुकंपा नियुक्ति के लिए शिथिलता

जयपुर: कोरोना संकट की घड़ी में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने संवेदनशीलता से फैसला करते हुए मृतक राज्य कर्मचारियों के आश्रितों के लिए नियमों में शिथिलता दी है. इससे इन मृतक राज्य कर्मचारियों के आश्रित परिवारों को बड़ा संबल मिलेगा. 

मोदी सरकार के खिलाफ आज ऑनलाइन आंदोलन करेगी कांग्रेस पार्टी, 50 लाख कार्यकर्ता रखेंगे अपनी बात 

आवेदकों के लिए नियुक्ति की राह आसान की: 
मुख्यमंत्री गहलोत ने मृतक आश्रितों को नौकरी के लिए लंबित प्रकरणों में मानवीय आधार पर निर्णय लेते हुए आवेदकों के लिए नियुक्ति की राह आसान की है. CM गहलोत ने महत्वपूर्ण फ़ाइल पर मुहर लगाते हुए 71 आश्रितों को नियुक्ति देने के लिए अनुकंपा नियुक्ति नियमों में शिथिलता दी है. गहलोत ने आयु सीमा, देरी से आवेदन करने, प्रशासनिक विभाग में पद रिक्त नहीं होने पर अन्य विभाग में नियुक्ति चाहने सहित अन्य कारणों से लंबित प्रकरणों में मानवीय आधार पर निर्णय लेते हुए आवेदकों के लिए नियुक्ति की राह आसान की है. 

2208 आश्रितों को अनुकंपा नियुक्तियां प्रदान की जा चुकी: 
मृतक आश्रितों को नौकरी देने के मामले में गहलोत सरकार ने बीते करीब डेढ़ साल में कई अहम फैसले किये. अब तक 72 विभागों में मृतक राज्य कर्मचारियों के 2208 आश्रितों को अनुकंपा नियुक्तियां प्रदान की जा चुकी हैं. इनमें प्रमुख रूप से माध्यमिक शिक्षा में 749, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग में 252, पुलिस में 177, जलदाय विभाग में 116, वन विभाग में 106, पशुपालन विभाग में 80, सार्वजनिक निर्माण विभाग में 78 तथा जल संसाधन विभाग में 68 नियुक्तियां दी जा चुकी हैं. 

भारत-चीन के बीच सीमा विवाद पर बोले ट्रंप, कहा- अमेरिका मध्यस्थता करने के लिए तैयार

मानवीय दृष्टिकोण अपनाते हुए आवेदकों को शिथिलता दी:
मुख्यमंत्री गहलोत डेढ़ साल में अनुकम्पा नियुक्ति के विभिन्न कारणों से लंबित 489 प्रकरणों में सहानुभूतिपूर्वक विचार कर शिथिलता प्रदान कर चुके हैं. मृतक कर्मचारियों की पुत्रवधु को नौकरी देने में भी गहलोत ने अहम फैसला किया है. न्यूनतम एवं अधिकतम आयु सीमा के दायरे में आने, देरी से आवेदन करने, नियमों की जानकारी नहीं होने, प्रथम आवेदक के नियुक्ति आदेश जारी होने के बाद दूसरे आवेदक को नियुक्ति प्रदान करने, अनुकंपा नियमों के तहत परिवार की परिभाषा में पुत्रवधू के पात्र नहीं होने आदि ऐसे मामले हैं जिनमें मुख्यमंत्री ने मानवीय दृष्टिकोण अपनाते हुए आवेदकों को शिथिलता दी. अब तक चार प्रकरण ऐसे हैं जिनमें सीएम गहलोत ने अनुकंपात्मक नियुक्ति नियमों के तहत परिवार की परिभाषा में पात्र नहीं होने के बावजूद विषम पारिवारिक परिस्थितियों के आधार पर पुत्रवधू को नियमों में शिथिलता देते हुए नियुक्ति देना मंजूर किया है. कोरोना संकट के बीच CM गहलोत के इन फैसलों ने कई परिवारों को आर्थिक व सामाजिक संबल दिया है. 

कल कांग्रेस का महा अभियान, 10 हजार रुपये की मदद सीधे नकद के रूप में देने की मांग- पायलट

कल कांग्रेस का महा अभियान, 10 हजार रुपये की मदद सीधे नकद के रूप में देने की मांग- पायलट

जयपुर: कल कांग्रेस महाअभियान शुरू करने जा रही है. डिप्टी सीएम सचिन पायलट ने कहा कि कल 11 से 2 बजे तक कांग्रेस के सभी नेता सोशल मीडिया पर बात करेंगे. पायलट ने बताया कि सोशल मीडिया पर 3 प्रमुख मुद्दें उठाये जाएंगे. पायलट ने कहा कि गरीब के हाथ में पैसा नहीं पहुंचा है, हम हर व्यक्ति के खाते में 10 हजार रुपए डालने की केंद्र सरकार से मांग करेंगे. 

नागौर: प्यार में जाति बनी दीवार, प्रेमी युगल ने फांसी लगा जान दी 

कांग्रेस कल देशव्यापी सोशल मीडिया अभियान चलायेगी:
अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी कल देशव्यापी सोशल मीडिया अभियान चलायेगी. प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष और डिप्टी सीएम सचिन पायलट ने कहा कि हर उस व्यक्ति के खाते में 10 हजार रुपये डाले जाने की मांग की जाएगी जो इनकम टैक्स के दायरे में नहीं आते. वर्तमान परिस्थिति में संकट के दौर से गुजर रहे लाखों की संख्या में प्रवासी श्रमिकों, किसानों, संगठित क्षेत्रों के कामगारों, एमएसएमई, छोटे कारोबारियों और दैनिक मजदूरों की आवाज को केन्द्र सरकार तक पहुंचाने के लिये कांग्रेस आवाज बुलंद करेगी. 

नक्शा विवाद पर एक कदम पीछे हटा नेपाल, संविधान संशोधन की कार्यवाही से प्रस्ताव को हटाया 

देशव्यापी ऑनलाईन कैम्पेन में कांग्रेस नेता और कार्यकर्ता शामिल होंगे:
डिप्टी सीएम सचिन पायलट ने न्याय योजना राजस्थान में लागू करने के सवाल पर कहा कि राजस्थान में पेंशन और अनुग्रह राशि लॉक डाउन 1 के समय से ही लोगों के खातों में डाल दी थी. फेसबुक, ट्वीटर, इंस्टाग्राम, यू-ट्यूब तथा अन्य सोश्यल मीडिया माध्यमों से इस देशव्यापी ऑनलाईन कैम्पेन में कांग्रेस नेता और कार्यकर्ता शामिल होंगे.

...फर्स्ट इंडिया के लिए योगेश शर्मा की रिपोर्ट राजस्थान

राजधानी में बढ़ा कोरोना की जांच का दायरा, JNU इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस एंड रिसर्च सेंटर में कोरोना जांच शुरू

राजधानी में बढ़ा कोरोना की जांच का दायरा, JNU इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस एंड रिसर्च सेंटर में कोरोना जांच शुरू

जयपुर: प्रदेश में कोरोना की जांच का दायरा बढ़ता जा रहा है. सरकारी क्षेत्र ही नहीं, निजी चिकित्सा संस्थान भी इसमें बढ़चढ़कर भागीदारी निभा रहे हैं. राजधानी जयपुर की बात की जाए तो यहां आज से JNU इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस एंड रिसर्च सेंटर में कोरोना की जांच प्रक्रिया शुरू हो गई. सूबे के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने वीडियो कांफ्रेस के जरिए मॉड्यूर लैब की शुरूआत की. इस मौके पर चिकित्सा मंत्री डॉ रघु शर्मा, चिकित्सा राज्य मंत्री डॉ सुभाष गर्ग, एसीएस मेडिकल रोहित कुमार सिंह, चिकित्सा शिक्षा सचिव वैभव गालरिया समेत अन्य अधिकारी भी वीसी के जरिए कार्यक्रम से जुडें.

Lockdown: 2 और हफ्तों के लिए बढ़ाया जा सकता है लॉकडाउन, इन 11 शहरों पर रहेगा जोर 

सरकार के द्वारा भेजे गए सैम्पल की निशुल्क जांच की जाएगी: 
कार्यक्रम में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने जेएनयू के चांसलर संदीप बख्शी को कोरोना काल के इस कठिन समय में सरकार का साथ देने के लिए शुक्रिया कहा. बख्शी ने बताया कि आईसीएमआर की गाइडलाइन के हिसाब से ही जांच की दर तय की गई है. हालांकि, सरकार के द्वारा भेजे गए सैम्पल की निशुल्क जांच की जाएगी. यहां बता दें कि इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च ने जेएनयू को कोरोना जांच की हाल ही में अनुमति दी है. निजी क्षेत्र में अब महात्मा गांधी, बी.लाल, दुर्लभजी के बाद JNU चौथा संस्थान है, जहां कोरोना की जांच को अनुमति दी गई है. 

Rajasthan Corona Updates: दोपहर 2 बजे तक दर्ज हुए 144 नए पॉजिटिव केस, जिलेवार जाने आंकड़े 

Rajasthan Corona Updates: दोपहर 2 बजे तक दर्ज हुए 144 नए पॉजिटिव केस, जिलेवार जाने आंकड़े

Rajasthan Corona Updates: दोपहर 2 बजे तक दर्ज हुए 144 नए पॉजिटिव केस, जिलेवार जाने आंकड़े

जयपुर: राजस्थान में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या में लगातार इजाफा होता जा रहा है. प्रदेश में आज स्वास्थ्य विभाग की दोपहर 2 बजे तक की रिपोर्ट में 144 नए पॉजिटिव मामले सामने आए हैं. इसमें सर्वाधिक 64 पॉजिटिव केस अकेले झालावाड़ में सामने आए हैं. इसके अलावा भरतपुर 8, भीलवाड़ा 1, बीकानेर 1, दौसा 1, डूंगरपुर 1, जयपुर 15, झुंझुनूं 2, जोधपुर 13, करौली 1, कोटा में 18, नागौर में 12 और सीकर में 7 पॉजिटिव केस सामने आए. ऐसे में अब प्रदेश में पॉजिटिव मरीजों की संख्या बढ़कर 7680 पहुंच गई है. वहीं प्रदेश में आज जयपुर में दो लोगों की मौत होने से मृतकों की संख्या भी बढ़कर 172 हो गई है. 

Lockdown: 2 और हफ्तों के लिए बढ़ाया जा सकता है लॉकडाउन, इन 11 शहरों पर रहेगा जोर 

मंगलवार को प्रदेश में 236 नए पॉजिटिव केस सामने आए:
इससे पहले मंगलवार को प्रदेश में 236 नए पॉजिटिव केस सामने आए. इसमें सर्वाधिक 32 केस अकेले जयपुर में सामने आये है. इसके अलावा अजमेर में 2, बाड़मेर में 4, भरतपुर में 2, भीलवाड़ा में 9, बीकानेर में 7, चित्तौड़गढ़ में 4, दौसा में 1, धौलपुर में 2, डूंगरपुर में 12, गंगानगर 1, झालावाड़ 12, झुंझुनूं 5, जोधपुर 7, कोटा 10, नागौर 13, पाली 23, प्रतापगढ़ 1, राजसमंद 11, सवाई माधोपुर 1, सीकर 25, सिरोही 27, उदयपुर 25 केस सामने आये है. 

Coronavirus: राहुल गांधी ने हेल्थ एक्सपर्ट से पूछा भईया बताइए कि वैक्सीन कब तक आएगी? मिला ये जवाब  

Weather Update: राजस्थान में भीषण गर्मी से आंशिक राहत मिलने की संभावना, इन 15 जिलों में होगी हल्की बारिश!

Weather Update: राजस्थान में भीषण गर्मी से आंशिक राहत मिलने की संभावना, इन 15 जिलों में होगी हल्की बारिश!

जयपुर: उत्तर भारत के साथ राजस्थान में भी लगातार गर्मी का कहर जारी है. सूर्य देवता ने इस समय रौद्र रूप धारण कर लिया है. इसी बीच मौसम विभाग ने भीषण गर्मी से आंशिक राहत मिलने की संभावना जताई है. मौसम विभाग के अनुसार पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय होने से 29 मई को प्रदेश के कई इलाकों में धुलभरी हवाओं के साथ हल्की बारिश की संभावना है, जिससे तापमान में गिरावट हो सकती है. 

Coronavirus: राहुल गांधी ने हेल्थ एक्सपर्ट से पूछा भईया बताइए कि वैक्सीन कब तक आएगी? मिला ये जवाब  

इन 15 जिलों में मिल सकती है राहत:
मौसम विभाग के मुताबिक 29 मई को जोधपुर, बीकानेर, चुरू, हनुमानगढ़, नागौर, श्रीगंगानगर, अलवर, भरतपुर, धौलपुर, जयपुर, सीकर, सवाईमाधोपुर, दौसा, झुंझुनूं और करौली इलाके में धूलभरी हवाओें और आंधी के साथ मेघ गर्जना की संभावना है. इस दौरान इन इलाकों में 50 से 60 किमी प्रतिघंटा की रफ्तार से हवाएं चलने के साथ हल्की बारिश होने की भी संभावना है. 

2022 तक T20 वर्ल्ड कप का टलना तय, कल ICC की बैठक में औपचारिक घौषणा संभव 

चूरू में तापमान 50 डिग्री तक पहुंच गया:
वहीं इस समय प्रदेश के कई इलाकों में तापमना रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गया है. मंगलवार को चूरू में तापमान 50 डिग्री तक पहुंच गया था. वहीं बीकानेर में भी 3 साल बाद मंगलवार को सबसे ज्यादा तापमान रहा. बीकानेर में पारा 47.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था. इसके अलावा श्रीगंगानगर में मंगलवार को 47 डिग्री, जैसलमेर में 46.4, बाड़मेर में 45.7, अजमेर में 44, जयपुर में 45, उदयपुर में 43 और जोधपुर 44 और डिग्री सेल्सियस तापमान दर्ज किया गया था.

दो—दो नगर निगम बनाने का फैसला सरकार का नीतिगत निर्णय, हाईकोर्ट नहीं करें हस्तक्षेप— महाधिवक्ता

दो—दो नगर निगम बनाने का फैसला सरकार का नीतिगत निर्णय, हाईकोर्ट नहीं करें हस्तक्षेप— महाधिवक्ता

जयपुर: जयपुर, जोधपुर और कोटा में दो दो नगर निगम बनाने के मामले में राज्य सरकार ने राजस्थान हाईकोर्ट में जवाब पेश करते हुए मामले को नितीगत निर्णय बताते हुए अदातल से हस्तक्षेप नहीं करने को कहा है. महाधिवक्ता एम एस सिंघवी की ओर से पेश किये गये जवाब में कहा गया कि है तीन जगहों पर दो दो नगर निगम के गठन का फैसला राज्य सरकार ने जनता के हित में लिया है. जो कि सरकार का एक नीतिगत निर्णय है जिसमें अदालत को हस्तक्षेप करने का अधिकार नहीं है. महाधिवता ने कहा कि वर्तमान में लॉक डाउन के कारण तीनों जगह पर चुनाव नहीं हो पा रहे हैं लेकिन राज्य सरकार अदालत के आदेश के अनुसार अगस्त में चुनाव कराने को तैयार है और तीनों जगह की नगर निगमों में अगस्त में चुनाव हो जाएंगे.

Rajasthan Corona Updates: पिछले 12 घंटे में सामने आए 109 पॉजिटिव केस, संक्रमितों का ग्राफ पहुंचा 7645 

महाधिवक्ता ने जनहित याचिका पर भी सवाल खड़े करते हुए कहा कि दो-दो नगर निगम बनाए जाने का नोटिफिकेशन अक्टूबर 2019 में ही जारी हो चुका है लेकिन अब इस याचिका को दायर करना और उसमें जयपुर नगर निगम को पक्षकार बनाया गया है जिसका अब अस्तित्व ही नहीं है और जयपुर हेरिटेज व ग्रेटर जयपुर को पक्षकार नहीं बनाया है. महाधिवक्ता ने याचिका को बिना रिसर्च के दायर किया गया बताते हुए खारिज करने की अपील की है. मुख्य न्यायाधीश इन्द्रजीत महांति और जस्टिस सतीश शर्मा ने सरकार के जवाब को रिकॉर्ड पर लेने का निर्देश देते हुए मामले की सुनवाई शुक्रवार को तय की. साथ ही अन्य पक्षकारों को मामले में जवाब पेश करने को भी कहा है. यह आदेश प्रियास यादव की ओर से दायर जनहित याचिका पर दिये है. 

आदमखोर का कलंक झेल रहा बाघ T-24, वन्यजीव प्रेमियों ने उठाई रिहाई की मांग

क्या है इस जनहित याचिका में: 
गौरतलब है कि प्रिया यादव की ओर से अधिवक्ता माही यादव ने जनहित याचिका दायर कर राज्य में कोरोना के चलते बदली परिस्थितयों में 2—2 नगर निगम बनाने के फैसले को रद्द करने गुहार लगायी है. याचिका में कहा गया कि कोरोना के चलते देश व राज्य के आर्थिक व वित्तीय हालात सही नहीं हैं. जयपुर, जोधपुर व कोटा में दो-दो नगर निगम बनाए जाने से प्रदेश पर 1000 करोड़ रुपए से भी ज्यादा का भार पड़ेगा.  केवल जयपुर नगर निगम को ही दो हिस्सों में बांटने पर करीबन 518 करोड़ रुपए का आर्थिक भार आता है. जयपुर नगर निगम में दो निगम बनने से कुल वार्षिक बजट 204649 लाख रुपए होगा जबकि एक निगम पर 152848 लाख रुपए खर्चा आता है. दो नगर निगम बनने से जयपुर में ही सरकार पर 51801 लाख रुपए का अतिरिक्त भार आएगा. इसलिए सरकार जयपुर, जोधपुर व कोटा में दो-दो नगर निगम बनाए जाने की नोटिफिकेशन को वापस ले.

Rajasthan Corona Updates: पिछले 12 घंटे में सामने आए 109 पॉजिटिव केस, संक्रमितों का ग्राफ पहुंचा 7645

Rajasthan Corona Updates: पिछले 12 घंटे में सामने आए 109 पॉजिटिव केस, संक्रमितों का ग्राफ पहुंचा 7645

जयपुर: देशभर के साथ राजस्थान में भी लगातार कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या में इजाफा होता जा रहा है. पिछले 12 घंटे में प्रदेश में 109 पॉजिटिव केस सामने आए हैं. इसमें सर्वाधिक 64 केस अकेले झालावाड़ जिले में सामने आए हैं. इसके अलावा भरतपुर में 6, बीकानेर में 1, दौसा में 1, जयपुर में 6, झुंझुनूं में 2, करौली में 1, कोटा में 16 और नागौर में 12 केस चिन्हित किए गए है. ऐसे में राजस्थान में अब संक्रमित मरीजों का ग्राफ बढ़कर 7645 पहुंच गया है. 

28 मई को कांग्रेस का महा अभियान, प्रवासी श्रमिकों ,कामगारों की आवाज करेगी बुलंद,  AICC की VC में बनी रणनीति

कुल पॉजिटिव से नेगेटिव हुए 4293:
वहीं पिछले 12 घंटे में कोरोना की चपेट में आने से 2 लोगों ने दम भी तोड़ दिया है. दोनों मौतें राजधानी जयपुर में दर्ज की गई है. ऐसे में मौतों का आंकड़ा 172 पहुंच गया है. दूसरी ओर राहत वाली खबर यह है कि कुल पॉजिटिव से 4293 मरीज नेगेटिव हो गए है. ऐसे में प्रदेश में कुल कोरोना एक्टिव केसों की संख्या 3180 रह गई है. इसमें पॉजिटिव प्रवासियों की संख्या 2029 है. 

जयपुरिया की तर्ज पर एक जून से SMS भी होगा कोरोना फ्री, OPD से IPD तक में चिकित्सा सेवाओं में दिखेगा बदलाव

मंगलवार को प्रदेश में 236 नए पॉजिटिव केस सामने आए:
इससे पहले मंगलवार को प्रदेश में 236 नए पॉजिटिव केस सामने आए. इसमें सर्वाधिक 32 केस अकेले जयपुर में सामने आये है. इसके अलावा अजमेर में 2, बाड़मेर में 4, भरतपुर में 2, भीलवाड़ा में 9, बीकानेर में 7, चित्तौड़गढ़ में 4, दौसा में 1, धौलपुर में 2, डूंगरपुर में 12, गंगानगर 1, झालावाड़ 12, झुंझुनूं 5, जोधपुर 7, कोटा 10, नागौर 13, पाली 23, प्रतापगढ़ 1, राजसमंद 11, सवाई माधोपुर 1, सीकर 25, सिरोही 27, उदयपुर 25 केस सामने आये है. 

Open Covid-19